Editor

Editor

 

नयी दिल्ली - अमेरिका के कैलीफोर्निया में रविवार को एक अज्ञात व्यक्ति ने तेलंगाना के 26 साल के एक व्यक्ति को गोली मारी दी, जिससे उसकी हालत गंभीर हो गई। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बताया कि मुबीन अहमद खतरे से बाहर है।
उन्होंने बताया कि उसका इडेन मेडिकल सेंटर में इलाज चल रहा है। मुबीन के पिता ने सुषमा स्वराज से जल्द वीजा दिलाने में मदद मांगी है, ताकि वह अपने बेटे के पास जा सकेंं।
पीड़ित मुबीन अहमद के मामा मोहम्मद असलम सुल्तान कासमी ने कहा कि कैलीफोर्निया के एक विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग में परास्नातक करने वाले मुबीन को एक दुकान में एक व्यक्ति ने गोली मारी। इस दुकान में वह काम करता था। आरोपी के गुट की स्टाफ से कहासुनी हुई थी।
उन्होंने कहा कि मुबीन के फेफड़ों, यकृत और किडनी में चोटें आई हैं और उसे फिलहाल कैलीफोर्निया के पास कास्त्रो वैली के एक अस्पताल में आईसीयू में रखा गया है।
नयी दिल्ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि सरकार कैलीफोर्निया में गोली के शिकार भारतीय व्यक्ति को लेकर अमेरिकी पुलिस के साथ इस मामले पर नजर रखे हुए है।

 

नई दिल्ली: भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कतर मुद्दे पर शनिवार को जानकारी देते हुए कहा कि भारत इन देशों के नियमित संपर्क में है और खाड़ी देशों ने भारतीयों के कुशल होने का भरोसा दिलाया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम खाड़ी क्षेत्र के उभरते हालात पर करीब से नजर रख रहे हैं। हमारा मानना है कि सभी पक्षों को अपने मतभेद सकारात्मक बातचीत के जरिए सुलझाने चाहिए। शांति के माहौल में होने वाली यह बातचीत अंतरराष्ट्रीय सिद्धांतों के मुताबिक होनी चाहिए। इसमें एक-दूसरे को सम्मान और सार्वभौमिकता का ख्याल रखा जाना चाहिए। दूसरे के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप नहीं किया जाना चाहिए।
'आतंकवाद दुनिया के लिए खतरा'
भारत का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद, चरमपंथी हिंसा और धार्मिक असहिष्णुता ना सिर्फ क्षेत्र की स्थिरता के लिए खतरा है बल्कि यह दुनिया भर की शांति और व्यवस्था के लिए भी खतरा है। इसका सभी देशों को मिलकर तालमेल के साथ और व्यापक तरीके से मुकाबला करना चाहिए। बयान के मुताबिक, इस क्षेत्र में रहने वाले भारतीयों को सलाह दी जाती है कि वे मदद की जरूरत होने पर भारतीय दूतावास या वाणिज्य दूतावास से संपर्क करें और उभरते हालात के प्रति सजग रहें। हाल ही में सऊदी अरब और कुछ अन्य देशों ने कतर पर आतंकवादी संगठनों को समर्थन देने का आरोप लगाते हुए राजनयिक रिश्ते तोड़ लिए, जिसके बाद तुर्की ने कतर के समर्थन में सेना भेजने की पेशकश की। इससे वहां तनाव और बढ़ गया है।

 

 

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़े किसान संघ के वरिष्ठ नेता ने मध्य प्रदेश में किसानों के उग्र आंदोलन के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी और राज्य की शिवराज सिंह चौहान सरकार को जिम्मेदार ठहराया। आरएसएस समर्थित भारतीय किसान संघ (बीकेएस) ने उपाध्यक्ष प्रभाकर केलकर ने कहा कि कि फसलों का कम दाम मिलने से परेशान किसानों को राहत पहुंचाने में केंद्र और राज्य सरकारें पूरी तरह नाकाम रही है। उन्होंने कहा कि किसानों में काफी लंबे वक्त से गुस्सा है। सरकार इसे समझ नहीं सकी और अब इस मुद्दे का पूरी तरह से राजनीतिकरण कर दिया गया।
केलकर ने कहा कि सरकार ने पिछले 3 वर्षों में किसानों को कई वादे किए। वहीं भाजपा के किसान मंच के प्रमुख विरेंद्र सिंह मस्त ने किसानों के विरोध प्रदर्शन को जायज ठहराते हुए कहा कि विरोध प्रदर्शन तो लोकतंत्र का हिस्सा है। मध्य प्रदेश के मालवा इलाके में बीते 1 जून से किसानों का आंदोलन चल रहा है। इस दौरान मंदसौर में किसानों पर पुलिस फायरिंग के बाद प्रदर्शनकारी और उग्र हो गए। ऐसे में अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य में शांति बहाली के लिए अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठ गए हैं।

 

भाेपालः मध्य प्रदेश में एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहा किसानाें के आंदोलन को शांत करने के लिए आज से भोपाल के दशहरा मैदान में उपवास पर बैठ गए हैं। ताे दूसरी तरफ उनके कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने इस अांदाेलन पर बड़ा बयान दिया है। अपने बयान में उन्हाेंने कहा कि चाहे किसान कितने भी उग्र हो जाएं, उनके कर्ज माफ करने का मतलब ही नहीं बनता, जब हमने किसाने से ब्याज नहीं लिया तो किस बात का कर्ज माफ होगा।
'10 दिनों से सुलग रही अांदाेलन की अाग'
बता दें कि मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में पिछले 10 दिनों से किसान आंदोलन की आग फैली हुई है। ये मामला मंदसौर से शुरू हुआ, जहां पुलिस फायरिंग में करीब 6 किसानों की मौत हो गई। इसके बाद गुस्साए किसानों ने आंदोलन को और बढ़ा दिया। मंदसौर के अलावा मध्य प्रदेश के सीहोर, फंदा और कई जगहों पर किसान लगातार विरोध कर रहे हैं। ऐसे में राज्य के कृषि मंत्री का ये बयान किसानों के गुस्से और भड़का सकता है, जो पहले से ही कर्ज माफी की मांग को लेकर अड़े हुए हैं। वहीं, किसानों ने भी साफ कर दिया है कि उनकी मांगे न माने जाने तक आंदोलन जारी रहेगा।

 

चंडीगढ़ः पंजाब के पर्यटन व सांस्कृतिक विभाग के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अपने बेबाक बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते है। लेकिन इस बार उनकी चर्चा संस्कृति से जुड़ें कलाकार की आर्थिक मदद करने को लेकर हो रही है।
सिद्धू ने दिए 8 लाख रुपए
बताया जा रहा है कि सिद्धू ने प्रसिद्ध पंजाबी नाटककार अजमेर औलख के इलाज का 8 लाख रुपए का बिल अपनी जेब से अदा किया है। पंजाब राजभवन में विरासती पर्यटन के बारे हुर्इ बैठक के दौरान जब उन्हें औलख की हालत और इलाज के खर्च के बारे बताया गया तो उन्होंने तुरंत वादा किया कि वह 8 लाख रुपए अपनी जेब से देंगे।
कैंसर से पीड़ित हैं औलख
सिद्धू ने मीटिंग के बाद निजी अस्पताल में जाकर औलख का हालचाल पूछा। साथ ही उनके परिजनों को इलाज के खर्च के रूप में 8 लाख रुपए का चैक दिया। सिद्धू ने कहा कि औलख पंजाबी साहित्य के महान रत्न हैं।

 

नई दिल्ली: अगर आप दिल्ली मेट्रो में सफर करते हैं, तो आपको सर्तक रहने की जरूरत है। इस साल जनवरी से मई तक जेबतराशी के मामलों में जो लोग पकड़े गए हैं, उनमें 77 फीसदी महिलाएं हैं। ये आंकड़े मेट्रो की सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ द्वारा जारी किए गए हैं।
सीआईएसएफ ने हाल में एक डाटा जारी किया है, जिसमें कई चौकाने वाले तथ्य उजागर हुए हैं। सामने आया है कि पिछली साल की तुलना मं इस साल जेबतलाशी के मामलों में तीन गुना की वृद्धि हुई है। इतना ही नहीं इस साल अब तक जेबतराशी में पकड़े गए 521 जेबतराशों में से से 401 यानी 77 फीसदी महिलाएं हैं। सीआईएसएफ ने कश्मीरी गेट, चांदनी चौक, शाहदरा, हुडा सिटी सेंटर, राजीव चौक, कीर्ति नगर, नई दिल्ली और तुगलाकाबाद स्टेशनों को चुनौती दी है, जिन्हें पिक पकेट्स जैसी वारदातों के लिए निशाना बनाया है।
इन घटनाओं को रोकने के लिए सीआईएसएफ ने पिछले महीने एक अभियान शुरू किया है। इस अभियान में चोर को पकडऩे के लिए एक टीम बनाई जाएगी, जिसमें एक सब-ऑफिसर और एक कॉन्सटेबल होगा जो संदिग्धों पर हर तरह से नजर रखेगा। इनकी मदद के लिए ग्राउंड पर स्टाफ तैयार रहेगा। टीम सादे कपड़ों में होगी जिससे वह लोगों के बीच में रहकर संदिग्धों को धर पकड़ पाएंगे।

 

देहरादून: बद्रीनाथ से हरिद्वार के लिए तीर्थयात्रियों को लेकर जा रहा एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना का शिकार हो गया। हादसे में चीफ इंजीनियर की मौत हो गई, जबकि दोनों पायलट घायल हैं। घटनाक्रम के अनुसार, सुबह करीब 7:40 बजे बद्रीनाथ से हरिद्वार को उड़ान भरते समय एक प्राइवेट कंपनी (क्रिस्टल इयर मुम्बई) का हेलीकॉप्टर हेलीपेड पर ही दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया।
'इंजीनियर के शरीर के हुए टुकड़े'
एसपी ‌तृप्ति भट्ट ने बताया कि हादसे में ब्लेट से कटने के कारण इंजीनियर की मौत हो गई। बाकी 5 यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है इस दर्दनाक हादसे में इंजीनियर का शरीर टुकड़े-टुकड़े हाेकर बिखर गया।

 

तेहरान: ईरान में भारत के रणनीतिक रूप से महत्व रखने वाले प्रोजैक्ट को विकसित करने में अमरीका रोड़ा बन रहा है। रणनीतिक महत्वाकांक्षाओं को अमरीका की वजह से झटका लग सकता है। ईरान में चाबहार पोर्ट को विकसित करने में लगे भारत को पश्चिमी देशों के मैन्युफैक्चरर्स निर्माण सामग्री मुहैया कराने से हिचकिचाने लगे हैं।
पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ईरान दौरे के समय भारत और ईरान के बीच चाबहार समझौता हुआ था। चाबहार के जरिए अफगानिस्तान पहुंचने के लिए भारत को पाकिस्तान के सहारे की जरूरत नहीं रह जाएगी। ईरान में चाबहार बंदरगाह को विकसित करने में लगे भारत को पश्चिमी देशों की कंपनियां निर्माण सामग्री मुहैया कराने से हिचक रही हैं। उन्हें डर सता रहा है कि ट्रंप प्रशासन फिर से ईरान पर प्रतिबंध लगा सकता है, ऐसे में निवेश करना उनके लिए जोखिम भरा हो सकता है।
2015 में अमरीका के ईरान पर प्रतिबंध हटाने के बाद भारत ने 2016 में इस पोर्ट के विकास के लिए 50 करोड़ डॉलर खर्च करने की बात कही थी, लेकिन चाबहार पोर्ट को विकसित करने वाली भारतीय फर्म अभी तक एक भी टेंडर आबटित नहीं कर पाई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान पर मध्य पूर्व देशों के लिए बड़ा खतरा होने का आरोप लगाया है। उन्होंने फरवरी में मिसाइल परीक्षणों को लेकर ईरान पर नए प्रतिबंध भी लगा दिए थे। चर्चा है कि अमरीका ईरान पर नए प्रतिबंध लगा सकता है। ऐसे कई कंपनियां चाबहार पोर्ट से जुड़े निर्माण कार्य के टैंडर में बोली लगाने से फिलहाल बच रही हैं।

 

दार्जीलिंग (प बंगाल) - गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) द्वारा बुलाए गए 12 घंटे के बंद के बीच सेना ने शुक्रवार को दार्जीलिंग, कलिमपोंग और कुसेर्योंग में फ्लैग मार्च किया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस बंद को अवैध बताया है।
जीजेएम प्रमुख बिमल गुरूंग ने ममता बनर्जी को पहाड़ी क्षेत्र में चल रहे प्रदर्शन को रोकने की चुनौती दी और कहा कि पहाड़ी में उनका आदेश चलता है। उन्होंने खुद को पहाड़ी क्षेत्र के मुख्यमंत्री के तौर पर भी पेश किया।
एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि कुल मिलाकर सेना की छह टुकड़ियों को तैनात किया गया है। दार्जीलिंग में तीन, कलिमपोंग में दो और कुसेर्योंग में एक टुकड़ी की तैनाती की गई है। राज्य सरकार की तरफ से कलिमपोंग और कुसेर्योंग में एहतियातन सेना के लिए अनुरोध किया गया था जबकि दार्जीलिंग में कल बड़े पैमाने पर हुई हिंसा और तोड़फोड़ के बाद सेना बुलाई गई थी। रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि इसके अलावा सीआरपीएफ की तीन कंपनियों को भी तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि सेना ने दार्जीलिंग, कलीमपोंग और कुसेर्योंग में फ्लैगमार्च किया और स्थिति नागरिक प्रशासन के नियंत्रण में है।
पर्यटकों से भरे दार्जीलिंग में कल उस वक्त काफी हिंसा हुई जब जीजेएम समर्थकों की पुलिस के साथ क्षड़प हुई और उन्होंने कई सरकारी गाड़ियों में आग लगा दी। दार्जीलिंग में दुकानें, खानेपीने की जगहें और बाजार आज भी बंद रहे यद्यपि प्रदेश सरकार ने बसों का इंतजाम किया है जिससे पर्यटक सिलिगुड़ी जा सकते हैं। ममता बनर्जी कल मंत्रिमंडल की बैठक के बाद यहीं रुक गई थीं और उन्होंने पर्यटकों से कहा कि डरने की जरूरत नहीं है।

 

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी सुरेश रैना ने बुधवार को अपनी बेटी ग्रेसिया के हेयरकट का एक वीडियो शेयर किया है। रैना की बेटी का ये क्यूट वीडियो लोगों द्वारा काफी पसंद भी किया जा रहा है। वीडियो में ग्रेसिया का हेयरकट हो रहा है और उस दौरान रैना ने ग्रेसिया को गोद में लिया हुआ है। बता दें कि कुछ समय पहले ही रैना ने बेटी ग्रेसिया के लिए ही अपने लुक्स चेंज किए थे।
बता दें कि आईपीएल खत्म होने के बाद रैना ने अपना लुक चेंज किया था। रैना ने वीडियो पोस्ट कर लिखा था कि मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरी बेटी को मेरी दाढ़ी पसंद नहीं है, इसलिए अपनी बेटी के लिए मैं नया लुक ला रहा हूं।

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें