नई दिल्ली। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) टीम में पिछले कुछ वर्षों में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी शामिल रहे हैं, लेकिन टीम ने अभी तक इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का खिताब नहीं जीता है। आरसीबी की टीम तीन बार फाइनल जरूर खेल चुकी है, लेकिन फिनिशिंग लाइन को पार नहीं कर पाई है। ऐसे में भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज और क्रिकेट एक्सपर्ट संजय मांजरेकर का मानना है कि बड़े नामों के होने के बावजूद RCB को ज्यादा सफलता नहीं मिली है।विराट कोहली, एबी डिविलियर्स, क्रिस गेल, मिचेल स्टार्क, अनिल कुंबले, डेनियल विटोरी और कई अन्य महान क्रिकेटरों ने आरसीबी की जर्सी पहनी है, लेकिन नतीजा वही ढाक के तीन पात रहा है। यहां तक कि भारत को विश्व कप जिताने वाले कोच गैरी कर्स्टन भी टीम के साथ जुड़े रहे हैं, लेकिन टीम खिताब से दूर ही रही है। 2020 के लिए नीलामी में आरसीबी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच को अपनी टीम में शामिल किया है। अब देखना ये है कि क्या नतीजा बदलेगा?संजय मांजरेकर ने स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड में कहा है, "हमने हमेशा ये कहा है कि कुछ खिलाड़ी शुरुआत में टीम से नहीं जुड़ते हैं, लेकिन जब जुड़ जाते हैं तो फिर बात ये रह जाती है कि आप कितने लंबे समय तक खेलते हैं। उनके पास टीम में प्रतिभाशाली ही नहीं, बल्कि महान खिलाड़ी भी हैं और इसके बावजूद हमने विजयी परिणाम नहीं देखा।" अब आइपीएल यूएई में होगा। ऐसे में मांजरेकर का मानना है कि युजवेंद्र चहल, वॉशिंगटन सुंदर और पवन नेगी की स्पिन गेंदबाजी कमाल दिखा सकती है।मांजरेकर ने कहा है, "मैं स्पिन विभाग को देखने जा रहा हूं, यदि उनके पास कोई गेम चेंजर है। मैं वाशिंगटन सुंदर, चहल और पवन नेगी को तीन स्पिनरों के रूप में देख रहा हूं, क्योंकि वे वही हैं जो यूएई में ट्रैक रिकॉर्ड के हिसाब से गेंदबाजी कर सकते हैं।" इन तीन स्पिनरों में चहल सबसे अनुभवी हैं और आरसीबी को फिर से विपक्षी बल्लेबाजी इकाई को ध्वस्त करने के वे आरसीबी के सबसे बड़े हथियार होंगे। आइपीएल 2020 का आगाज 19 सितंबर से होगा, जबकि फाइनल 10 नवंबर को खेला जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें