नई दिल्ली। भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेले गए दूसरे टी-20 मैच को भारत ने 7 विकेट से जीत लिया है। इस जीत के साथ ही मौजूदा सीरीज़ का स्कोर भारत ने 1-1 से बराबर कर दिया है। इस मैच में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई रोहित शर्मा और क्रुणाल पांड्या ने। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया। ये न्यूज़ीलैंड की धरती पर भारत की पहली टी-20 जीत रही। इससे पहले भारतीय टीम कभी भी न्यूज़ीलैंड की धरती पर कोई भी टी-20 मैच नहीं जीत सकी थी।
भारत ने ऐसे रचा इतिहास:-ऑकलैंड में खेले गए दूसरे टी-20 मैच से पहले भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड की धरती पर तीन टी-20 मैच खेले थे और तीनों ही मैचों में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा था। पिछला मैच जो कि वेलिंग्टन में खेला गया था उस मैच में तो भारत को टी-20 की अपनी सबसे बड़ी हार झेलनी पड़ी थी। इस मैच को भारत 80 रन से हारा था। लेकिन दूसरे मैच में भारत ने जीत दर्ज़ कर इतिहास रच दिया। रिषभ पंत ने विनिंग शॉट लगाया।
ऐसा रहा मैच का हाल:-इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया। न्यूज़ीलैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए आठ विकेट के नुकसान पर 159 रन बनाए। न्यूज़ीलैंड की ओर से सबसे ज़्यादा रन कॉलिन डि ग्रैंडहोम ने बनाए उन्होंने अपने टी-20 करियर का पहला अर्धशतक जड़ा। रॉस टेलर ने भी 42 रन की पारी खेली। वहीं भारत की ओर से सबसे ज़्यादा तीन विकेट क्रुणाल पांड्या ने लिए। क्रुणाल को उनके तीन विकेट के लिए मैन ऑफ द मैच का खिताब भी मिला। दो विकेट खलील अहमद ने तो एक-एक विकेट हार्दिक और भुवी ने लिए।
भारत ने ऐसे बनाए 159 रन:-159 रन की चुनौती का पीछा करते हुए रोहित शर्मा ने ताबड़तोड़ पारी खेलते हुए अर्धशतक जड़ा। रोहित ने इस मैच में सबसे ज़्यादा अंतरराष्ट्रीय टी-20 रन, अंतरराष्ट्रीय टी-20 में सबसे अधिक अर्धशतक और टी-20 में सौ छक्के लगाने का रिकॉर्ड बनाया। रोहित ने 29 गेंदों में 50 रन बनाए। इसके बाद धवन भी 30 रन बनाकर आउट हो गए। रिषभ पंत 40 रन तो धौनी 19 रन बनाकर नाबाद रहे। पंत ने चौका लगाकर भारत को जीत दिलाई।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें