नई दिल्ली।भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला पिच के कारण विवादों में दिखा, क्योंकि कई दिग्गजों ने पिच पर सवाल उठाए थे। हालांकि, इंग्लैंड के अनुभवी तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को चेन्नई की पिच से कोई समस्या नहीं है। ब्रॉड ने कहा है कि भारत के साथ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में मिली हार के बाद चेन्नई की पिच को लेकर हमारी तरफ से कोई समस्या नहीं है और न ही चेन्नई की पिच में कोई खराबी थी।चेन्नई में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए पहले दो टेस्ट मैचों में स्पिनरों को जमकर मदद मिली। ऐसे में क्रिकेट एक्सपर्ट बोले कि पिच खराब थी और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के कारण इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी खराब रेटिंग देगी, जिससे भारत को विश्व रैंकिंग में फायदा नहीं मिलेगा। हालांकि, ऐसा नहीं हुआ। वहीं, भारत ने पहला मुकाबला हारने के बाद दूसरे मुकाबले में जीत हासिल कर सीरीज को 1-1 से बराबर कर दिया था।भारत के ऑफ स्पिनर आर अश्विन को उनके हरफनमौला प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था। ब्रॉड ने डेली मेल को लिखे अपने कॉलम में लिखा, "हमारे नजरिए से दूसरे टेस्ट मैच की पिच की आलोचना नहीं है। घरेलू मैदान पर कुछ ऐसे ही मेजबान टीम को मदद मिलती है और आपका यह हक है कि आप इसका लाभ उठाएं। भारतीय टीम ने हमसे अच्छा खेल दिखाया, वो काफी क्षमतावान खिलाड़ी हैं, जबकि वो पिच हमारे लिए बिल्कुल अलग थी।"उन्होंने आगे कहा, "यह कुछ ऐसा ही है जैसे हमने 2018 में लॉर्डस में भारत को हराया था। गेंद स्विंग कर रही थी, जब हम बल्लेबाजी कर रहे थो यह पिच अलग थी और जब भारत बल्लेबाजी कर रहा था को पिच अलग दिख रही थी। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि हमने 30 साल ऐसी जगह पर खेला है जहां पर गेंद हवा में स्विंग करती है। भारत 107 और 130 पर ऑलआउट हो गया था और हम पारी से मैच जीते थे।"तेज गेंदबाज ब्रॉड ने इसी कड़ी में आगे कहा, "हमने मैच में बेहतर प्रदर्शन नहीं किया। चेन्नई की पिच पर हम अपनी क्षमता के अनुसार नहीं खेले। हम नहीं चाहते कि खुद को बहुत ज्यादा इस मैच की वजह से निराश करें, मैच में भारत की टीम ने अच्छा खेल दिखाया।" दोनों टीमों के बीच तीसरा टेस्ट मोटेरा के सरदार पटेल स्टेडियम में 24 फरवरी से खेला जाना है, जोकि डे-नाइट टेस्ट मैच होगा। ब्रॉड का कहना है कि गुलाबी गेंद से होने वाले इस मैच में परिस्थितियां इंग्लैंड में पक्ष में रहेगी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">