Editor

Editor


नई दिल्ली - एक रिपोर्ट के मुताबिक नए एप्पल फोन की डिमांड पिछले साल के मुकाबले काफी घट गई है। AT&T की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के अपेक्षा को जिन लोगों ने अपने पुराने आईफोन बदले है उन लोगों में 9 लाख तक की गिरावट देखी गई है। आईफोन 8 और आईफोन X पिछले महीने लॉन्च हुआ था। आईफोन X के लॉन्च के बाद भी आईफोन 8 के डिमांड में गिरावट देखी गई है। लोग आईफोन 8 के बजाय आईफोन X के मार्केट में आने का इंतजार कर रहे है। हालांकि एक हफ्ते की आईफोन 8 की सेल को देखते हुए यह नहीं कहा जा सकता कि आईफोन 8 फ्लॉप हा या फेल।
मॉर्गन स्टैनले के सर्वे में बताया गया कि यूएस में 34% लोगों का कहना है कि अगर वे न्यू आईफोन लेंगे तो वे आईफोन x लेना पसंद करेंगे। अमरीका में आईफोन 8 की प्री ऑर्डर वॉल्यूम आईफोन 7 और आइफोन 6 के मुकाबले कम है। वहीं चीन में डिमांड और कम रही है। एप्पल दिसंबर क्वार्टर में 4900 करोड़ डॉलर से 5200 करोड़ डॉलर की सेल्स का अनुमान कर रही है। ऊपरी स्तर छूने पर सेल्स 3.3 लाख करोड़ रुपए के बराबर होगी। कंपनी के मुताबिक उसने इस सेल्स अनुमान में आईफोन एक्स में देरी के असर को भी जोड़ लिया है।


नई दिल्ली - दिवाली का त्योहार करीब आने के साथ ही देशभर ग्रहकों के लिए तमाम सामानों पर भारी डिस्काउंट का दौर चल पड़ा है। ऐसे में दिग्गज ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों ने भी कस्टमर्स के लिए ढेरों ब्रांड पर सेल की तारीख की घोषणा कर दी है। ऑनलाइन शॉपिंग के दो सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वियों Amazon और Flipkart ने एक ही समय पर 'बिग दिवाली सेल' का ऐलान किया है.
अमेजन और फ्लिपकार्ट द्वारा शुरू होने वाली ये सेल 14 अक्टूबर से लेकर 17 अक्टूबर तक चलेगी। इस दौरान स्मार्टफोन, इलेक्ट्रोनिक उपकरण समेत घर के डेकोरेशन के सामान पर भी भारी छूट दी जाएगी। इतना ही नहीं दोनों ही कंपनियां इस दिवाली सेल में शानदार एक्सचेंज ऑफर भी देने जा रही हैं।
जहां एक ओर अमेजन का कहना है कि सभी प्रोडक्ट्स पर करीब 50% की छूट दी जाएगी। वहीं दूसरी ओर फ्लिपकार्ट ने कहा है कि इस सेल में ग्राहकों को कुछ प्रोडक्ट्स पर 90 प्रतिशत तक का भारी डिस्काउंट दिया जाएगा।
अमेजन दिवाली सेल में ये होगा खास
> अमेजन ने कहा है कि इस दिवाली सेल में वो हर सामान पर लगभग 50 प्रतिशत छूट देने जा रहा है।
> अमेजन सेल में मोबाइल फोन खरीदने पर आपको 40% तक की छूट मिल सकती है। इसके अलावा यहां मोबाइल एसेसरीज 80% तक सस्ते दामों में मिल जाएगी।
> वहीं अगर आप अमेजन से टीवी खरीदते हैं तो आपको 40% की छूट मिलेगी। यानि यहां टीवी के दाम 20000 रुपये तक सस्ते होंगे।
> हेडफोन पर इस सेल में 60 प्रतिशत का डिस्काउंट दिया जा रहा है, तो वहीं वीडियो गेम पर भी 60% की छूट मिलेगी। इसके अलावा अमेजन के बेसिक प्रोडक्ट्स 60% सस्ते दामों में मिलेंगे।
> अमेजन सेल के दौरान हर दिन सुबह 8 से दोपहर 12 बजे तक गोल्डन आवर्स होंगे।
> धनतेरस के लिए भी ग्राहकों को अमेजन पर खास ऑफर दिए जाएंगे जो 499 रुपये और उससे कम की डील के लिए होंगे।
> इस सबके अलावा अमेजन प्राइम मेम्बर्स के लिए कुछ अन्य एक्सक्लूसिव डील्स भी मिलेंगी।
फ्लिपकार्ट सेल में कस्टमर्स के लिए ये होगा खास
> फ्लिपकार्ट की बिग दिवाली सेल में ग्राहकों को फ्लैट डिस्काउंट दिया जाएगा।
> इस सेल की सबसे खास बात है इसमें दिए जा रहे कई एक्सक्लूसिव एक्सचेंज ऑफर्स। ये ऑफर्स मुख्य रूप से स्मार्टफोन पर दिए जा रहे हैं।
> 14 से लेकर 17 अक्टूबर तक फ्लिपकार्ट सेल के हर दिन 12 बजे 'फ्लैश सेल्स' होगी।
> स्मार्टफोन पर डिस्काउंट के लिए उन्हें 3 कैटेगरी में बांटा गया है। टॉप कैटेगरी में Xiaomi Redmi Note 4, Lenovo K8 Plus, and Xiaomi Redmi 4A जैसे फोन रखे गए हैं।
> वहीं बजट फोन्स में - Moto C Plus, Moto E4 Plus, and Samsung Galaxy J7-6 और प्रीमियम फोन कैटेगरी में - iPhone 6, Samsung Galaxy S7, and iPhone 7 शामिल होंगे।
> इसके अलावा फ्लिपकार्ट सेल में इलेक्ट्रोनिक सामान के ब्रांड्स पर 80% की भारी छूट दी जा रही है जिसमें एक्सचेंज ऑफर भी शामिल है।


नई दिल्ली - त्योहार के इस मौसम में कई एयरलाइन कंपनियों ने विमान की टिकटों की सेल शुरू कर दी है। इस सेल में कम मात्रा में काफी सस्ते दामों पर फ्लाइट की टिकटें उपलब्ध हैं। इतना ही नहीं, कई प्रमुख शहरों के लिए हवाई टिकट के दाम रेलवे के एसी-2 किराए से भी कम हैं।
अलग-अलग हवाई मार्ग पर विस्तारा, जेट एयर, इंडिगो, स्पाइसजेट, गो एयर और एयर एशिया जैसी कंपनियां सस्ती टिकटें ऑफर कर रही हैं। अगर दिल्ली से रांची रूट की बात करें तो इसी महीने की 27 तारीख के लिए हवाई टिकट महज 2047 रुपये में उपलब्ध है। ये सस्ती टिकटें, इंडिगो, गो एयर और एयर विस्तारा की ओर से आफर की जा रही हैं। वहीं दिल्ली से वाराणसी के लिए भी सस्ती टिकटें ऑफर की जा रही हैं।
'उड़ान' स्कीम से भी सस्ती टिकटें
कुछ शहरों के लिए 1 घंटे के सफर के लिए ‘उड़ान’ स्कीम के तहत 2500 रुपये में टिकटें ऑफर की गई हैं। लेकिन इस सेल के समय विमानन कंपनियां ‘उड़ान’ से भी सस्ती टिकटें ऑफर करती हैं।
यहां से कर सकते हैं बुक
आप मेकमाइट्रिप, गोआईबीबो, यात्र या क्लियरट्रिप जैसी साइटों पर जाकर एक साथ एक ही दिन का कई विमानन कंपनियों का तुलनात्मक किराया देख सकते हैं। इसके साथ ही आप इन्हीं प्लैटफॉर्म्स से टिकट बुक भी कर सकते हैं।
सेल के फायदे
> आपको कई बार टिकटें रेलवे के एसी2 से कम में या एसी3 के बराबर में मिल जाती हैं।
> फ्लाइट से यात्रा में आपका काफी समय बच जाता है। जैसे दिल्ली से बंगलूरु ट्रेन से 32 से 36 घंटे लगते हैं, जबकि हवाई यात्र से तीन घंटे में पहुंच जाएंगे।
> आप इस सेल का फायदा उठाकर छोटी छुट्टियों में लंबी यात्राएं कर सकते हैं।
सेल के नुकसान
> सेल के समय खरीदे गए हवाई टिकटों को रद्द कराने में अक्सर आपको कुछ भी वापस नहीं मिलता, जबकि रेल टिकटें मामूली कटौती के बाद रद्द हो सकती हैं।
> फ्लाइट टिकट की कीमत के अलावा 200 रुपये सेवा शुल्क देना पड़ता है।
> कई शहरों में एयरपोर्ट शहर से दूर होता है, वहां आपको घर तक पहुंचने के लिए अतिरिक्त खर्च करना पड़ सकता है।


टोक्‍यो - फिलीपींस में आज एक मालवाहक जहाज के डूबने के बाद चालक दल के 11 भारतीय सदस्‍य लापता हो गए हैं। जापान के तटरक्षक बल ने इसकी जानकारी देते हुए हादसे का कारण इलाके में आए एक तूफान को बताया।
जापानी तटरक्षक बल अपने एक बयान में कहा, हांगकांग में रजिस्‍टर्ड 33,205 टन का एमराल्ड स्टार 26 भारतीय नागरिकों के साथ शुक्रवार सुबह भेजा गया था। इस जहाज की तरफ से संकट के सिग्नल भी भेजे गए थे। यह हादसा उस वक्त हुआ, जब जहाज फिलीपींस के उत्तरी तट से करीब 280 किलोमीटर पूर्व में जा रहा था। जापान तटरक्षक को इसके सिग्नल मिले थे। हालांकि उस क्षेत्र से जा रहे तीन अन्य जहाजों ने 15 क्रू मेंबर्स को बचा लिया, मगर 11 अभी भी लापता हैं। साथ ही बताया कि जहाज समुद्र में डूब चुका है।
जापान तटरक्षक के प्रवक्ता ने बताया, हमने दो गश्ती नाव और तीन प्लेन उन्हें बचाने के लिए लगाए हैं, मगर तूफान की वजह से राहत कार्य में काफी दिक्कत आ रही है।


कोलंबो - श्रीलंका के उत्तरी शहर जाफना में तमिलों ने राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग करते हुए विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया है। मई 2009 में एलटीटीई के साथ सशस्त्र संघर्ष की समाप्ति के बाद आतंकवाद निरोधक कानून के तहत उन्हें बंदी बना लिया गया था। प्रदर्शनकारियों ने गवर्नर सचिवालय के सामने इकट्ठा होकर हाथों में बैनर लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे, जिस पर लिखा था- आतंकवाद निरोधक अधिनियम को हटाओ, 'बिना किसी शर्त के सभी राजनीतिक कैदियों को रिहा करो।
तमिल नेशनल एलायंस (टीएनए) के नेता श्री संपनथन ने भी राष्ट्रपति मैत्रीपला सिरीसेना को एक पत्र लिखकर तमिल राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग की। "इनमें से अधिकतर व्यक्तियों के खिलाफ उपलब्ध एकमात्र सबूत उनके द्वारा आतंकवाद कानून की रोकथाम के खिलाफ बोले गए बयान हैं, जो सामान्य न्यायालय में उन के खिलाफ अस्वीकार्य होगा। पत्र में यह भी कहा गया कि इनमें से कई मामलों को स्थगित कर दिया गया है क्योंकि अभियोजन पक्ष मामले को आगे बढ़ाने के लिए तैयार नहीं है।
बता दें कि श्रीलंका में 1979 में तमिलों ने अलग गृहराज्य की मांग करते हुए बड़े स्तर पर अभियान चलाया था। तीन दशकों तक चला यह अभियान 2009 में समाप्त हो गया। लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (एलटीटीई) द्वारा सशस्त्र अभियान के दौरान, विद्रोही संगठन के कई कार्यकर्ता पीटीए के तहत गिरफ्तार कर लिए गए थे।

 


कैलिफोर्निया - अमेरिका के राज्य कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग और भयानक होती जा रही है। इस आग की वजह से अब तक 31 लोगों की मौत हो चुकी हैं और सैंकड़ों लोग लापता हैं। अधिकारियों की ओर से बताया गया है कि यह यहां पर लगी अब तक की सबसे भयंकर आग है। गुरुवार को हालांकि फायरफाइटर्स को इस आग को नियंत्रित करने में थोड़ी सफलता मिल सकी।
न्यूॉर्क शहर जितने इलाके में फैली है आग
गुरुवार को जंगल की आग की वजह से आठ और लोगों की मौत हो गई। कहा जा रहा है अमेरिकी इतिहास में यह पहला मौका है जब आग की वजह से इतनी संख्या में मौते हुई हैं। इससे पहले लॉस एंजिल्स में सन् 1933 में ग्रिफिथ पार्क में लगी आग में 29 लोगों की मौत हो गई थी। इसके अलावा नॉर्थ बे फायर को भी सबसे खतरनाक आग माना जाता है। इस आग में 3,500 घर तबाह हो गए थे और इतने ही बिजनेस आग में पूरी तरह से तबाह हो गए थे। कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी आग 190,000 एकड़ से ज्यादा के इलाके में फैल चुकी है और इतना इलाका पूरे न्यूयॉर्क शहर के बराबर है। धीरे-धीरे और भी इलाकों की ओर बढ़ रही है। इस तबाही की आधिकारिक वजह अभी तक सामने नहीं आई है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि रविवार रात तेज हवाओं के संपर्क में पावर लाइंस के आने से चिंगारी भड़की और यह तबाही में बदल गई। इस तबाही में मौतों का आंकड़ा बढ़ने की संभावना है।


लास वेगास - अमेरिका के लास वेगास में कुछ दिन पहले हुए नरसंहार में घायल हुई एक छात्रा ने होटल, कंसर्ट के प्रमोटर और हथियार निर्माताओं के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। ये छात्रा कैलिफोर्निया की रहने वाली है। छात्रा का दावा है कि बड़े पैमाने पर हुई गोलीबारी के लिए ये सब भी जिम्मेदार हैं, जिसमें 59 लोगों की मौत हो गई थी।
रिपोर्ट के मुताबिक, केस एमजीएम रिजॉर्ट इंटरनेशनल के खिलाफ किया गया है, जिसके पास मैंडाले बे और कंसर्ट स्थल का जिम्मा है। इसी कंपनी ने एक अक्टूबर को म्यूजिक कंसर्ट करवाया था। कंपनी द्वारा इस कंसर्ट के समय में कई बार बदलाव किया जाना कई सवाल उठाता है. क्लार्क काउंटी के शेरिफ (पुलिस अधिकारी) जो लोम्बार्डो ने बताया कि उस कार्यक्रम के समय में और बदलाव होने की संभावना भी थी।
पेज गैस्पर द्वारा बुधवार को किया गया यह केस इस बात पर भी सवाल उठाता है कि होटल के कर्मचारियों ने हत्यारे स्टीफन पैडॉक के व्यवहार पर ध्यान क्यों नहीं दिया। इसमें एमजीएम पर सुरक्षा अधिकारी जीसस कैम्पोस पर गोली चालाए जाने के बाद समय पर प्रतिक्रिया नहीं देने का आरोप भी लगाया गया है।
इसके अलावा संगीत महोत्सव के प्रमोटर लाइव नेशन के खिलाफ भी मुकदमा दायर किया गया है। उन पर आपात स्थिति में बाहर की व्यवस्था नहीं करने और अपने कर्मचारियों को ऐसी स्थिति से निपटने के लिए प्रशिक्षित नहीं करने का आरोप है। एक वकील ने बताया, ‘आपात स्थिति में बाहर निकलने की व्यवस्था नहीं बनाई गई थी और किसी भी उद्घोषक ने साउंड सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोई निर्देश नहीं दिए।’


संयुक्त राष्ट्र - भारत ने फिर परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर अपना रुख स्पष्ट किया है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के प्रतिनिधि अमनदीप सिंह गिल ने कहा कि भारत परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र का दर्जा मिले बगैर एनपीटी का हिस्सा नहीं बनेगा। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि परमाणु परीक्षण पर एकतरफा प्रतिबंध को लेकर भारत पूर्व की भांति प्रतिबद्ध है। गिल ने अंतरिक्ष में हथियार तैनात करने की बढ़ती होड़ पर भी चिंता जताते हुए इसे रोकने के लिए समुचित उपाय करने का आह्वान किया।
भारतीय प्रतिनिधि ने यूएन महासभा में निरस्त्रीकरण पर जारी बहस में परमाणु हथियारों पर देश का पक्ष रखा। उन्होंने कहा, 'गैर परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र के तौर पर एनपीटी में शामिल होने का सवाल ही नहीं उठता। इस पर भारत का रुख जगजाहिर है, ऐसे में उसे दोहराने की जरूरत नहीं है। इसके बावजूद भारत वैश्विक अप्रसार के उद्देश्यों को बरकरार रखने और उसे मजबूत करने के कदम का समर्थन करता है। खासकर विभिन्न देशों द्वारा एनपीटी समेत विभिन्न करार में तय लक्ष्यों के प्रभावी क्रियान्वयन का पक्षधर है।'
क्या है एनपीटी
एनपीटी एक अंतरराष्ट्रीय समझौता है, जिसका उद्देश्य परमाणु हथियारों के प्रसार को रोकना और परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण इस्तेमाल को बढ़ावा देना है। इस संधि के मुताबिक 1 जनवरी, 1967 से पहले परमाणु परीक्षण करने वाले देशों को परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र माना गया है।
पाक और उत्तर कोरिया पर कार्रवाई की मांग
भारत ने इस दौरान पाकिस्तान और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु व मिसाइल तकनीक के आदान-प्रदान का मुद्दा भी उठाया। गिल ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इस गतिविधि में शामिल देशों पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि गुप्त तरीके से परमाणु हथियार के प्रसार में जुटे देशों के खिलाफ दुनिया को एकजुट होकर कदम उठाना चाहिए।


ज्यूरिक - अगर पूछा जाए कि हमारे शहर के नालों में क्या बहता है, तो जाहिर है आप गंदा सा चेहरा बना लेंगे! लेकिन दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहां नालियों में सिर्फ गंदगी ही नहीं सोना-चांदी भी बहता है।
आपको ये जानकर हैरानी होगी दुनिया के सबसे रहीस देशों में शुमार स्विजरलैंड के वेस्ट सिस्टम (कचरे के पाइप) में सोना और चांदी पाया जाता है। इतना ही नहीं अगर इन दोनों तत्वों की मात्रा को इकट्ठा किया जाए तो इनकी कीमत करोड़ों रुपये होगी।
इस तरह कचरे में मिलता है सोना-चांदी
पिछले साल स्विजरलैंड के रिसर्चरों ने वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट (जल उपचार संयंत्र) में कचरे में से 3 टन चांदी और 43 किलो सोना बरामद किया। अगर इनकी कीमत जोड़ी जाए तो ये लगभग दो करोड़ रुपये के आसपास होगी।
यहां से आता है इतना सोना-चांदी
स्विजरलैंड सरकार के अनुसार कचरे में मिलने वाले साने और चांदी के छोटे टुकड़े घड़ी बनाने वाली कंपनियों, दवाई निर्माता कंपनियों और अन्य रसायनिक कारखानों से निकलते हैं। इन सभी जगहों पर विभिन्न उतपात के निर्माण के लिए इन धातुओं का प्रयोग किया जाता है।
एक लेखक ने कहा, 'यहां किसी महिला द्वारा टॉयलेट में अंगूठी फेंके जाने जैसे किस्से सुनने में आते हैं, लेकिन ये सही नहीं है। सोने-चांदी के जो कण मिलते हैं वो काफी छोटी मात्रा में होते हैं, लेकिन जब इसे जोड़ा जाता है तो इसकी मात्रा अच्छी-खासी हो जाती है।'


न्यूयॉर्क (हम हिन्दुस्तानी)-न्यूयॉर्क में स्थित भारतीय कांसुलेट के कला एवं संस्कृति विभाग की ओर से कौंसिल जनरल संदीप चक्रवर्ती की अध्यक्षता में एक समागम का आयोजन किया गया। जिसमें विशेष रूप से उस्ताद अमजद अली खान की पुस्तक 'मास्टर ऑन मास्टर' को लोकार्पित किया गया। पुस्तक को लोकार्पित करने के साथ-साथ उपस्थिति को पुस्तक के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई और साथ ही 'मास्टर ऑन मास्टर' शीर्षक के बारे में बताया गया। पुस्तक लोकार्पण समागम में मीडिया के अलावा लेखकों एवं भारतीय-अमेरिकन्स कम्युनिटी के नेताओं ने भी भाग लिया। इस अवसर पर उस्ताद अमजद अली खान ने बताया कि उनकी पुस्तक 'मास्टर ऑन मास्टर' 12 महान संगीतकारों का एक संग्रह है। जिसमें लेखक केसर बाई करकर, बड़े गुलाम अली, आमिर खान, बेगम अख्तर, एम.एस. शुभलक्षमी, बिस्मिल्ला खान, अल्ला रक्खा, रवि शंकर, भीमसेन जोशी, किशन महाराज, कुमार गंर्धव तथा विलायत खान के नाम शामिल हैं। उन्होंने बताया कि चित्रों, उपाख्यानों एवं व्यक्तिगत अनुभवों के माध्यम से उपरोक्त दिग्गजों के जीवन के संदर्भ में विस्तृत जानकारी दी गई है जोकि युवा पीढ़ी के लिए पदप्रदर्शक का कार्य करेगी। उल्लेखनीय है कि 12 महान संगीतकारों के जीवन के संदर्भ में एक पुस्तक में वर्णन करना किसी उपलब्धि से कम नहीं है। इस अवसर पर विशेष रूप से उस्ताद अमजद अली को कौंसिल जनरल संदीप चक्रवर्ती की ओर से सम्मानित भी किया गया।

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें