नई दिल्ली। भारत के पूर्व तूफानी ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने एक राज की बात बताते हुए कहा कि अगर वह क्रिकेटर नहीं होते तो किसान होते या आर्मी की नौकरी कर रहे होते। अपने बल्लेबाजी से अच्छे अच्छे गेंदबाजों की धुनाई करने वाले सहवाग ने एक शो में ये बात कही।इस शो में सहवाग के साथ पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद आफरीदी भी थे। सहवाग ने कहा कि मेरे पिता किसान थे और मैं ज्यादा पढ़ा लिखा भी नहीं हूं। इसी वजह से मैं डॉक्टर या इंजीनियर तो बन नहीं सकता था इसलिए मुझे लगता है मैं किसान ही बनता।सहवाग ने कहा कि हो सकता है कि मैं आर्मी में भी चला जाता क्योंकि मेरे बहुत से रिश्तेदार आर्मी में है लेकिन आर्मी में आपको अच्छी फिटनेस चाहिए, जो मेरे पास नहीं थी। सहवाग ने 104 टेस्ट में 8586, 252 वनडे में 8273, 19 टी20 में 394 और 104 आईपीएल मैचों में 2728 रन बनाए हैं।जिस तरह से सहवाग अपनी बल्लेबाज़ी के लिए मशहूर थे, ठीक उसी तरह वो अब ट्विटर पर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं। सहवाग भारत के पहले ऐसे क्रिकेटर हैं जिनके नाम टेस्ट क्रिकेट में दो-दो तिहरे शतक हैं। इतना ही नहीं सहवाग के नाम वनडे में भी दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड है।सहवाग ने ये दोहरा शतक दिसंबर 2011 में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ इंदौर में जड़ा था। वो सचिन तेंदुलकर के बाद वनडे क्रिकेट में दूसरा दोहरा शतक लगाने वाले खिलाड़ी हैं। सहवाग इस समय आइपीएल टीम किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटॉर है हालांकि साल 2018 में उनके और पंजाब की सह मालिकन प्रीति जिंटा के बीच मतभेद की खबरें थी, इसलिए अब देखना होगा कि अगले सीजन भी वह क्या पंजाब से जुड़ेंगे रहेंगे या नहीं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें