Editor

Editor

वाशिंगटन। अमेरिका में राजनीतिक गतिरोध चरम पर पहुंच गया है। इसके चलते अमेरिका एक बार फिर आर्थिक शट डाउन की दहलीज पर खड़ा है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के पदभार संभालने के बाद यह तीसरा मौका है, जब दुनिया का सबसे शक्तिशाली और समृद्ध देश इस स्थिति में पहुंचा है। हालांकि, ट्रंप ने सरकारी खर्च के बिल पर हस्‍ताक्षर कर दिए हैं, जिससे अमेरिका में शट डाउन मामला थोड़े समय के लिए टल गया है।हाल में अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनाव में कांग्रेस के निचले सदन यानी प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट की बड़ी जीत के बाद यह कयास लगाए जा रहे थे कि राष्ट्रपति ट्रंप के लिए अब बड़ी मुश्किलें खड़ी हो सकती है। दरअसल, इस चुनाव के बाद प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट बहुमत में आ गए और रिपब्लिकन पार्टी का वर्चस्‍व टूट गया। चुनाव के इन परिणामों के साथ यह तय हो गया था कि अब ट्रंप को कई मामलों में डेमोक्रेट के विरोध का समाना करना पड़ सकता है। अमेरिका में जिस तरह से आव्रजन नियमों में संशोधनों को लेकर डेमोक्रेट ने ब्रेक लगाया है, उससे अमेरिका में एक नया संकट खड़ा हो गया है। आव्रजन नियमों में संशोधनों के तहत ही ट्रंप प्रशासन की मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण की योजना है। इसलिए ट्रंप ने कांग्रेस द्वारा मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिए पर्याप्त रकम न देने पर मजबूरन आंशिक सरकारी शट डाउन कराने की चेतावनी दी है। इसके लिए उन्‍होंने डेमोक्रेटिक पार्टी को जिम्‍मेदार ठहराया है।
गतिरोध: क्‍या है मामला;-आव्रजन नियमों में संशोधनों को लेकर कांग्रेस के निचले सदन में ट्रंप और डेमोक्रेट के बीच रस्‍साकसी का खेल चल रहा है। डेमोक्रेट के अड़ि‍यल रूख के चलते अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकेत दिया कि अगर वो आव्रजन नियमों में संशोधनों का समर्थन नहीं करते तो वे संघीय सरकार के शट डाउन की अनुमति दे देंगे। इसके लिए एक सप्‍ताह का वक्‍त दिया गया था। समय सीमा निर्धारित होने के बाद कांग्रेस में दोनों राजनीतिक दलों के बीच संघर्ष तेज हो गया है। बता दें कि रिपब्लिकन सदस्यों की तरफ से लाया गया आव्रजन बिल पिछले हफ्ते संसद से मंजूरी नहीं पा सका था। इसमें ट्रंप ने मेक्सिको के साथ लगती अमेरिका की दक्षिणी सीमा पर दीवार बनाने के लिए 25 अरब डॉलर मांगे थे। इसके बाद ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, अगर डेमोक्रेट मुझे सीमा सुरक्षा के लिए वोट नहीं देते, जिसमें दीवार बनाने का मामला भी शामिल है, तो मैं सरकार के शट डाउन के लिए तैयार हूं।
फौरी राहत: सरकारी खर्च के लिए विधेयक 197 के मुकाबले 230 मतों से पारित:-इससे पहले गत गुरुवार रात प्रतिनिधि सभा के सदस्यों ने फरवरी तक के सरकारी खर्च के लिए विधेयक को 197 के मुकाबले 230 मतों से पारित कर दिया था। अधिकारियों ने कहा कि अब एक लाख से ज्यादा सक्रिय सैन्यकर्मी अपनी सेवाएं जारी रखेंगे, लेकिन 'कामबंदी' समाप्त होने तक उन्हें भुगतान नहीं किया जा सकता। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने इस संकट के कारण अपनी रिजॉर्ट यात्रा की योजना रद कर दी है। ट्रंप ने पहली बार शट डाउन के समय ट्विटर पर लिखा था, वे हमारी महान सेना या अत्यंत खतरनाक दक्षिणी सीमा की सुरक्षा के लिए अच्छा नहीं सोच रहे। डेमोक्रेट कर कटौती की बड़ी सफलता को बेकार करने में मदद के लिए यह कामबंदी चाहते हैं। दरअसल, अमेरिका में सीनेट की ओर से सरकारी खर्चे का बिल खारिज हो गया है, जिसकी वजह से ट्रंप सरकार के पहले साल के कार्यकाल में ही कामकाज बंद हो गया है. इस बिल को पक्ष और विपक्ष के बीच तनातनी को लेकर मंजूरी नहीं मिल पाई। इसके बाद से यहां राजन‍ीतिक संघर्ष तेज हो गया है।
सभी सरकारी महकमे 21 दिसंबर तक खुले रहेंगे:-ट्रंप ने संघीय सरकार के वित्‍त पोषण बढ़ाने, देश को आंशिक शट डाउन से बचाने और प्रस्तावित सीमा दीवार पर अपेक्षित लड़ाई को टालने के लिए सरकारी खर्च विधेयक को मंजूरी दे दी हैं। इससे होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट और कई अन्य सरकारी एजेंसियां 21 दिसंबर तक खुली रहेंगी।
क्‍या है एंटी-डिफिशिएंसी ऐक्ट यानी शट डाउन:-अमेरिका में एंटी-डिफिशिएंसी एक्ट के तहत देश में पैसे को लेकर कोई दिक्कत होने पर संघीय कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज दिया जाता है। इसे शट डाउन कहा जाता है। यदि सरकार शट डाउन की घोषणा करती है तब इस दौरान कर्मचारियों को काम पर आने के लिए मना किया जाता है। उन्हें सैलरी भी नहीं दी जाती है। साथ ही ऐसे में सरकार को संघीय बजट पास करना होता है।इस स्थिति में अमेरिकी सरकार संघीय बजट लाती है, जिसे प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है। लेकिन प्रतिनिधि सभा में ट्रंप की पार्टी का बहुमत नहीं है।मौजूदा हालात में ऐसा अनुमान है कि आठ लाख से ज्यादा संघीय कर्मचारी गैरहाजिर रहेंगे। केवल आपाताकालीन सेवाएं ही खुली रहेंगी। मसलन- सुरक्षा, पुलिस विभाग, अस्‍पताल आदि-आदि।अमेरिका में पांच वर्ष में दूसरी बार शट डाउन होने के संकेत हैं। इसके पूर्व 2013 में शट डाउन की स्थिति पैदा हुई थी। यह शट डाउन करीब 16 दिनों तक चला था। उस वक्‍त अमेरिका के राष्‍ट्रपति बराक ओबामा थे। अब तक अमरीका में 1976 के बाद से 18 बार काम बंदी या शट डाउन हो चुका है। बताया जा रहा है कि इस बार यह शट डाउन जल्दी खत्म नहीं होगा, क्योंकि दोनों पार्टियां विधेयक को लेकर अपनी मांग पर अड़ी है।
मध्यावधि चुनावों में विपक्षी डेमोक्रेट का दबदबा:-अमेरिका में हुए महत्वपूर्ण मध्यावधि चुनावों में विपक्षी डेमोक्रेट ने कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अपना नियंत्रण कायम कर लिया था। ये चुनावी नतीजे राष्ट्रपति ट्रंप के लिए एक बड़ा झटका था। इस चुनाव के बाद 435 सीटों वाले प्र‍तिनिधि सभा में डेमोक्रेट का बहुमत हो गया। इसके बाद से ही डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से संकेत मिलने लगे थे ट्रंप के लिए और कठिन स्थिति बन सकती है। खासकर आव्रजन, कर और स्वास्थ्य देखभाल सुधारों समेत उनके अहम मुद्दों पर व्यापक विधाई परिवर्तन चाहते हैं। हालांकि, इस चुनाव में सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी की जीत हुई थी।

 

 

मास्को। रूस की एक अदालत ने पूर्व पुलिसकर्मी को 56 हत्याओं के मामले में दोषी करार दिया। दोषी पुलिसकर्मी पहले से ही 22 महिलाओं की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। पूर्व पुलिसकर्मी को रूस का खतरनाक सीरियल किलर कहा जा रहा है। दोषी पुलिसकर्मी का नाम मिखाइल पॉपकोव है।इरकुत्स्क के क्षेत्रीय अभियोजक के कार्यालय ने एक बयान में कहा, 'साइबेरियाई शहर इरकुत्स्क की अदालत ने मिखाइल पॉपकोव को 56 हत्याओं का दोषी माना है। ये मर्डर 1992 से 2007 के बीच किए गए।' अभियोजकों ने पॉपकोव को मनोरोगी बताया, जिसे लोगों की हत्या करने में मजा आता है। वह 10 लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने का भी दोषी पाया गया।पॉपकोव को दूसरी बार आजीवन कारावास की सजा मिली है, एक मामले में वह पहले से ही सजा काट रहा है। वहीं, पूर्व पुलिसकर्मी होने के नाते उसे मिलने वाली पेंशन को भी रोक दिया गया है। बता दें कि साल 2015 में पॉपकोव को 11 महिलाओं की हत्या के मामले में सजा मिली थी। बाद में उसने 59 अन्य हत्याओं का भी जुर्म कबूल कर लिया। हालांकि सोमवार को उसे 56 मर्डर के मामले में सजा सुनाई गई, क्योंकि जांचकर्ता तीन अपराधों को साबित करने में कामयाब नहीं रहे।बताया जा रहा है कि गाड़ी में लिफ्ट देने के नाम पर वह कइयों की हत्या कर चुका है। कई हत्याएं उसने अपनी पुलिस कार में की हैं। कहा जा रहा है कि पॉपकोव ने जितनी हत्याएं की हैं, वह रूस और पूर्व सोवियत संघ के इतिहास में सबसे ज्यादा और सबसे खतरनाक है।

'बिग बॉस 12'अपने 13 हफ्ते में कदम रख चुका है और अब शो को फिनाले में केवल 2 हफ्तों का समय बचा है। ऐसे में बिग बॉस ने घरवालों को एक खास तोहफा देते हुए सभी सदस्यों को उनके अपनों से मिलने का मौका दिया। जिसके तहत सुरभि से लेकर करनवीर बोहरा तक सभी सदस्यों के घर से कोई न कोई मिलने आया था। इसी बीच जब श्रीसंथ को 12 हफ्तों बाद अपने बच्चों से मिलने का मौका मिला तो उनका खुशी के मारे ठिकाना नहीं रहा और वो अपने बेटा और बेटी को देखकर रो पड़े। जिसके बाद से ही घर का माहौल काफी इमोशनल हो गया।आपको बता दें कि, श्रीसंथ के बच्चों की प्यारी हरकतों ने लोगों का दिल जीत लिया है, जिसकी वजह से फैंस उनकी बेटी की जमकर तारीफ करते नजर आ रहे हैं। लोगों का मनना है कि, श्रीसंथ दुनिया के सबसे भाग्याशाली लोगों में से एक हैं, क्योंकि उनको पास इतनी प्यारी फैमिली मिली है।
बेटी की मासूमियत के कायल हुए फैंस:-बच्चियों की तारीफ करते हुए एक यूजर ने लिखा है, 'श्रीसंथ को उनके परिवार के साथ देखकर मैं इस फैमिली का फैन हो चुका हूं, ये वाकई बहुत प्यारे हैं।' वही दूसरे यूजर ने लिखा, 'श्रीसंथ की बेटी ने कल का पूरा शो अपने नाम कर लिया है, वो घर में ऐसे घूम रही थी जैसे कि एक प्यारा सा खरगोश का बच्चा हो।'
श्रीसंथ की बेटी ने दीपिका कक्कड़ को कहा, 'दीपिका बुआ':-जब श्रीसंथ की बेटी दीपिका से मिली तो उसने दीपिका को "बुआ" कह कर बुलाया। श्रीसंथ की बेटी में मुंह से ये शब्द सुनकर दीपिका काफी खुश नजर आईं। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर श्रीसंथ की बेटी की काफी तारीफ हो रही है। कुछ यूजर्स ने तो यह तक कह डाला कि जब श्रीसंथ की बेटी ने दीपिका को बुआ कह कर बुलाया, वो पल पूरे एपिसोज में सबसे ज्यादा प्यारा मूमेंट था।
यूजर्स बोले,'खुशनसीब है श्रीसंथ':-एक यूजर ने तो श्रीसंथ के परिवार की तारीफ में यह तक कह डाला कि, 'ये बच्चे श्रीसंथ को गॉड गिफ्ट के तौर पर मिले हैं ऐसा परिवार सबके नसीब में नहीं होता, उनकी पत्नी और बच्चे उनका पूरा सपोर्ट करते हैं।' ट्वीट्स से जाहिर है कि श्रीसंथ के परिवार ने लोगों का दिल जीत लिया है। अपनी इस रिपोर्ट में हम ऐसे ही कुछ मजेदार ट्वीट्स ले कर आए हैं।यहां पर अगर बात की जाए आपे वाले एपिसोड की तो आज भी शो में कई मेहमान 'बिग बॉस 12' के घर में दस्तक देंगे। एक तरफ शोएब अपनी पत्नी दीपिका से मुलाकात करने घर के अंदर जाएंगे, वहीं दूसरी तरफ रोमिल की पत्नी भी घर मेहमान बन कर आएंगी।

 

 

 

 

मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी और आनंद पीरामल की शादी 12 दिसंबर को होनी है। इस शादी की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं और राजस्थान के उदयपुर में इस वक्त शाही शादी के कार्यक्रमों की शुरुआत हो चुकी है। बीते दो दिनों से इंटरनेट पर इस ग्रैंड शादी के चर्चों की बयार बह रही है। इस रॉयल शादी के कार्यक्रमों का हिस्सा बनने के लिए बॉलीवुड से सभी दिग्गज स्टार्स पहुंचे और जमकर मस्ती की। संगीत कार्यक्रम में एक ओर जहां शाहरुख खान ने पत्नी गौरी खान के साथ स्टेज पर पहुंच साथ में डांस कर समा बांधा तो वहीं, प्रियंका और सलमान खान के डांस की भी खूब चर्चाएं रही। इन सभी सभी वीडियोज और फोटोज हम आपको दिखाते चले आ रहे हैं।अब इस शादी के कार्यक्रमों में मेहमान बनीं 'धड़क' स्टार जान्हवी कपूर की एक ऐसी फोटो सामने आई है जिसे देख आप अपना दिल हार बैठेंगे। इस फोटो में जान्हवी कपूर बेहद ही प्यारी और ग्लैमरस लग रही है। जान्हवी कपूर ने बीते दिन ईशा अंबानी के संगीत कार्यक्रम में इस ड्रेस को पहना था। ब्लैक एंड स्किन ब्राउन कलर की इस ड्रेस में जान्हवी कपूर बला की खूबसूरत दिख रही है। जान्हवी कपूर के इस अंदाज से आपकी नजरें हट ही नहीं पाएंगी।जान्हवी कपूर इस ग्रैंड शादी में शिरकत करने के लिए अपने पापा बोनी कपूर और बहन खुशी कपूर के साथ पहुंची थी। जान्हवी कपूर के अलावा इस ग्रैंड शादी में दीपिका पादुकोण की रेड ड्रेस की भी खूब चर्चाएं हो रही है। वहीं, शादी के कार्यक्रमों में अपनी देसी गर्ल ने व्हाइट कलर की साड़ी में अपनी ओर सभी का ध्यान खींच लिया

बॉलीवुड और टीवी की दुनिया में इस साल शादी का सीजन चल रहा है और ये सीजन अभी लंबा चलने वाला है। एक और जहां इस साल की शुरुआत ही अनुष्का-विराट की शादी और ग्रैंड रिसेप्शन पार्टी से हुई थी। तो इस साल 'हैप्पीली मैरिड एवर आफ्टर' की लिस्ट में अब तक सोनम कपूर-आनंद आहूजा, नेहा धूपिया-अंगद बेदी, दीपिका पादुकोण-रणवीर सिंह, प्रियंका चोपड़ा-निक जोनस का नाम जुड़ चुका है। इसके अलावा उद्योगपति मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी की शादी भी इस वक्त खूब चर्चाएं बटोर रही हैं। ईशा अंबानी की शादी 12 दिसंबर को है और इसी दिन एक और सुपरस्टार की शादी है।हम बात कर रहे हैं कॉमेडी सुपरस्टार कपिल शर्मा की जो 12 दिसंबर को ही शादी के बंधन में बंधने वाले हैं। शादी के लिए कॉमेडी सुपरस्टार कपिल शर्मा अपने होम टाउन अमृतसर पहुंच गए हैं और उनके स्वागत के लिए उनके चाहने वालों ने सोशल मीडिया को बधाइयों के संदेशों से भर दिया है। कपिल शर्मा अपनी लंबे समय से दोस्त रही गिनी चतरथ के साथ शादी कर रहे हैं।गिन्नी चतरथ की मेहंदी और संगीत कार्यक्रम मंगलवार से शुरू हो रहे हैं। ये शादी अमृतसर में दोनों परिवार वालों के बीच शाही अंदाज में की जाने वाली है। शादी के कार्यक्रमों की शुरुआत माता की चौकी से होगी। माता की चौकी का कार्यक्रम कपिल शर्मा की बहन के घर पर आयोजित होना है। शादी की दीवानगी के बीच कपिल शर्मा की अपने करीबियों के साथ कुछ फोटोज इस वक्त वायरल हो रही है। इसके अलावा देखिए कॉमेडी स्टार को उनके चाहने वाले किस अंदाज में बधाई संदेश दे रहे हैं।
ऐसे चढ़ा था प्यार परवान:-कपिल शर्मा और गिन्नी चतरथ एक साथ कॉलेज में थे जब उनके प्यार ने परवान चढ़ना शुरू किया था। इसके बाद दोनों पहले अच्छे दोस्त बने और फिर साथ में ही दोनों ने थियेटर भी ज्वाइन किया था। इसी दौरान गिन्नी और कपिल एक दूसरे को चाहने लगे थे। गिन्नी ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो कपिल के लिए घर से खाना बनाकर कॉलेज लाया करती थी। लेकिन क्योंकि दोनों के परिजन पारंपरिक विचारों वाले हैं इसीलिए दोनों ने एक दूसरे को कभी डेट नहीं किया। इस दौरान कपिल शर्मा जब मुसीबतों का सामना कर रहे थे उस वक्त भी गिन्नी उनकी ढाल बनकर खड़ी रही थीं और उन्हें संभाला था। अब ये प्यारा कपल हमेशा-हमेशा के लिए एक-दूसरे का होने वाला है।

बॉलीवुड डायरेक्टर रोहित शेट्टी इंडस्ट्री के उन चुनिंदा कलाकारों में से एक हैं, जो फुल ऑन मसाला एंटरटेनर्स बनाने के लिए जाने-जाते हैं। उनकी फिल्मों का टिकिट ही वो लोग खरीदते हैं, जिन्हें बिना दिमाग लगाए एंटरटेनमेंट चाहिए। अगर आप रोहित शेट्टी का करियर उठाकर देखें तो उन्होंने अजय देवगन और शाहरुख खान के साथ ही अपनी ज्यादातर फिल्में बनाई हैं। साल 2018 के अंत में रिलीज होने वाली 'सिम्बा' के लिए रोहित शेट्टी ने पहली बार रणवीर सिंह के साथ हाथ मिलाया है।रोहित शेट्टी का सिनेमा फॉलो करने वाले दर्शक अक्सर ये बात पूछते हैं कि आज तक उन्होंने अक्षय कुमार के साथ हाथ क्यों नहीं मिलाया है ? अक्की मसाला एंटरटेनर्स के बेताज बादशाह हैं और वो रोहित शेट्टी की फिल्म में एक दम फिट बैठेंगे। ऐसे लोगों के लिए हमारे पास एक खुशखबरी है। अगर डेक्कन क्रॉनिकल की एक ताजा खबर की मानें तो रोहित शेट्टी 'सिम्बा' के बाद जो फिल्म बनाने वाले हैं, उसमें अक्षय कुमार दिखाई देंगे।जी हां, हम मजाक नहीं कर रहे हैं। डेक्कन क्रॉनिकल को एक सूत्र ने जानकारी दी है कि, ‘अक्षय कुमार और रोहित शेट्टी की यह नई फिल्म एक बड़ी मसाला एंटरटेनर होगी। इसमें अक्की कुछ जबरदस्त एक्शन सीक्वेंस भी करते दिखाई देंगे। अक्षय खुद भी इस फिल्म को प्रोड्यूस कर सकते हैं। वो ऐसा इसलिए करेंगे ताकि फिल्म पर अच्छा खासा पैसा लगाया जा सके और हर किसी को फिल्म की सफलता से फायदा हो।’सूत्र ने यह जानकारी भी दी है कि अक्षय कुमार ने रोहित शेट्टी की इस फिल्म के लिए डेट्स भी लॉक कर दी हैं, ‘अक्की और रोहित की यह फिल्म अगले साल की शुरूआत में ही शुरू हो जाएगी और अक्की ने पहले से ही डेट्स अलॉट कर दी हैं। इस फिल्म की शूटिंग के दौरान ही अक्षय केसरी भी प्रमोट करेंगे।’

इस्‍लामाबाद। पाकिस्‍तान में भारतीय उच्‍चायोग के अधिकारी ने पाक अधिकृत कश्‍मीर (पीओके) के एक मंत्री को बैठक में शामिल होता देख, विरोध स्‍वरूप वहां से वॉक आउट(बैठक से बाहर निकल गए) कर दिया। रविवार को इस्‍लामाबाद में भारतीय राजनयिक शुभम सिंह ने सार्क चार्टर बैठक से वॉक आउट किया। इस बैठक में पीओके के मंत्री चौधरी मोहम्‍मद सईद को वक्‍ता के रूप में मौका दिया गया था।भारत ने पाकिस्तान के इस कदम पर कड़ा विरोध जताया और सईद के बोलने से पहले ही बैठक से वॉक आउट कर दिया। पीओके भारत का अभिन्‍न अंग है। इसे लेकर भारत कभी कोई समझौता स्‍वीकार नहीं करता है। पीओके को लेकर भारत के इस रुख से एक बार फिर पाकिस्‍तान को सबक मिल गया। दरअसल, भारत की ओर से पीओके की सरकार और किसी भी मंत्री को मान्यता नहीं दिए जाने की कूटनीतिक रणनीति है।सिर्फ पाकिस्‍तान में ही नहीं, भारत अंतरराष्‍ट्रीय मंचों पर भी पीओके को लेकर अपनी रणनीति साफ कर चुका है। भारत अपनी इस रणनीति के तहत चुने हुए भारतीय जनप्रतिनिधि और सरकारी अधिकारी, कूटनीतिक आदि पीओके के मंत्रियों और अधिकारियों के साथ मंच शेयर नहीं करते हैं। देर शाम तक भी यह स्पष्ट नहीं हो सका कि भारत ने इसके विरोध में इस्लामाबाद को कोई प्रतिक्रिया औपचारिक तौर पर भी दी।बता दें कि पाकिस्तान के न्योते को अस्वीकार करते हुए भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा है कि भारत सार्क सम्मेलन में शामिल नहीं होगा। सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को दो-टूक कह दिया कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती है।

नई दिल्ली। एडिलेड टेस्ट मैच भारतीय टीम के साथ-साथ चेतेश्वर पुजारा के लिए भी खास साबित हुआ। इस मैच में भारतीय टीम ने इतिहास रच दिया तो पुजारा को उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। भारतीय टीम की इस जीत में वैसे तो कई खिलाड़ियों का योगदान रहा लेकिन सबसे अहम रोल पुजारा का ही रहा। पुजारा ने मेजबान टीम के गेंदबाजों को जमकर छकाया और शतक भी लगाया। पुजारा द्वारा मैन ऑफ द मैच का खिताब जीतने के बाद बीसीसीआइ ने भी ट्वीट कर उन्हें बधाई दी। पहली पारी में पुजारा ने संघर्ष कर रहे भारतीय टीम को मुसीबत से निकाला और 246 गेंदों पर 123 रनों की बेहतरीन पारी खेली। उनकी इस पारी ने भारतीय टीम को फ्रंट फुट पर ला दिया। इसके बाद दूसरी पारी में भी उन्होंने 204 गेंदों का सामना करते हुए 71 रन की शानदार पारी खेली। उनकी इस शानदार बल्लेबाजी के बाद उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। इस खिताब को जीतने के बाद उन्हें काफी लोगों ने बधाई दी लेकिन बीसीसीआइ का बधाई संदेश सबसे खास रहा। बीसीसीआइ ने बधाई के साथ-साथ वर्ष 2003 में एडिलेड में मिली यादगार जीत को फिर से याद किया। इस मैच में राहुल द्रविड़ मैन ऑफ द मैच बने थे और उन्होंने भारतीय टीम की जीत में वही भूमिका निभाई थी जो पुजारा ने इस बार निभाई। वर्ष 2003 में खेले गए उस मैच में द्रविड़ ने पहली पारी में 233 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी और दूसरे मैच में उन्होंने नाबाद 72 रन की पारी खेलकर भारतीय टीम को जीत दिलाई थी। इन दोनों जीत में सबसे कॉमन बात ये रही कि नंबर तीन के बल्लेबाज की वजह से ही टीम इंडिया को जीत मिली थी। इस जीत को याद करते हुए बीसीसीआइ ने ट्वीट किया। अपने ट्वीट में बीसीसीआइ ने लिखा कि इतिहास ने खुद को दोहराया। वर्ष 2003 एडिलेड टेस्ट में नंबर तीन द्रविड़ प्लेयर ऑफ द मैच बने और वर्ष 2018 में टीम के नंबर तीन बल्लेबाज पुजारा मैन ऑफ द मैच बने।

 

 

नई दिल्ली। एडिलेड टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 31 रन से हरा दिया और इस टेस्ट सीरीज में बेहतरीन शुरुआत की। इस मैदान पर भारतीय टीम को किसी टेस्ट मैच में 15 वर्ष बाद जीत नसीब हुई। इससे पहले वर्ष 2003 में भारत ने यहां जीत दर्ज की थी। इस जीत के बाद टीम इंडिया के खिलाड़ी तो खुश थे ही कोच रवि शास्त्री भी काफी खुश नजर आए। भारत की जीत के बाद कोच रवि शास्त्री मैदान पर आए और इस जीत पर अपनी बातें कही। इस दौरान गावस्कर से बातचीत करते हुए कुछ ऐसा कह गए जिसके बाद वो फैंस के निशाने पर आ गए हैं। शास्त्री बात करते हुए टीम और खिलाड़ियों का जिक्र किया साथ ही साथ उन्होंने मैच के रोमांच के बारे में भी कुछ बातें कही। इसके अलावा भावना में बहकर वो हिंदी में कुछ अपशब्द भी कह गए। सुनील गावस्कर की बात पर शास्त्री ने कहा कि वो हिंदी में कुछ कहना चाहते हैं। उन्होंने कहा बिल्कुल नहीं छोड़ेंगे लेकिन उसके बाद उन्होंने ऐसी बात कही जो शायद उनके लिए शोभा नहीं देता था। उनके इस अपशब्द के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जाने लगा है। हांलांकि उन्होंने जो बातें कही थीं उसे लिखना यहां उचित नहीं है।फिलहाल शास्त्री को जबरदस्त तरीके से ट्रोल किया जा रहा है।आपको बता दें कि भारत ने ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 323 रन का लक्ष्य दिया था लेकिन कंगारू टीम 291 रन पर ऑल आउट हो गई और भारत को 31 रन से जीत मिली। भारत अब चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे है।

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी कर्ज की दरों मे इजाफा कर दिया है। सोमवार को बैंक ने एमसीएलआर दरों में 5 बेसिस प्वाइंट (0.05 फीसद) का इजाफा किया है। इस इजाफे के साथ ही एसबीआई के एक वर्ष की एमसीएलआर अब 8.55 फीसद होगी। आपको बता दें कि एमसीएलआर एक बेंचमार्क दर होती है। ये वो दर होती है जिस पर किसी बैंक से मिलने वाले ब्याज की दर तय होती है। इससे कम दर पर देश का कोई भी बैंक लोन नहीं दे सकता है, सामान्य भाषा में यह आधार दर ही होती है।
SBI के इस फैसले का असर?:-एसबीआई की ये नई एमसीएलआर दरें आज से ही (10 दिसंबर 2018) प्रभावी हो गई हैं। अब इस इजाफे के बाद होम लोन, ऑटो लोन और अन्य तरह के लोन का महंगा होना तय माना जा रहा है। आसान शब्दों में अगर समझें तो अगर आपने होम लोन ले रखा है तो आपकी ईएमआई इसी महीने से बढ़ जाएगी।एसबीआई की ओवरनाइट एमसीएलआर अब 8.20 फीसद हो गई है। तीन महीनों की एमसीएलआर 8.25 फीसद जबकि छह महीने की एमसीएलआर 8.40 फीसद हो गई है। इसके अलावा एक वर्ष के लिए एमसीएलआर 8.55 फीसद हो गई है। यह जानकारी एसबीआई की वेबसाइट पर दर्ज है। एमसीएलआर में इजाफे के साथ ही बैंक ने बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट (बीपीएलआर) और बेस रेट को भी बढ़ाकर क्रमश: 13.80 फीसद और 9.05 फीसद कर दिया है। इन दोनों में 5 बेसिस प्वाइंट का इजाफा किया गया है।

Page 10 of 3439

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें