लंदन- इंग्लैंड में खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ में टीम इंडिया को चारों तरफ से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। टीम इंडिया पांच टेस्ट मैच की मौजूदा सीरीज़ में 0-2 से पिछड़ रही है और अब अगर तीसरे टेस्ट में भी भारत को हार का सामना करना पड़ता है, तो कोहली एंड कंपनी सीरीज़ भी गंवा देगी। हरभजन सिंह भी अब पूर्व क्रिकेटर्स और मौजूदा क्रिकेटर्स की उस लिस्ट में शामिल हो गए हैं, जिन्होंने लॉर्ड्स में मिली हार के बाद भारतीय टीम की रणनीति पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं।
सीरीज़ से पहले की बड़ी-बड़ी-बातें
भज्जी ने कोच रवि शास्त्री की टीम में भूमिका को लेकर कई अहम सवाल उठाए हैं। टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने टेस्ट सीरीज़ शुरू होने से पहले कहा था कि, इंग्लैंड की पिच और कंडीशंस का टीम इंडिया के प्रदर्शन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। हमारे लिए कोई दूसरी राह नहीं है, हर गेम को हम घरेलू गेम की तरह लेंगे, क्योंकि हम विरोधी को नहीं, पिच को खेलेंगे। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि, हमारी टीम आक्रामक है और हम जीतने के लिए खेलते हैं। इंग्लैंड के खिलाफ इस सीरीज़ में भी हम जीतने के लिए ही खेलेंगे। हम यहां मैच ड्रॉ करवाने के लिए नहीं आए हैं और मैच जीतने की कोशिश में अगर हम हार भी जाते हैं, तो ये हमारे लिए दुर्भाग्यपूर्ण होगा।
शास्त्री दें जवाब
लॉर्ड्स टेस्ट में भारत की हार के बाद अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा है कि अब शास्त्री को आगे आना चाहिए और भारत की हार पर जवाब देना चाहिए। भज्जी ने कहा कि कोच को आगे आकर सभी सवाल के जवाब देने चाहिए। बतौर टीम इंडिया के कोच वो सभी को जवाबदेह हैं। यदि टीम इंडिया ये सीरीज़ हार जाती है, तो शास्त्री को अपने बयानों के बारे में सोचना होगा और मानना पड़ेगा की क्रिकेट के खेल में कंडीशंस बहुत मायने रखती है।
इसके साथ ही भज्जी ने कहा कि लॉर्ड्स टेस्ट मैच के दौरान टीम इंडिया ने लड़ने की कोई कोशिश भी नहीं की। टीम से जीतने की इच्छा भी गायब दिखी और खिलाड़ियों ने विरोधी के सामने कोई चुनौती प्रस्तुत ही नहीं की। यह सबसे निराशाजनक है।
गलतियों से लो सबक
जिस तरह से भारतीय टीम का पहले दो टेस्ट मैचों में प्रदर्शन रहा है, उसे देखकर आलोचनाएं तो होंगी ही। लेकिन जो सवाल हरभजन सिंह ने उठाए हैं वो वाजिब भी है। अब भारतीय क्रिकेट के प्रशंसक यहीं उम्मीद करेंगे की कोहली एंड कंपनी अपनी पिछली गलतियों से सबक लेते हुए तीसरे टेस्ट मैच में उतरे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें