दुबई। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 13वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे हैं। आइपीएल 2020 में शिखर धवन ने धीमी शुरुआत की थी, लेकिन 10 मैचों के बाद वे इस सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। धवन ने दो शतकों के साथ 465 रन बनाए हैं। यह वही धवन हैं, जिनको हम सालों से देखते आ रहे हैं।शिखर धवन ने न्यूज एजेंसी से बात करते हुए अपनी फॉर्म से लेकर दिल्ली कैपिटल्स के ड्रेसिंग रूम और आने वाले ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर बात की। उन्होंने कहा, "मैं खुश रहना पसंद करता हूं, दबाव लेना नहीं। पहली बात तो ये कि जो लोग कहते हैं मैं उनको अपने कानों तक नहीं पहुंचने देता और मैं सुनना भी नहीं चाहता कि लोग क्या कहते हैं। दूसरी बात ये कि मैं खेलना पसंद करता हूं, जो मुझे आनंद देता है। मैं मेहनत के बारे में जानता हूं, मैंने की है और मुझे किस तरह फिट रहना है। इस पर ध्यान देता हूं। मुझे खुद पर पूरा भरोसा है कि मैं जिस चीज को हाथ लगा दूंगा उसे सोने में बदल दूंगा।"धवन ने कहा, "रिकी(पोटिंग) भाई ने कहा था कि मैं गेंद को अच्छी तरह से हिट कर रहा था और मैं जानता था और चाहता था कि मैं तेज खेलूं। मेरी इस बार उनसे बात भी हुई। मैं 20-30 के भी खुश था, क्योंकि वो पारियां भी प्रभावशाली थीं। मायने ये रखता कि आपके 30 रन कितने काम आते हैं। मैंने सोचा था कि मुझे एक ओपनर की भूमिका निभानी है और मैंने एक अर्धशतक जड़ा, जिससे मुझे आत्मविश्वास मिला और फिर भगवान की कृपा से मैंने लगातार दो शतक जड़ दिए।" हालांकि, धवन ये भी कहते हैं कि उनके लिए नंबर्स मायने नहीं रखते।उन्होंने कहा, "यदि मैं शतक लगाने के बारे में सोच रहा हूं तो मैं खुद पर बोझ डाल रहा हूं। मेरी सोच रहती है कि मैं मैदान जाऊं और अपने बेस्ट शॉट्स खेलूं। अगर मैं अपना बेस्ट देता हूं तो फिर वो अच्छा ही दिखता है। इससे मैं दिमागी तौर पर भी स्वस्थ रहता हूं। जब मैंने आइपीएल 2020 की शुरुआत की तो मैंने नहीं सोचा था कि मैं 500 रन बनाऊंगा, लेकिन ये हो रहा है। इसलिए मैं दबाव नहीं लेता और अपना स्वाभाविक खेल खेलने की कोशिश करता हूं।" दिल्ली कैपिटल्स के मैनेजमेंट की सराहना करते हुए शिखर ने कहा है कि जब टीम अच्छा करती है तो सब सही रहता है।वहीं, आने वाले ऑस्ट्रेलियाई दौरे को लेकर गब्बर के नाम से फेमस शिखर धवन ने कहा है कि मैं इसके बारे में सोचूंगा। इसके बारे में सोचने के लिए 10-15 मिनट चाहिए। जब आपको अनुभव होता है, तो आप जाते हैं और अच्छा करते हैं। मुझे खुद पर भरोसा है कि मैं वहां अच्छा करूंगा। कोरोना वायरस महामारी को लेकर शिखर धवन ने कहा, "एक ऐसे एनवायरमेंट में जहां किसी को आने-जाने की अनुमति नहीं है। ऐसे में डीसी मैनेजमेंट काफी सपोर्टिव रहा है।"

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें