Editor

Editor


कैंडी - इंग्लैंड ने बारिश से प्रभावित चौथे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में शनिवार को यहां मेजबान श्रीलंका को डकवर्थ लुईस पद्वति से 18 रन से हराकर पांच मैचों की श्रृंखला में 3-0 से अजेय बढ़त बनाई।
इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 274 रन का लक्ष्य था। उसने जब 27 ओवर में दो विकेट पर 132 रन बनाए थे तभी बारिश आ गई जिसके बाद आगे का खेल संभव नहीं हो पाया। डकवर्थ लुईस पद्वति से इंग्लैंड को उस समय दो विकेट पर 115 रन की दरकार थी।
श्रीलंका ने इससे पहले दासुन शनाका (66) और सलामी बल्लेबाज निरोशन डिकवेला (52) के अर्धशतकों की मदद से सात विकेट पर 273 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था।
जेसन रॉय (45) ने एलेक्स हेल्स (12) के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 52 रन जोड़े। इन दोनों के आउट होने के बाद जो रूट (नाबाद 32) और कप्तान इयोन मोर्गन (नाबाद 31) ने कुशलता से पारी आगे बढ़ाई। इन दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 56 रन की अटूट साझेदारी की। श्रीलंका की तरफ से आफ स्पिनर अकिला धनंजय ने 27 रन देकर दो विकेट लिए।
इससे पहले शनाका ने अपनी पारी में पांच छक्के और चार चौके लगाए और एकदिवसीय मैचों में अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया। इंग्लैंड की तरफ से मोईन अली सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 55 रन देकर दो विकेट लिए।
डिकवेला ने कप्तान दिनेश चंदीमल (30) के साथ दूसरे विकेट के लिए 60 रन जोड़कर पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाली अपनी टीम को सदीरा समरवीरा (एक) के जल्दी आउट होने के झटके से उबारा।
तिसारा परेरा (44) और अकिला धनंजय (नाबाद 32) ने अंतिम ओवरों में सातवें विकेट के लिए 56 रन की साझेदारी करके श्रीलंका को अच्छे स्कोर तक पहुंचाया।
इन दोनों टीमों के बीच पहला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था जबकि अन्य मैच भी खराब मौसम से प्रभावित रहे। पांचवां और अंतिम मैच 23 अक्टूबर को कोलंबो में खेला जाएगा।


बेंगलुरू - मुंबई ने विजय हजारे ट्राफी के फाइनल में दिल्ली को चार विकेट से हराकर तीसरी बार विजय हजारे ट्राफी का खिताब अपने नाम किया। इस मैच में मुंबई की जीत के हीरो रहे आदित्य तारे। तारे ने मुंबई के लिए 71 रन की पारी खेलकर अपनी टीम की जीत सुनिश्चित कर दी। तारे को उनकी इस शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच के खिताब से भी नवाज़ा गया।
ऐसे जीती मुंबई
खिताबी मुकाबले में पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली की टीम मुंबई के अटैक के सामने टिक नहीं पाई और 177 रन पर ही सिमट गई। 178 रन की चुनौती को मुंबई की टीम ने 6 विकेट खोकर 35 ओवर में ही हासिल कर लिया। मुंबई की ओर से शिवम दुबे और धवल कुलकर्णी ने 3-3 विकेट लिए. वहीं आदित्य तारे 71 और सिद्देश लाड ने 48 रन बनाकर टीम को जीत दिलाई।
नवदीप ने जगाई आस
178 रन की पीछा करने उतरी मुंबई की टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। मुंबई ने 25 रन के स्कोर तक ही तीन विकेट गंवा दिए थे। खास बात ये है कि मुंबई को ये तीनों ही झटके दिल्ली के तेज़ गेंदबाज़ नवदीप सैनी ने ही दिए। नवदीप ने मुंबई की पारी की तीसरी गेंद पर ही पृथ्वी शॉ को 8 रन पर बोल्ड कर दिया। इससे पहले शॉ ने नवदीप की दोनों गेंदों पर बाउंड्री लगाई थी। इसके बाद सैनी ने रहाणे को भी एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया। इसके बाद भी सैनी नहीं रूके और उन्होंने सूर्य कुमार यादव (04) को नीतिश राणा के हाथों कैच आउट करवाकर दिल्ली की टीम की उम्मीदें जगा दी थी। इसके बाद 40 रन के स्कोर पर मुंबई के कप्तान श्रेयस अय्यर भी आउट हो गए, लेकिन इसके बाद आदित्य तारे और सिद्देश लाड की 105 रन की साझेदारी ने मुंबई की मैच में वापसी कर दी।
दिल्ली ने की खराब बल्लेबाज़ी
दिल्ली की शुरुआत काफी खराब रही और दो रन पर ही कप्तान गौतम गंभीर के रूप में पहला विकेट गंवा दिया और इसके बाद 17 पर उन्मुक्त चंद कुलकर्णी की गेंद पर रहाणे को कैच थमा बैठे। दिल्ली की टीम अभी इन दो बड़े झटकों से संभली भी नहीं थी कि 21 रन देशपांडे ने मनन शर्मा के रूप में टीम को तीसरा झटका दे दिया। शौरी और राणा को इसके बाद संभलकर बल्लेबाजी करते हुए टीम को संभालने की कोशिश की, लेकिन 60 रन पर राणा पवेलियन लौटे गए।
इसके बाद शौरी ने हिम्मत सिंह के साथ मिलकर एक अच्छी साझेदारी बनाने की कोशिश की और टीम को 80 के पार ले गए, लेकिन अगले ही पल शौरी के रूप में टीम को पांचवां झटका लगा। हालांकि एक छोर पर हिम्मत ने टीम को संभालकर कर रखा था, लेकिन दूसरे छोर पर उन्हें साथ मिल पा रहा था और जैसे तैसे ललित के साथ मिलकर टीम को 100 पर लेकर आए ही थे, ललित कुलकर्णी की गेंद पर तारे के हाथों कैच आउट हो गए।


गुवाहाटी - भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच वनडे सीरीज़ का आगाज़ रविवार को गुवाहाटी में खेले जाने वाले पहले वनडे मैच से होगा। इस मैच में टीम इंडिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज़ रिषभ पंत को 50-50 ओवर के क्रिकेट में अपना डेब्यू करने का मौका मिल सकता है। बीसीसीआइ ने पहले वनडे मैच के लिए जिन 12 खिलाड़ियों के नाम का एलान किया है उनमें पंत का नाम भी शामिल है।
ऐसे मिले संकेत
बीसीसीआइ ने तो पहले वनडे के लिए चुने गए 12 खिलाड़ियों के नामों में रिषभ पंत का नाम शामिल किया ही, लेकिन पंत ने तो इससे पहले ही रिषभ पंत ने एक ट्वीट किया। ट्वीट ने पंत ने लिखा कि, क्रिकेट के मैदान में हमेशा ही 100 फीसदी देने के लिए तैयार रहता हूं। मुझसे अब और इंतज़ार नहीं हो रहा है मैं वेस्टइंडीज़ के खिलाफ पहला वनडे मैच खेलने के लिए तैयार हूं।
पंत ने टेस्ट मैचों में अपनी बल्लेबाजी से काफी प्रभावित किया था। ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ शतक जड़ने के बाद उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 92 रन की दो पारियां खेली थी। पंत को नंबर पांच पर बल्लेबाज़ी के लिए उतारा जा सकता है। पंत को दिनेश कार्तिक की जगह टीम में लिया गया है। ऐसे में पंत पर अच्छा प्रदर्शन करने का थोड़ा दबाव भी होगा।
महेंद्र सिंह धौनी पर फिर से सभी की निगाहें टिकी रहेंगी जो हाल के दिनों में बल्ले से अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये हैं। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद हालांकि स्पष्ट कर चुके हैं कि विश्व कप तक धौनी पहली पसंद के विकेटकीपर बने रहेंगे।
पंत के वनडे टीम में चुने जाने से मौजूदा समय में भारतीय टीम में महेंद्र सिंह धौनी के अलावा दो विकेटकीपर हो गए हैं। पंत ने पिछले साल टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने भारत के लिए अब तक पांच टेस्ट और चार टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं।
भारतीय क्रिकेट टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली इस सीरीज के लिए टीम में लौट आए हैं। कोहली के लौटने से लोकेश राहुल को बाहर जाना पड़ा है। वहीं हार्दिक पांड्या अभी भी टीम से बाहर हैं।
गेंदबाजी में मोहम्मद शमी और उमेश यादव भी वापसी करने में सफल रहे हैं। वहीं, तेज गेंदबाज खलील अहमद को भी टीम में शामिल किया गया है।


गुवाहाटी - भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि भारतीय टीम में नंबर चार की पोजिशन पर कौन बल्लेबाजी करेगा ये समस्या खत्म हो जाएगी अगर अंबाती रायडू इस नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी करते हुए खुद को स्थापित कर लें। विराट ने कहा कि इस वक्त टीम में नंबर चार पर कौन बल्लेबाजी करेगा ये हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है। हाल के वक्त में इस नंबर पर अंबाती रायडू ने अच्छी बल्लेबाजी की है। उनकी वजह से हमारी बल्लेबाजी का क्रम लगभग तय हो गया है।
भारतीय कप्तान कोहली ने कहा कि हम लंबे समय से नंबर चार पर बल्लेबाजी के लिए सही विकल्प की तलाश कर रहे थे। हमने इस स्थान पर कई बल्लेबाजों को ट्राई किया लेकिन कोई भी इस क्रम पर खुद को स्थापित नहीं कर पाया। एशिया कप में रायडू ने टीम में वापसी करते हुए अच्छी बल्लेबाजी की। अब अगले विश्व कप तक हम उन्हें पर्याप्त मौका देना चाहते हैं जिससे कि हमारी ये समस्या खत्म हो जाए। रायडू ने इस आइपीएल में अच्छी बल्लेबाजी की थी और उन्होंने 43 की औसत से 602 रन बनाए थे और उनका स्ट्राइक रेट 149.75 का था, लेकिन इसके बाद वो यो-यो टेस्ट में फेल होने की वजह से वो इंग्लैंड दौरे का हिस्सा नहीं बन पाए थे। इसके बाद एशिया कप में उन्होंने वापसी करते हुए टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन किया था।
विराट ने कहा कि अंबाती के बारे में मेरी और टीम की का भी यही सोचना है कि वो मीडिल ऑर्डर में खेलने के लिए बने हैं। मुझे लगता है कि अब टीम का मध्यक्रम लगभग संतुलित हो गया है। हमें लगता है कि इस नंबर पर बल्लेबाजी केे लिए वो सबसे सही खिलाड़ी हैं। उनके पास काफी अनुभव है और उन्होंनेे अपने राज्य की टीम व आइपीएल के लिए कई मैच जीते हैं। भारत के लिए भी उनका वनडे रिकॉर्ड काफी शानदार है। मुझे लगता है कि अब बल्लेबाजी क्रम की परेशानी खत्म हो गई है। भारत को विश्व कप से पहले कुल 18 वनडे मैच खेलने हैं जिसमें वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैच भी शामिल हैं। इन 18 मैचों के जरिए हम विश्व कप से लिए संभावित सही विकल्प की तलाश करेंगे।
एशिया कप में विराट की गैरमौजूदगी में अंबाती ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए छह पारियों में 43.75 की औसत से 175 रन बनाए थे। अब नंबर चार पर उन्हें प्रयोग के तौर पर आजमाया जाएगा। विराट ने कहा कि हमारा बल्लेबाजी क्रम तय है और नंबर चार के बाद के बल्लेबाज परिस्थिति के हिसाब से किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। टीम के लिए सबसे अच्छी बात ये होती है कि आप किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी के लिए तैयार रहें। विराट ने बाएं हाथ के गेंदबाज खलील अहमद के बारे में कहा कि हमें जहीर और आशीष नेहरा के बाद हमें बाएं हाथ का तेद गेंदबाज मिला है। उनकी मौजूदगी से हमारे पास विकल्प होगा। उनमें गेंद को दोनों तरफ स्विंग कराने की क्षमता है साथ ही उनके पास अच्छे बाउंसर भी हैं। उनकी गेंद में तेजी भी है। खलील के टीम में होने से भुवी और बुमराह को काफी मदद मिल सकती है।


ओडेन्से (डेनमार्क) - डेनमार्क ओपन में दो भारतीय खिलाड़ी सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं। महिला सिंगल्स में सायना नेहवाल ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को 58 मिनट तक चले मुकाबले पहला गेम गंवाने के बाद हराया। ओकुहारा की रैंकिंग नंबर-7 है। सायना ने 17-21 से पहला गेम गंवाया, लेकिन इसके बाद उन्होंने 21-16 और 21-12 से लगातार दो गेम जीतकर सेमीफाइनल का टिकट कटा लिया। वहीं मेंस सिंगल्स में किदांबी श्रीकांत ने हमवतन समीर वर्मा को 1 घंटे 18 मिनट तक चले मुकाबले में 22-20, 19-21, 23-21 से हराया।
समीर ने पहला गेम गंवाने के बाद दूसरा गेम जीता, लेकिन फाइनल गेम में लय बरकरार नहीं रख सके और मैच गंवा दिया। शनिवार को किदांबी का मुकाबला जापान के केंटो मोमोटा से होना है, जबकि सायना को इंडोनेशिया की मरिस्का तुनजुंग की चुनौती का सामना करना होगा। विमेंस सिंगल्स में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी को युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोटा की जोड़ी के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा और इस तरह से विमेंस डबल्स में भारतीय चुनौती खत्म हो गई।


गुवाहाटी - बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी तक भारतीय टीम मजबूत दिख रही है लेकिन इसके बावजूद वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार से शुरू होने वाली पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में वह अगले साल होने वाले विश्व कप से पहले मध्यक्रम की पहेली को सुलझाने की कोशिश करेगी।
इंग्लैंड में आठ महीने से भी कम समय में विश्व कप शुरू हो जाएगा और भारत के पास अपने मध्यक्रम को व्यवस्थित करने के लिये केवल 18 मैच ही बचे हैं। इनमें भी नंबर चार स्थान विशेष है जिसमें अब तक कई बल्लेबाज आजमाए जा चुके हैं लेकिन कोई भी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरा।
इस श्रृंखला से कप्तान विराट कोहली भी सीमित ओवरों की क्रिकेट में वापसी करेंगे। एशिया कप में उन्हें विश्राम दिया गया था। संभावना है कि कोहली मध्यक्रम में नया संयोजन आजमाने की कोशिश करेंगे और ऐसे में रिषभ पंत को वनडे में पदार्पण का मौका मिल सकता है। उन्होंने टेस्ट मैचों में अपनी बल्लेबाजी से काफी प्रभावित किया था तथा ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ शतक जड़ने के बाद वेस्टइंडीज के खिलाफ 92 रन की दो पारियां खेली थी।
पंत को दिनेश कार्तिक की जगह टीम में लिया गया है। वह पहले वनडे के लिये चुनी गई 12 खिलाड़ियों की टीम में शामिल हैं लेकिन उन पर अच्छा प्रदर्शन करने का थोड़ा दबाव भी होगा।
महेंद्र सिंह धौनी पर फिर से सभी की निगाहें टिकी रहेंगी जो हाल के दिनों में बल्ले से अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये हैं। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद हालांकि स्पष्ट कर चुके हैं कि विश्व कप तक धौनी पहली पसंद के विकेटकीपर बने रहेंगे।
धौनी एशिया कप में फार्म में नहीं दिखे। उनहोंने चार पारियों में 19.25 के औसत और 62.09 के स्ट्राइक रेट से 77 रन बनाए। इस साल अभी तक उन्होंने 15 मैचों में जो दस पारियां खेली हैं उनमें 28.12 की औसत और 67.36 के स्ट्राइक रेट से रन बनाये हैं।
शीर्ष तीन बल्लेबाजों की जगह तय है ऐसे में अंबाती रायुडु को नंबर चार पर उतारा जा सकता है जिनसे एशिया कप वाली फार्म बरकरार रखने की उम्मीद है। उन्होंने एशिया कप में छह पारियों में 175 रन बनाये थे। मनीष पांडे के लिये हालांकि समय तेजी से निकल रहा है क्योंकि वह टीम में अपनी जगह पक्की करने में नाकाम रहे हैं।
भारत को चोटिल हार्दिक पांड्या की अनुपस्थिति में निचले क्रम में आलराउंडर रविंद्र जडेजा की सेवाएं भी मिलेंगी। उन्होंने एशिया कप में एक साल बाद वनडे में वापसी की और फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला में भी अच्छा प्रदर्शन किया।
भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह पहले दो वनडे में नहीं खेल पाएंगे लेकिन मोहम्मद शमी और उमेश यादव कोशिश करेंगे कि टीम को उनकी कमी नहीं खले। कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी फिर से अहम भूमिका निभाएगी।
एशिया कप में दो मैचों में प्रभावशाली प्रदर्शन करने वाले बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद भी मौके का फायदा उठाने की कोशिश करेंगे।
टेस्ट के विपरीत वनडे में वेस्टइंडीज की टीम अधिक प्रतिस्पर्धी नजर आती है। टीम को हालांकि क्रिस गेल और आंद्रे रसेल की कमी खलेगी। इविन लुईस का निजी कारणों से हटने से भी टीम को झटका लगा है। यही नहीं कोच स्टुअर्ट लॉ आइसीसी आचार संहिता के उल्लंघन के कारण पहले दो वनडे में ड्रेसिंग रूम में नहीं आ पाएंगे जहां खिलाड़ियों की उनकी जरूरत पड़ेगी।
वेस्टइंडीज के पास हालांकि अनुभवी मर्लोन सैमुअल्स, कप्तान और आलराउंडर जेसन होल्डर और तेज गेंदबाज केमार रोच हैं। बारसपारा स्टेडियम में यह दूसरा अंतरराष्ट्रीय मैच होगा। पिछले साल यहां भारत और आस्ट्रेलिया के बीच टी20 मैच खेला गया था। तब आस्ट्रेलियाई टीम की बस पर पत्थर फेंके गए थे जिसके कारण यह मैच चर्चा में रहा था। मैच भारतीय समयानुसार दोपहर बाद एक बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा।
टीमें इस प्रकार हैं :
भारत (अंतिम 12 खिलाड़ी) :
विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, अंबाती रायुडु, ऋषभ पंत, महेंद्र सिंह धोनी, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, मोहम्मद शमी, उमेश यादव और के खलील अहमद,।
वेस्टइंडीज:
जेसन होल्डर (कप्तान), फैबियन एलेन, सुनील एम्ब्रिस, देवेंद्र बिशू, चंद्रपॉल हेमराज, शिमोन हेटमेयर, शाई होप, अलज़ारी जोसेफ, कीरेन पॉवेल, एशले नर्स, कीमो पॉल, रोवमैन पॉवेल, केमार रोच, मर्लन सैमुअल्स, ओशैन थॉमस और ओबेड मैककोय।

 


नई दिल्ली - भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच 21 अक्टूबर (रविवार) को खेले जाने वाले पहले वनडे मैच के लिए बीसीसीआइ ने 12 खिलाड़ियों के नाम की घोषणा कर दी है। पहला वनडे मैच गुवाहाटी में खेला जाएगा।
बीसीसीआइ ने मैच से एक दिन पहले ही 12 खिलाड़ियों के नाम का एलान कर दिया। बोर्ड ने ये जानकारी एक ट्वीट कर दी।
कैरेबियाई टीम के खिलाफ होने वाले पहले मैच के लिए जिन खिलाड़ियों को मौका मिला है। उनके नाम हैं विराट कोहली, शिखर धवन, रोहित शर्मा, अंबाती रायुडू, रिषभ पंत, महेंद्र सिंह धौनी, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, उमेश यादव, मोहम्मद शमी और खलील अहमद।
बीसीसीआइ ने 12 खिलाड़ियों के नाम का एलान किया है, लेकिन इनमें से 11 खिलाड़ी ही पहले एकदिवसीय मैच में खेलेंगे। साफ है कि 12 खिलाड़ियों में से एक को बाहर बैठना होगा और वो कौन सा एक प्लेयर होगा इसका फैसला मैच से पहले ही लिया जाएगा।


नई दिल्ली - पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 1-0 से हारने वाली ऑस्ट्रेलिया के लिए थोड़ी राहत की खबर आ रही है। दरअसल इस समय ऑस्ट्रेलिया की टीम कई खिलाड़ियों की चोट की परेशानी से जूझ रही है, वहीं स्मिथ और वॉर्नर जैसे बल्लेबाज बैन की वजह से बाहर है। इसका सीधा असर इस टीम पर भी पड़ रहा है। लेकिन अब इस टीम के मुख्य गेंदबाज जोस हेजलवुड और पैट कमिंस चोट के बाद टीम में वापसी के लिए पूरी तरह से तैयार है।
हेजलवुड ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज से पहले फिट हो जाएंगे। हेजलवुड ने कहा कि 4 दिनों का अभ्यास मैच खेलने के बाद मैं थोड़ी तकलीत महसूस कर रहा हूं लेकिन फिर भी मैं पहले से बेहतर महसूस कर रहा हूं। मैं और पैट कमिंस दोनों ही अपनी रिकवरी से खुश हैं। अभी हमें दूसरा प्रैक्टिस मैच भी खेलना है लेकिन इस मैच में भी सब कुछ सही रहा। हमनें करीब 200 ओवर मैदान पर बिताए और 20 ओवर गेंदबाजी भी की। ये हमारी लिए साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से पहले अच्छा है।
ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज का आगाज 4 नवंबर से पर्थ में होगा। हेजलवुड अब फिट होने की उम्मीद तो जता रहे है लेकिन उन्हें ये नहीं पता कि टीम मैनेजमेंट उन्हें चुनेंगे या नही।
यूएई में हाल ही में हुई टेस्ट सीरीज में उपकप्तान बनाए गए हेजलवुड ने कहा कि मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि भविष्य में भी मुझे ये जिम्मेदारी मिलेगी या नहीं। मैं पहली बार इतने लंबे समय के लिए टीम से बाहर हुआ हूं। इस दौरान मैंने काफी सीमित ओवर की क्रिकेट नहीं खेली है। इसलिए मैं केवल फिर से सफेद गेंद का क्रिकेट खेलने के बारे में सोच रहा हूं। ऐसा कम ही होता है, पैटी (पैट कमिंस) और मैने इस बारे में बात की है। हम इंतजार नहीं कर सकते हैं।”


बीजिंग - दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था चीन लगातान अपनी ताकत में इजाफा कर रहा है। फाइटर जेट से लेकर पनडुब्‍बी और युद्धपोत बनाने के बाद अब चीन ने एक ऐसा विमान बनाया है जो पानी और जमीन दोनों पर उतर सकता है और दोनों ही जगहों से उड़ान भी भर सकता है। इस तरह के विमानों को उभयचर विमान या एंफीबियस प्‍लेन कहा जाता है।
इस विमान का कोड नेम एजी 600 कुनलोंग है जिसका सफलतापूर्वक परिक्षण किया जा चुका है। यह इस तरह का दुनिया का सबसे बड़ा विमान है। इतना ही नहीं यह पूरी तरह से चीन में बनाया गया है। स्‍थानीय मीडिया के मुताबिक इस विमान को एविएशन इंडस्‍ट्री कारपोरेशन ऑफ चाइना द्वारा तैयार किया गया है। टेस्‍ट फ्लाइट के दौरान इसको शनिवार को स्‍थानीय समयानुसार सुबह करीब 8:51 पर झांगी रिजर्वोयर पर उतारा गया। यह जगह जिंगमेन प्रांत में स्थित है। परिक्षण के समय इस विमान पर पायलट संग कुल चार लोग जिसमें क्रू मेंबर शामिल थे, सवार थे। इससे पहले इस विमान इसी माह की शुरुआत में इस विमान का पहली बार 145 किमी प्रति घंटे की स्‍पीड पर वाटर टेक्सिंग ट्रायल किया गया था।
इस विमान की खासियत यह भी है कि इसका इंजन भी पूरी तरह से देश में ही बनाया गया है। इसके अलावा यह 12 घंटे तक लगातार उड़ान भर सकता है। समुद्र में बचाव के दौरान यह विमान अहम भूमिका निभा सकता है। इसके अलावा जंगलों की आग बुझाने, समु्द्री सीमाओं की निगरानी में भी यह कारगर भूमिका निभा सकता है। इस विमान के परिक्षण की शुरुआत पिछले वर्ष दिसंबर में हुई थी, इसके बाद से इसके कई चरण के परिक्षण हो चुका है। इस दौरान इसके आठ बार टेक्सिंग टेस्‍ट भी हुए जिसमें इससे 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तर से लेकर 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक उड़ाकर पानी का छिड़काव किया गया था। इस विमान की लंबाई करीब 37 मीटर है जो लगभग बोइंग 737 के ही बराबर है।
चीन दुनिया का सबसे बड़ा एंफीबियस वारशिप बना रहा है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि चीन की नौसेना अमे‍रिका के बाद दूसरी सबसे ताकतवर नौसेना है। यह वारशिप अगले वर्ष 2019 तक बनकर तैयार हो जाएगा और 2020 में इसको सेना में शामिल कर लिया जाएगा। इसको बनाने के पीछे दक्षिण चीन सागर पर अमेरिका से बढ़ता तनाव है। लिहाजा चीन की योजना इस युद्धपोत को वहां पर तैनात करने की है।
20 जून 2016 में चीन ने अपने नए सुपरकंप्‍यूटर की शुरुआत पूर्वी चीन के वूक्‍सी से की थी। यह इलाका जियांग्‍सू प्रांत में आता है। इसको जर्मनी में हुई कांफ्रेंस में इसे दुनिया के सबसे तेज कंप्‍यूटर का दर्जा दिया गया था। इसको पूरी तरह से चीन में ही बनाया गया था। यह सुपरकंप्‍यूटर 93 बिलियन प्रति सैकेंड की गति से गणना कर सकता है।
आपको यहां पर बता दें कि चीन के गुईझाऊ प्रांत में दुनिया का सबसे बड़ा रेडियो टेलिस्‍कोप लगा है। आधा किमी के दायरे में बने इस टेलिस्‍कोप की शुरुआत 25 सिंतबर 2016 में हुई थी। चीन ने इस पर 180 मिलियन यूएस डॉलर का खर्च किया है। इसको बनने में करीब पांच वर्षों का समय लगा है।

 


कराची - पाकिस्तान की एक सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत महिला को फरमान सुनाया गया कि वो वर्कप्लेस पर हिजाब पहनकर आना छोड़ दे। अगर वह ऐसा नहीं कर सकती तो नौकरी छोड़ सकती है। किसी मुस्लिम बहुल देश में हिजाब को लेकर आपत्ति का यह शायद पहला मामला है।
इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा हो गया। इसके बाद क्रिएटिव किओस कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जावेद कादिर ने मामले की जिम्‍मेदारी लेते हुए अपना इस्तीफा दे दिया।
महिला ने बताया कि एक मैनेजर ने उससे कहा कि अगर वह नौकरी करना चाहती है तो उसे हिजाब पहनकर आना छोड़ना होगा। हिजाब पहनने से कंपनी की छवि खराब हो रही है। महिला के मुताबिक, उसे नौकरी छोड़ने के लिए दो इस्लामिक बैंकों में वैकल्पिक नौकरी का ऑफर दिया गया है।
सीईओ कादिर ने इस घटनाक्रम को लेकर माफी मांगी है। कादिर ने कहा, 'हमारे स्टाफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक साथी से अनैतिक व्यवहार करते हुए इस्तीफा मांगा। मैं इस मामले की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं। सहकर्मी को हुए तनाव के कारण मैं शर्मिंदा भी हूं।'
कादिर ने बताया कि पीड़ित महिला को अपना इस्तीफा वापस लेने और नौकरी जारी रखने के लिए कहा गया है। इसके अलावा संबंधित मैनेजर पर भी कार्रवाई की जा रही है। कादिर ने कंपनी को ईमेल लिखा कि इस मामले में सिर्फ माफी मांगना काफी नहीं है। वे सॉफ्टवेयर कंपनी के सीईओ के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। कादिर ने ईमेल की कॉपी फेसबुक पर भी पोस्ट की है।

Page 8 of 3260

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें