नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) जो इस साल मार्च में खेला जाना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी की वजह से इसे स्थगित किया गया। इतना ही नहीं, इसे भारत से बाहर ले जाया गया। कोरोना की वजह से दर्शकों को स्टेडियम पहुंचने की अनुमति नहीं मिली। ऐसे में लग रहा था कि दुनिया की सबसे महंगी और सबसे ज्यादा लोकप्रिय टी20 लीग आइपीएल का मजा किरकिरा रहेगा। फैंस इसका लुत्फ नहीं उठा पाएंगे, लेकिन अनिश्चितताओं के इस खेल ने क्रिकेट फैंस को मायूस नहीं किया और लगातार रोमांचक मैच देखने को मिले।हैरान करने वाली बात ये रही कि न्यूजीलैंड की वजह से आइपीएल 2020 के 36वें मुकाबले में जो जीत का सेहरा मुंबई इंडियंस के सिर पर बंधने वाला था, वो किंग्स इलेवन पंजाब के सिर पर बंधा। जी हां, ये सच है, क्योंकि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मुकाबला खेला गया था। 50-50 ओवर का वो मैच टाई रहा था और मैच का नतीजा सुपर ओवर के जरिए निकाला जाना था। सुपर ओवर हुआ तो ये 6-6 गेंदों वाला मैच भी स्कोर बराबर होने की वजह से टाई रहा था, लेकिन मैच में इंग्लैंड को टीम को जीत मिल गई।दरअसल, इंग्लैंड को बाउंड्री काउंट के आधार पर जीत मिली थी, क्योंकि इंटरनेशनल क्रिकेट में उस समय सुपर ओवर के टाई होने पर वो नियम लागू था, जो हैरान करने वाला था। आइसीसी के अनुसार वो टीम विजेता घोषित की जाती थी, जिसने अपनी पारी के दौरान ज्यादा चौके-छक्के लगाए। ऐसा ही न्यूजीलैंड के साथ हुआ था और टीम को हार झेलनी पड़ी थी। ऐसे में आइसीसी के नियमों की आलोचना हुई तो नियम बदल दिए गए। इसका फायदा आइपीएल 2020 में किंग्स इलेवन पंजाब को हुआ, क्योंकि आइसीसी के लगभग सारे नियम भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ भी लागू करती है।वर्ल्ड कप 2019 में न्यूजीलैंड की हैरान करने वाली हार से तय हुआ कि अब जब भी टी20 क्रिकेट या फिर आइसीसी के टूर्नामेंट के क्वालीफायर्स में कोई मुकाबला टाई होगा तो तब तक सुपर ओवर जारी रहेगा, जब तक कि किसी एक टीम को रनों के आधार पर जीत नहीं मिल जाती। ऐसा ही कुछ मुंबई और पंजाब के बीच खेले गए आइपीएल 2020 के 36वें मुकाबले में हुआ जब 20-20 ओवर का मैच टाई रहा था और फिर सुपर ओवर भी स्कोर बराबर होने की वजह से टाई हो गया था। ऐसे में एक और सुपर ओवर का मैच हुआ, जिसमें नतीजा निकला और पंजाब को जीत मिली।अगर आइसीसी उस समय नियमों में बदलाव नहीं करती तो फिर मुंबई इंडियंस को इस मैच में जीत मिल जाती, क्योंकि मुंबई की टीम ने कुल 24 चौके-छक्के इस मैच में जड़े थे, जबकि किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ी 22 चौके-छक्के जड़ पाए थे। ऐसे में आइपीएल में डबल सुपर ओवर कराए जाने के पीछे न्यूजीलैंड की टीम बड़ी वजह है। अगर वर्ल्ड कप 2019 का फाइनल मैच का सुपर ओवर टाई नहीं होता तो फिर इस मैच में भी बाउंड्री काउंट के आधार पर नतीजा निकाला जाता जो मुंबई के पक्ष में जाता। यहां पंजाब अच्छा खेलकर भी बराबरी के मुकाबले में हार जाती।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें