नई दिल्ली । भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज स्पिन गेंदबाज अनिल कुंबले को उम्मीद है कि गेंद को चमकाने के लिए लार पर प्रतिबंध लगाए जाने से तेज गेंजबाजों को परेशानी होगी, लेकिन स्पिनरों के पास खुद को चमकाने का मौका होगा। खासकर टेस्ट क्रिकेट में स्पिन गेंदबाजों को काफी फायदा मिल सकता है। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी अगले सप्ताह गेंद पर लार लगाने पर पाबंदी लगा सकती है, लेकिन ये नियम अंतरिम होगा। कोरोना वायरस के खत्म होने के बाद गेंद को चमकाने के लिए लार लगाने की अनुमति मिल जाएगी।

लार पर पाबंदी लगाने वाले नए नियम से तेज गेंदबाजों को स्विंग कराने में कठिनाई होगी। ऐसे में ऑस्ट्रेलियाई टीम के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने कहा है कि अगर क्रिकेट में बल्लेबाज हावी होंगे तो ये खेल बोरिंग हो जाएगा, लेकिन अनिल कुंबले, जो भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और मौजूदा समय में आइसीसी क्रिकेट कमेटी के चेयरमैन हैं, उनको लगता है कि अब नतीजों में स्पिन गेंदबाजों का बड़ा योगदान होगा।
अनिल कुंबले ने ऑनलाइन फॉरम में कहा है, "आप शायद सतह यानी पिच पर घास छोड़ सकते हैं या इसे मोटा भी कर सकते हैं और दो स्पिनर खिला सकते हैं। आइए स्पिनरों को टेस्ट मैच में खेल में वापस लाएं, क्योंकि अगर यह एकदिवसीय या टी20 खेल है, तो आप गेंद के बारे में चिंतित नहीं हैं या गेंद की चमक नहीं है।" पूर्व लेग स्पिनर ने कहा है कि वह अब टेस्ट मैच में भी ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में दो स्पिनर्स को खेलते देख पाएंगे, जो कभी नहीं हुआ।
उन्होंने कहा है कि इसके लिए ग्राउंड स्टाफ और पिच क्यूरेटर को स्पिनरों की मदद करने होगी और उनके मुताबिक पिच तैयार करनी होगी। कुंबले ने कहा है, "क्रिकेट में आपके पास वह सतह है जिसके साथ आप खेल सकते हैं और बल्ले और गेंद के बीच संतुलन बना सकते हैं। हम सभी खेल शुरू करने के लिए तरस रहे हैं और वास्तव में लार या पसीने या गेंद की स्थिति के बारे में चिंतित नहीं हैं - हम सिर्फ क्रिकेट खेलना चाहते हैं।"

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें