नई दिल्ली। भारतीय टीम और आइपीएल टीम आरसीबी के कप्तान विराट कोहली के बचपन के कोच राजकुमार शर्मा ने कहा है कि इंडियन प्रीमियर लीग की परफॉर्मेंस के आधार पर टीम इंडिया के वर्ल्ड कप की 15 सदस्यीय टीम नहीं चुनी जानी चाहिए। रविवार को राजकुमार शर्मा ने कहा है आइपीएल की परफॉर्मेंस वनडे क्रिकेट के लिए कोई पैरामीटर नहीं है। राजकुमार शर्मा ने इस बात पर भी जोर दिया है कि विराट कोहली की आइपीएल कप्तानी को इंटरनेशनल क्रिकेट से कंपेयर नहीं किया जाना चाहिए। आइपीएल और वर्ल्ड कप दो अलग-अलग फॉर्मेट हैं। मैं कभी भी आइपीएल को गंभीरता से नहीं लेता।विराट कोहली के कोच ने टीम इंडिया के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का समर्थन किया है। एमएसके प्रसाद पहले ही कह चुके हैं कि वर्ल्ड कप के लिए आइपीएल की परफॉर्मेंस ध्यान में नहीं रखी जाएगी। आपको बता दें, कप्तान विराट कोहली और चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद इस बात को कबूल कर चुके हैं कि वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम को केवल नंबर चार के लिए दमदार प्लेयर की तलाश है। बाकी खिलाड़ी लगभग तय हो चुके हैं, जिसका एलान सोमवार 15 अप्रैल को मुंबई में किया जाएगा।भारतीय टीम पिछले कई महीनों से नंबर चार का खिलाड़ी तलाशने में असफल रही है। ऐसे में राजकुमार शर्मा ने कहा है कि केएल राहुल या अंबाती रायुडू में से किसी एक को इंग्लैंड की टिकट मिलेगा। आरके शर्मा ये भी मानते हैं कि इन्हीं में से एक खिलाड़ी प्लेइंग इलेवन का भी हिस्सा होगा। हालांकि, ये पिच और परिस्थिति पर निर्भर करेगा।विजय शंकर और हार्दिक पांड्या की वर्ल्ड कप की प्लेइंग इलेवन में शामिल करने को लेकर राजकुमार शर्मा ने कहा है अगर पिच दो तेज गेंदबाजों के साथ अनुकूल हो तो फिर पांड्या और शंकर बतौर ऑलराउंडर टीम का हिस्सा हो सकते हैं। इसके अलावा आरके शर्मा ने चाइनामैन कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की जोड़ी पर भी विश्वास जताया है। राजकुमार शर्मा का कहना है, "रवींद्र जड़ेजा को 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया जा सकता है लेकिन अंतिम ग्यारह में पिच के हिसाब से चहल-यादव की जोड़ी अच्छी रहेगी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें