लंदन। मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (MCC) ने ऐलान किया है कि इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच लंदन के लॉर्ड्स में खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल के ओवरथ्रो की समीक्षा की जाएगी। क्रिकेट के नियम बनाने वाली संस्था एमसीसी इसी साल सितंबर में वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के फाइनल में मार्टिन गप्टिल के थ्रो पर बेन स्टोक्स को दिए गए 6 रन की समीक्षा करेगी।MCC ने एक आधिकारिक बयान में कहा है, "वर्ल्ड क्रिकेट कमेटी (WCC) ने वर्ल्ड कप के फाइनल के ओवरथ्रो के बारे में 19.8 नियम के बारे में बात की है। WCC का मानना है कि नियम स्पष्ट है, लेकिन सितंबर में इस मामले में समीक्षा होनी चाहिए।" गौरतलब है कि 14 जुलाई को लॉर्ड्स में खेले गए वर्ल्ड कप के फाइनल में इंग्लैंड को बाउंड्री काउंट के आधार पर जीत मिली थी।इंग्लैंड की टीम ने फाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड को हराकर पहली बार वर्ल्ड कप का खिताब अपने नाम किया था। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए वर्ल्ड कप 2019 के फाइनल में 50-50 ओवर का मैच और फिर सुपर ओवर भी टाई हो गया था। इसके बाद नतीजा बाउंड्री काउंट के आधार पर निकला, जिसमें इंग्लैंड की टीम ने 26 और न्यूजीलैंड की टीम ने 17 बाउंड्री लगाई थीं।वर्ल्ड कप के 12वें सीजन के फाइनल के नतीजे से शायद की किसी को परहेज हो, लेकिन इस महामुकाबले के आखिरी ओवर का एक ओवरथ्रो किसी के गले नहीं उतर रहा। दरअसल, जब इंग्लैंड की टीम को जीत के लिए 3 गेंदों में 9 रन चाहिए थे, तो बेन स्टोक्स ने गेंद को मिड विकेट पर खेला था, जहां से मार्टिन गप्टिल ने थ्रो किया तो गेंद दूसरा रन ले रहे बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर बाउंड्री के पार चली गई।इस घटना के बाद फील्ड अंपायर कुमार धर्मसेना ने साथी अंपायर मरे इरासमस से बात करके इंग्लैंड की टीम को 6 रन दिए थे। इसमें दो रन दौड़ने और 4 रन बाउंड्री (ओवरथ्रो) के शामिल थे। बाद में बेन स्टोक्स ने आखिरी गेंद पर मैच को टाई करा दिया था। इसी घटना पर महान अंपायर साइमन टॉफेल ने सवाल उठाए थे और बताया था कि इसमें 6 रन नहीं, बल्कि 5 रन देने चाहिए थे, क्योंकि थ्रो फेंकते समय बेन स्टोक्स साथी खिलाड़ी को पार नहीं कर पाए थे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें