नई दिल्ली। IPL 2019 आइपीएल में चेन्नई और राजस्थान के बीच खेले गए 25वें मैच के आखिरी पल में सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने जो किया वो खेल भावना कि विपरीत थी। इसके लिए धौनी को सजा मिली और उन्होंने अपनी गलती स्वीकार भी की। धौनी जिस कद के खिलाड़ी हैं और अपने जिस व्यवहार के लिए जाने जाते हैं इस मैच में वो उससे बिल्कुल अलग दिखे। धौनी का ये रूप देखकर हर कोई हैरान था और यही सोच रहा था कि दुनिया का सबसे कूल कप्तान का ऐसा गुस्सा क्या जायज है। अब जरा उस घटना के बारे में जानते हैं। दूसरी पारी में आखिरी ओवर राजस्थान की तरफ से बेन स्टोक्स फेंक रहे थे। ये आखिरी ओवर की चौथी गेंद थी और बेन का सामना सैंटनर कर रहे थे। बेन की ये गेंद स्लोअर फुलटॉस थी जो सैंटनर की कमर से उंची थी और उन्होंने उसे लांग ऑन की तरफ खेल दिया था। गेंदबाज की छोर पर खड़े अंपायर उल्हास गंधे ने इस गेंद को नो बॉल करार दिया लेकिन लेग अंपायर ब्रुस ऑक्सनफोर्ड ने कहा कि उन्होंने ऐसा कोई इशारा नहीं किया और ये सही गेंद है। इससे बात उल्हास के लिए मुसीबत खड़ी हो गई और वो अपने फैसले को ही पलटने का इशारा करने लगे। इस दौरान बल्लेबाजी कर रहे दोनों बल्लेबाज रवींद्र जडेजा और सैंटनर भी हैरान थे कि आखिर अंपायर ने अपना फैसला क्यों बदला। वहीं उसी वक्त डगआउट में मौजूद धौनी पहले फील्ड के बाहर से अपनी बात कहते नजर आए और जब उन्हें लगा कि इस पर कोई सही फैसला नहीं किया गया तो वो मैदान पर आ गए।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें