नई दिल्ली। कहा जाता है कि क्रिकेट बल्लेबाजों का खेल है, लेकिन बिना गेंदबाजों के योगदान के क्रिकेट अधूरा है। जिस तरह बल्लेबाज रनों का अंबार, छक्कों की बौछार और शतकों के शूरवीर बनकर वर्ल्ड क्रिकेट पर राज करते हैं। वैसे ही कुछ गेंदबाज भी हैं, जिन्होंने अपनी गेंदबाजी का लोहा मनवाया है।यही नहीं इन गेंदबाजों ने वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाए हैं। इन्हीं गेंदबाजों में एक पाकिस्तानी तेज गेंदबाज का भी नाम है, जिन्होंने दुनिया की सबसे तेज गेंद फेंकी है। जी हां, हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर की। शोएब अख्तर ने ना सिर्फ क्रिकेट की सबसे तेज गेंद फेंकी है, बल्कि बल्लेबाजी में भी एक वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।आज हम शोएब अख्तर की बात इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि आज इस पाकिस्तानी गेंदबाज का 44वां जन्मदिन है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के रावलपिंडी में जन्मे शोएब अख्तर ही ऐसे पहले गेंदबाज थे जिन्होंने क्रिकेट की दुनिया में 100 मील प्रति घंटा का बैरियर पार किया था। 100 साल से भी ज्यादा पुराने क्रिकेट के इतिहास में पहली बार इतनी तेज गेंद किसी ने फेंकी थी।दुनिया में सबसे तेज गेंद फेंकने वाले गेंदबाज का आज जन्मदिन है, जिसने क्रिकेट की दुनिया में 100 मील प्रति घंटा का बैरियर पार किया था। रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने इंग्लैंड के खिलाफ एक मैच में 161.3 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद की थी। हालांकि, इस गेंद पर शोएब अख्तर को विकेट नहीं मिला, लेकिन इतिहास में यह बात दर्ज हो गई कि ये क्रिकेट की सबसे तेज गेंद है।साल 2003 में शोएब अख्तर द्वारा की गई इस गेंद को सबसे तेज गेंद माना जाता है, क्योंकि साल 1998 में स्पीडोमीटर का असल प्रयोग इंग्लैंड में शुरू हुआ था। उससे पहले गेंद की गति को मापने के लिए तमाम कोशिशें की जा चुकी थीं, लेकिन कोई प्रयोग सफल नहीं हो पाया था। ऐसे में क्रिकेट के इतिहास में शोएब अख्तर की ये गेंद मल का पत्थर साबित हुई है।एक समय वो भी था जब वेस्टइंडीज के एंडी रॉबर्ट्स, जोल गार्नर, कॉलिन क्रॉफ्ट और माइकल होल्डिंग जैसे रफ्तार के सौदागर थे, लेकिन उनकी गेंद की गति को मापा नहीं जा सकता था, क्योंकि उस समय ऐसी कोई तकनीक थी ही नहीं। शोएब अख्तर के बाद शॉन टैट, जेफ थॉमसन और ब्रेट ली भी 160 MPH से ज्यादा की गेंद फेंक चुके हैं।444 इंटरनेशनल विकेट झटकने वाले शोएब अख्तर के नाम एक चलते-फिरते बल्लेबाज के तौर भी एक वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। दरअसल, शोएब अख्तर एक मात्र ऐसे बल्लेबाज हैं, जो लगातार 12 वनडे इंटरनेशनल मैचों में नाबाद लौटे हैं। शोएब अख्तर का ये रिकॉर्ड आज तक अटूट है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें