नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट फैंस के जहन में आज भी एक सवाल उठ रहा है कि आखिर वनडे वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में MS Dhoni को बल्लेबाजी के लिए निचले क्रम पर क्यों भेजा गया। न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैच में एक वक्त ऐसा आया जब टीम इंडिया ने पांच रन के अंदर तीन विकेट गंवा दिए। उस वक्त टीम को धौनी जैसे बल्लेबाज की जरूरत थी जो टीम के गिरते विकेट को रोक सके, लेकिन टीम मैनेजमेंट ने ये फैसला किया कि उन्हें नंबर 7 पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा जाए।धौनी को इस मैच में निचले क्रम पर बल्लेबाजी के लिए क्यों भेजा गया इसके बारे में टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने इंडिया टूडे से बातचीत करते हुए बताया। शास्त्री ने कहा कि अगर जल्दी गिरते विकेट की वजह से उन्हें उपर भेजा जाता तो खेल और जल्दी खत्म हो जाता। वो नीचे बल्लेबाजी के लिए गए और 48वें ओवर तक क्रीज पर मौजूद रहे। हम मैच भी जीत जाते अगर वो रन आउट नहीं होते। आखिर धौनी का ताकत क्या है। मैं हर उस व्यक्ति के साथ बहस कर सकता हूं जो इस पर बहस करना चाहता है। धौनी की ताकत क्या है और वो किस वजह से जाने जाते हैं। वो दुनिया के बेस्ट फीनिशर के तौर पर जाने जाते हैं। तो उन्हें कहां बल्लेबाजी करनी चाहिए, जहां मैच को फीनिश करने की जरूरत है या फिर उपरी क्रम पर।सेमीफाइनल मैच में धौनी ने सातवें विकेट के लिए जडेजा के साथ मिलकर 116 रन की साझेदारी की। जडेजा जब 77 रन बनाकर आउट हुए तब भारत को जीत के लिए 12 गेंदों पर 30 रन की जरूरत थी। ऐसे में अगर धौनी मार्टिन गप्टिल के डायरेक्ट हिट से आउट नहीं होते तो शायद इस मैच में भारत की जीत भी हो सकती थी। शास्त्री ने कहा कि जडेजा ने मैच में वापसी करा दी थी। इसके बाद एमएस को मैच खत्म करना था। वो तब आउट हुए जब दस गेंदें शेष थी। दस गेंदें बची थी और 20 रन की जरूरत थी। धौनी और 20 रन।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें