Editor

Editor


चंडीगढ़/जींद - इनेलो में मचा घमासान आज अंतिम मोड़ पर पहुंच गया और दाेनों भाइयों अजय सिंह चौटाला और अभय सिंह चौटाला की राहें आज जुदा हो गईं। इस तरह हरियाणा का मुख्य विपक्षी दल इंडियन नेशनल लोकदल अब दो फाड़ हो गया है। इंडियन नेशनल लोकदल के सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के दोनों पुत्र अब अलग-अलग पार्टी में रहेंगे। इंडियन नेशनल लोकदल पर हरियाणा के नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला का कब्जा रहेगा और ओम प्रकाश चौटाला के बड़े पुत्र अजय सिंह चौटाला 9 दिसंबर को नई पार्टी की घोषणा करेंगे। जींद में अजय चौटाला ने नई पार्टी बनाने की घोषणा करते हुए कहा, इनेलो और चश्‍मा छोटे भाई बिल्‍लू (अभय चौटाला) को गिफ्ट करता हूं।
अभय चौटाला खेमे की चंडीगढ़ हरियाणा पंचायत भवन में बैठक हुई तो अजय चौटाला गुट की बैठक जींद में हुई। अभय चौटाला के साथ 13 विधायक और प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्‍य व प्रदेशभर से पदाधिकारी उमड़े। दूसरी ओर, इनेलो के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष अनंतराम तंवर और राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता केसी बांगड़ भी अजय व दुष्‍यंत चौटाला के समर्थन में आ गए। जींद में अजय चौटाला की बैठक में इनेलो के कई प्रदेश प्रकोष्‍ठों के पदाधिकारी, पूर्व विधायक और जिला अध्‍यक्ष व पदाधिकारी आए। बैठक में नैना चौटला सहित तीन विधायक भी मौजूद हैं।
जींद में आयाेजित कार्यकारिणी की बैठक में अजय चौटाला ने अलग पार्टी चुनने का ऐलान करते हुए कहा कि अपने छोटे भाई बिल्लू (अभय चौटाला) को इनेलो और चश्मा गिफ्ट करता हूं। अजय ने घोषणा की कि अगले तीन हफ्तों में नई पार्टी का झंडा झंडा तैयार हो जाए। अजय चौटाला 9 दिसंबर को जींद में रैली करेंगे। नई पार्टी के लिए कानूनी कार्रवाई करेंगे।
अजय ने कार्यकारिणी की बैठक में कहा, हमारे सामने तीन विकल्प है। उन्‍होंने कहा पहला विकल्‍प है इनेलो और चश्मे पर दावा करें तो बैठक में उपस्थित नेताओं ने इसका विरोध किया। दूसरा विकल्‍प- किसी राष्ट्रीय पार्टी के साथ गठबंधन करें तो इसका भी विरोध हुआ। अजय चौटाला ने नई पार्टी का गठन करने का विकल्‍प दिया तो सभी ने हाथ उठा कर समर्थन किया।
अजय खेमा ने जींद के देवीलाल मैदान में कार्यकर्ता सम्‍मेलन भी किया। अजय सिंह चाैटाला द्वारा बुलाई गई क‍ार्यकारिणी की बैठक में काफी संख्‍या में इनेलो के पदाधिकारी भी आए। इनमें कई प्रदेश पदाधिकारी व जिला अध्‍यक्ष शामिल रहे। इस बैठक में पदाधिकारियों के इनेलो से सामूहिक तौर पर इस्‍तीफे लिए गए। इस बैठक में नैना चौटाला सहित तीन विधायक मौजूद थे।
कार्यकारिणी की बैठक के बाद जींद के देवीलाल मैदान में कार्यकर्ता सम्‍मेलन हुआ। अजय चौटाला ने इसमें कार्यकारिणी की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। उन्‍होंने कहा, इनेलो आैर इसका निशान चश्‍मा अपने अजीज छोटे भाई बिल्‍लू को गिफ्ट करता हूं। हम 9 दिसंबर को नई पार्टी का ऐलान करेंगे। इसके लिए कानूनी कार्यवाही पूरी करने के बाद जींद में ही रैली कर नई पार्टी के नाम और झंडे की घोषणा की।
अजय चौटाला ने पिता की उक्तियों की चर्चा करते हुए कहा, याचना नहीं अब रण होगा। उन्‍होंने अभय चौटाला पर हमला करते हुए‍ फिर उन्‍हें दुर्योधन कह कर संबोधित किया। उन्‍होंने महाभारत की चर्चा करते हुए अभय चौटाला पर निशाना साधते हुए कहा, आेमप्रकाश चौटाला महाभारत की कहानी सुनाते हुए दुर्योधन को अन्‍याय और हिंसा का प्रतीक बताते थे। यह दुर्योधन हिंसा का उत्‍तरदायी है और यह धराशाई भी होगा।
उन्‍होंने कहा, भारी संख्‍या में इनेलो के वरिष्‍ठ नेताओं, पदाधि‍कारियाें और कार्यकर्ताओं ने इस्‍तीफे सौंपे हैं। 20 नवंबर को जेल वापस जाऊंगा तो ये इस्‍तीफे आेम प्रकाश चौटाला साह‍ब को सौंप दूंगा। उनको बताऊंगा कि यह असली इनेलो है। सम्‍मेलन में उन्‍होंने कई नेताओं के बनने वाले नए दल के साथ जुड़ने का ऐलान भी किया।
दुष्यंत ने कहा, हम जोड़ते रहे और वह तोड़ते रहे। हम मिलते रहे फिर भी वे धमकाते रहे। अब वक्त आ गया है करारा जवाब दिया जाए और कार्यकर्ताओं के अपमान का बदला लिया जाए। उधर दिल्ली इनेलो प्रदेश की पूरी इकाई ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है और डॉ. अजय सिंह चौटाला का समर्थन किया है। इनेलो के प्रवक्‍ता दिनेश डागर ने की इनेलो छोड़ने की घोषणा की है। इनेलो के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंतराम तंवर ने जींद में विधायकों व सांसद छोड़कर पार्टी से सामूहिक त्यागपत्र देने की घोषणा की। उन्‍हाेंने कहा कि इनेलो की प्रदेश की कार्यकारिणी के कई सदस्‍यों ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है और वे अजय व दुष्‍यंत के साथ हैं।
उधर अभय सिंह चौटाला ने इनेलो राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी व प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक चंडीगढ़ के हरियाणा पंचायत भवन में बैठक की। इस बैठक में अभय चौटाला सहित 14 विधायक मौजूद थे। बैठक में इनेलो के प्रदेश प्रधान डॉ. अशोक अरोड़ा भी मौजूद थे। अभय चौटाला द्वारा आयोजित बैठक में इनेलो संसदीय मामलों की समिति के 19 सदस्‍य मौजूद रहे। बैठक में 35 पूर्व सांसद और पूर्व विधायक मौजूद थे। बैठक में इनेलो के 18 जिला अध्‍यक्षों के मौजूद होने का दावा‍ किया गया है। बैठक में इनेलो के 80 हलका प्रधान भी मौजूद रहे।
बैठक में अभय सिंह चौटाला के साथ रामपाल माजरा, गोपी सिंह गहलोत, सांसद चरणजीत सिंह रोड़ी, राज्यसभा सदस्य रामकुमार कश्यप, विधायक बलवान दौलतपुरिया, मक्खन सिंगला, रामचंद्र कंबोज, वेद नारंग, पृथ्वी नंबरदार, ओम प्रकाश बैरवा, केहर सिंह रावत, रविंद्र बलियाला, नसीम अहमद, प्रमेंद्र ढुल, जाकिर हुसैन ने की भागीदारी की।
बैठक में हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने कहा, मुझे किसी तलवार उठाने की जरूरत नहीं है। मेरे भाई अजय सिंह चौटाला की शादी को 32 साल हो गए। कि अगर मैं गुंडा था तो इन 32 सालों में मेरी भाभी नैना चौटाला ने विरोध क्यों नहीं किया। उन्होंने कहा, मेरा और अजय चौटाला के घर अलग-अलग हैं। मेरे घर में सिर्फ चाय बनती है लंच और डिनर अजय चौटाला के घर से ही बनवाऊंगा। खाना बड़े भाई के घर का बना ही खाऊंगा।
बैठक में कई दिव्यांग कार्यकर्ता भी पहुंचे। बैठक में पहुंचे कार्यकर्ताओं में जोश दिखा। इस मौके पर ताऊ देवीलाल के ड्राइवर रहे रणधीर ने अभय चौटाला का समर्थन करने का ऐलान किया। रणधीर ने अभय चौटाला को बताया ताऊ देवीलाल जैसा निस्वार्थ बताया। अभय चौटाला के बेटे अर्जुन चौटाला भी पहुंचे।
जींद में अजय सिंह चौटाला द्वारा बुलाई प्रदेश कार्यकारिणी की अध्यक्षता इनेलो के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अनंत राम तंवर कर रहे हैं। इसमें अजय चौटला, नैना चौटाला, दुष्यंत चौटाला, दिग्विजय चौटाला, विधायक अनूप धानक और राजदीप फोगाट मौजूद हैं। इनेलो के एससी सेल के प्रदेश प्रधान अशोक शेरवाल भी बैठक में मौजूद हैं।
अजय खेमा ने दावा किया है कि बैठक में इनेलो की महेंद्रगढ़ जिला कार्यकारिणी के 95 प्रतिशत पदाधिकारी व सदस्‍य व पद‍ाधिकारी मौजूद हैं। इनमें इनेलो के प्रधान सतबीर यादव भी शामिल हैं। दादरी के जिला प्रधान नरेश द्वारका भी बैठक मौजूद हैं। जींद के जिला प्रधान कृष्ण राठी और जिला कार्यकारिणी के 95 प्रतिशत सदस्‍य व पदाधिकारी मौजूद हैं।
अजय चौटाला की बैठक में इनेलो के बीसी सेल के प्रदेश प्रधान तेलूराम जोगी, महिला विंग की प्रदेश अध्यक्ष शीला भयान भी मौजूद हैं। इसमें पूर्व विधायक निशान सिंह व पूर्व विधायक नरेंद्र सांगवान मौजूद हैं। हिसार जिला प्रधान राजेंद्र लितानी भी बैठक में पहुंचे। सबसे खास बात है कि कांग्रेस नेता व विधानसभा के पूर्व स्पीकर सतबीर कादियान भी जींद शहर में मौजूद हैं।
दाेनों भाइयों के अलगाव के बाद यह साफ हो गया कि राज्‍य में अब इनेलो के कैडर पर कब्‍जे की होड़ मचेगी। अभय चौटाला के साथ खुद के अलावा 13 विधायक हैं और अजय चौटाला के खेमे में उनकी पत्‍नी नैना चौटाला सहित तीन विधायक हैं। इंडियन नेशनल लोकदल की चंडीगढ़ में हो रही प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में अभय सिंह चौटाला के साथ 13 विधायक शामिल हुए। चार विधायक इस बैठक में नहीं आए। फरीदाबाद एनआइटी के विधायक नगेंद्र भड़ाना भाजपा के साथ हैं। नैना चौटाला के साथ-साथ अनूप धानक और राजदीप फोगाट खुलकर अजय सिंह चौटाला गुट के साथ हो गए हैं।
जींद में हाे रहे अजय चौटाला समर्थकों की बैठक स्‍थल और सम्‍मेलन के मंच पर न तो इनेलो लिखा है और न ही चश्‍मे का निशान बना है। इससे अजय चौटाला द्वारा इनेलाे से अलग राह पकड़ने और नई पार्टी बनाने का संकेत मिला है। अजय चौटाला द्वारा बुलाई गई कार्यकारिणी की बैठक में माैजूद पदाधिकारियों से इनेलो से इस्‍तीफा दिलाए जा रहे हैं। इसके लिए एक फार्मेट तैयार किया गया है।
बता दें कि इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला छोटे बेटे अभय सिंह चौटाला को अपना आशीर्वाद दे चुके हैं, वहीं बड़े बेटे अजय चौटाला इसके खिलाफ खुले मैदान में आ गए हैं। अपने बेटों दुष्यंत और दिग्विजय चौटाला के लिए राजनीतिक जमीन तैयार कर रहे अजय कई दिनों से इनेलो से निष्कासन के बाद जनता की अदालत में जाने का एेलान कर रहे थे। दूसरी ओर अभय संगठन को नए सिरे से खड़ा कर पार्टी पर अपनी मजबूत करने की तैयारियों में जुट गए हैं।


नई दिल्ली - प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मालदीव के नव निवार्चित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए मालदीव की राजधानी माले पहुंच गए हैं।
विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, मालदीव की संक्षिप्त यात्रा में पीएम मोदी दोपहर करीब पांच बजे माले के वेलना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचें। वह इसके बाद राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के शपथग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे। शाम सवा छह बजे उनकी नये राष्ट्रपति के साथ बैठक होगी और करीब साढ़े सात बजे वह स्वदेश के लिए रवाना हो जाएंगे।
पीएम मोदी ने अपने यात्रा पूर्व वक्तव्य में कहा, 'मैं नव निवार्चित राष्ट्रपति महामहिम इब्राहिम मोहम्मद सोलिह के ऐतिहासिक शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लूंगा और हाल ही में हुए चुनावों में उन्हें मिली शानदार सफलता के लिए बधाई देता हूं और उनके सुखद कार्यकाल की कामना करता हूं।' प्रधानमंत्री ने मालदीव में संपन्न राष्ट्रपति चुनाव को वहां के लोगों की लोकतंत्र, कानून के शासन और समृद्ध भविष्य की उनकी सामूहिक आकांक्षाओं का इजहार बताया और कामना की कि मालदीव एक स्थिर, लोकतांत्रिक, समृद्ध और शांतिपूर्ण देश के रूप में उभरे। गौरतलब है कि सोलिह ने पिछले सप्ताह ही पीएम मोदी को शपथ ग्रहण में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया था।
भारत ने कहा- नेबरहुड फर्स्ट नीति
भारत ने प्रधानमंत्री मोदी की प्रस्तावित यात्रा को नेबरहुड फर्स्ट नीति के तहत बताया है। माना जा रहा है कि मालदीव में नई सरकार के गठन के बाद भारत-मालदीव रिश्तों को फिर से पटरी पर लाने की कोशिश भी तेज होगी। विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मालदीव के नए राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में शामिल होने का न्यौता नेबरहुड फर्स्ट नीति को ध्यान में रखते हुए सहर्ष स्वीकार कर लिया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत मालदीव के साथ अपने रिश्तों को मजबूत बनाने और साथ मिलकर काम करने के लिए आशान्वित है। गौरतलब है कि मालदीव से पिछले कुछ सालों में रिश्तों में काफी खटास आ गई थी।
चीन का दखल बढ़ने के साथ ही भारत की भूमिका पर सवाल खड़े किए जा रहे थे। भारतीयों से भेदभाव, उन्हें वीजा और रोजगार न देने के मामलों में दोनों देशों के रिश्तों में दरार पैदा कर दी थी। पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन को चीन का समर्थक माना जा रहा था। भारत और अमेरिका के विरोध के बावजूद यामीन ने मालदीव में आपातकाल लागू करके विपक्षी दलों के नेताओं को जेल भेज दिया था।
हाल में हुए चुनाव में यामीन को संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार के रूप में सोलेह ने पराजित किया था। कूटनीतिक जानकारों का कहना है कि सोलेह की अगुवाई में भारत और मालदीव के रिश्ते फिर से बेहतर होंगे। जानकार चीन का दखल सीमित होने की उम्मीद भी जता रहे हैं क्योंकि चुनावों में यह बड़ा मुद्दा था।


सबरीमाला - सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत पचास वर्ष से कम उम्र की महिलाओं के प्रवेश को लेकर जारी तनातनी के बीच सबरीमाला मंदिर के कपाट शुक्रवार को 62 दिनों के लिए खुल गए हैं। इस दौरान किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर जवान तैनात हैं। पूरे क्षेत्र में गुरुवार रात से ही धारा 144 लागू है। इसके अलावा ड्रोन्स के जरिए मंदिर में आने वालों पर नजर रखी जा रही है।
भगवान अयप्पा के दर्शन को सबरीमाला जाने के लिए सुबह साढ़े चार बजे कोच्चि पहुंची महिला नेता तृप्ति देसाई को प्रदर्शनकारियों ने एयरपोर्ट से बाहर ही नहीं निकलने दिया। चौदह घंटे से अधिक समय तक चली तनातनी के बाद पुलिस ने उन्हें दर्शन की जिद छोड़कर घर लौट जाने की सलाह दी। देर रात वह मुंबई की फ्लाइट पकड़ कर लौट गई। कहा, 'हम कार्यक्रम घोषित किए बगैर जल्द ही सबरीमाला फिर आएंगे।'
इस बीच अदालती आदेश को किसी भी कीमत पर लागू कराने की बात करने वाली केरल सरकार ने भी यू-टर्न ले लिया है। मंदिर मामले को देखने वाली उसकी संस्था त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड ने शीर्ष अदालत के फैसले को लागू कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट से और समय मांगने का निर्णय किया है।
बोर्ड के अध्यक्ष ए पद्मकुमार ने कहा, 'अगर संभव हुआ तो हम कल या फिर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।' गुरुवार को सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने साफ कहा था कि राज्य सरकार कोर्ट का आदेश लागू कराने के लिए बाध्य है। विपक्ष 22 जनवरी तक सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अमल स्थगित करने की मांग कर रहा था। इसी खींचतान में बैठक बेनतीजा खत्म हो गई।
दस से पचास वर्ष उम्र के बीच की महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ जारी विरोध-प्रदर्शनों की अगुआई कर रहे अयप्पा धर्म सेना के अध्यक्ष राहुल ईश्वर ने सख्त रुख अख्तियार कर रखा है। उनका कहना है कि महिलाओं का मंदिर में प्रवेश रोकने के लिए भक्त सबरीमाला मंदिर को चारों ओर से घेरे रहेंगे। पचास वर्ष से कम उम्र की महिलाओं को किसी भी कीमत पर मंदिर में नहीं घुसने दिया जाएगा।
इससे पूर्व शुक्रवार शाम पांच बजे भारी संख्या में उपस्थित भक्तों के जयकारे के बीच मुख्य पुजारी कंडारारू राजीवारू की मौजूदगी में सबरीमाला मंदिर के कपाट खुले। भगवान अयप्पा के दर्शन के लिए भक्तों की लंबी-लंबी कतारें देखने को मिलीं। सुप्रीम कोर्ट के 28 सितंबर के फैसले के बाद यह तीसरा मौका है, जब मंदिर खुला।
सबरीमाला में सालाना त्योहारी सीजन दो चरणों में मनाया जाता है। इसमें पहला सत्र शनिवार से शुरू होकर 41 दिनों तक चलने वाली मंडला पूजा का है। यह पूजा 27 दिसंबर तक चलेगी। इसके बाद मंदिर बंद हो जाएगा। फिर यह मकरविलक्कु त्योहार के 30 दिसंबर को खुलेगा और मंदिर में 20 जनवरी तक पूजा-पाठ जारी रहेगा। इसके बाद मंदिर के कपाट बंद हो जाएंगे।


पटना - पटना में चल रही रालोसपा की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के बाद बंद कमरे में उपेंद्र कुशवाहा ने कोर कमिटी की सदस्यों से बात की और उसके बाद भाजपा को 30 नवम्बर तक का अल्टीमेटम दिया है और कहा है कि उसके बाद पार्टी फैसला लेने के लिए स्वतंत्र होगी। इस तरह उन्होंने एेलान किया है कि अभी 30 नवंबर तक वो एनडीए में बने रहेंगे।
कुशवाहा ने कहा-नीतीश कुमार मेरी पार्टी को कर रहे बर्बाद
उपेंद्र कुशवाहा ने बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि नीतीश कुमार की भरसक कोशिश है कि मेरी पार्टी खत्म हो जाए। नीतीश कुमार हमारी पार्टी को बर्बाद करने में लगे हैं। उन्होंने अपने सांसद रामकुमार शर्मा को दिखाकर कहा कि ये तो हमारे साथ हैं। लेकिन, इसे लेकर क्या-क्या कहा जा रहा है?
कहा-अब सीट शेयरिंग के लिए पहल नहीं करूंगा
उन्होंने कहा कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को दूसरों की बातों में नहीं आना चाहिए। मैं अब अपनी तरफ से सीट शेयरिंग के लिए कोई पहल नहीं करेंगे। कहा कि सीट शेयरिंग को लेकर मैं एकबार पीएम से बात करना चाहता हूं। कुशवाहा ने कहा कि मैं किसी से भी मिलने के लिए स्वतंत्र हूं, मैं किसी का गुलाम नहीं हूं।
कहा- 29 नवंबर को ऊंच-नीच विरोध दिवस मनाएंगे
कुशवाहा ने कहा कि 29 नवंबर को ऊंच-नीच विरोध दिवस मनाएंगे। उन्होंने कहा कि बैठक में मुझे नीच शब्द कहे जाने पर चर्चा हुई और सबने इसपर आपत्ति जताई। बिहार में रालोसपा नेताओं की हत्या हो रही है। कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। शिक्षा का भी बुरा हाल है।
बैठक में नहीं पहुंचे दोनों रालोसपा विधायक
बैठक में रालोसपा के दोनों विधायक ललन पासवान और सुधांशु शेखर नहीं पहुंचे । ललन पासवान ने पार्टी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि उपेन्द्र कुशवाहा महागठबंधन की बैठक’कर रहे हैं, असली रालोसपा हमलोग हैं। अब हममें से कोई भी उपेंद्र कुशवाहा के साथ नहीं है। सभी विधायक और सांसद उनसे अलग हो चुके हैं।
बैठक में सांसद रामकुमार शर्मा मौजूद, कहा-एनडीए में रहेंगे
रालोसपा के एकमात्र सांसद रामकुमार शर्मा की राज्य कार्यकारिणी की बैठक में मौजूद रहे। बैठक से पहले् उन्होंने कहा कि हम एनडीए के साथ हैं और उपेंद्र कुशवाहा भी एनडीए का हिस्सा हैं। हमारी पीएम मोदी और अमित शाह से जल्द मुलाकात होगी।
जीतनराम मांझी ने कहा-जल्द फैसला लें कुशवाहा
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने कहा है कि अब उपेंद्र कुशवाहा जल्द फैसला ले लें, देर करने से नुकसान ज्यादा होगा। उन्होंने कहा है कि एनडीए में उपेंद्र कुशवाहा के लिए कोई जगह नहीं है।
जदयू नेता ने कहा-अकेले रह जाएंगे उपेंद्र कुशवाहा
वहीं, उपेंद्र कुशवाहा पर जुबानी हमला करते हुए जदयू नेता रामेश्वर महतो ने कहा है कि समाज और नीतीश को छोड़ने पर उपेंद्र कुशवाहा अकेले रह जाएंगे। उपेंद्र कुशवाहा समाज में भ्रम फैला रहे हैं। उपेंद्र कुशवाहा कहीं भी जाएं, कुशवाहा समाज सीएम नीतीश के साथ है और रहेगा।
भाजपा नेता ने भी कसा तंज, कहा-कुशवाहा समाज का कोई ठेकेदार नहीं
भाजपा नेता विनोद सिंह ने उपेंद्र कुशवाहा पर तंज कसते हुए कहा कि अमित शाह सभी नेता से मिलते हैं और उपेंद्र कुशवाहा सिर्फ समय मांगते हैं, केवल मीडिया में बोलते हैं कि आज हमको नहीं पता। कुशवाहा समाज नरेंद्र मोदी के साथ ईमानदारी के साथ खड़ा है। कोई भी व्यक्ति कुशवाहा समाज का ठेकेदार नहीं बन सकता है।
रालोसपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा-भाजपा ने हम सबको इग्नोर किया
रालोसपा के राष्ट्रीय महासचिव आनन्द माधव ने कहा कि एनडीए में ऑल इज वेल नहीं है। महागठबंधन में जाने के रास्ते खुले हैं। भाजपा ने हम सबको इग्नोर किया है। आज भाजपा उस दल के सामने घुटने टेक रही है जिसका कोई जनाधार नहीं है। आने वाले लोकसभा चुनाव में तो इसकी कीमत बीजेपी को चुकानी ही पड़ेगी।

 


नई दिल्ली - महिला एवं बाल विकास (डब्ल्यूसीडी) मंत्रालय ने निर्भया फंड से देशभर में 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट गठित करने का निर्णय लिया है। मंत्रालय ने यह कदम बच्चियों व महिलाओं से दुष्कर्म के लंबित मामलों के निपटारे के लिए उठाया है। जुलाई में कानून एवं न्याय मंत्रालय ने देश में एक हजार से अधिक ऐसे न्यायालयों की स्थापना करने का प्रस्ताव किया था। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की उच्चस्तरीय समिति ने शुक्रवार को इस आशय के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की।
डब्ल्यूसीडी मंत्रालय की ओर से बयान जारी कर उपरोक्त जानकारी दी गई है। इसके अनुसार, 'महिला एवं बाल विकास सचिव की अध्यक्षता में गठित उच्चस्तरीय समिति ने निर्भया फंड के अंतर्गत तीन अहम प्रस्तावों को मंजूरी प्रदान की है। इनमें दुष्कर्म एवं पोक्सो एक्ट के तहत लंबित मामलों के निपटारे के लिए 1023 फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जाना प्रमुख है।' बयान के मुताबिक, इन अदालतों के गठन पर कुल 767.25 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इसमें पहले चरण के दौरान नौ राज्यों में 777 फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन किया जाएगा, जबकि दूसरे चरण में शेष 246 अदालतों की स्थापना होगी। मंत्रालय की उच्चस्तरीय समिति ने जिस दूसरे प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान की है, उसके तहत यौन उत्पीड़न के मामलों की जांच में इस्तेमाल के लिए फोरेंसिक किट का खरीदा जाना शामिल है।
बयान के अनुसार, इस पर 107.19 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। उच्चस्तरीय समिति ने 17.64 करोड़ रुपये की लागत से कोंकण रेलवे द्वारा 50 रेलवे स्टेशनों पर वीडियो सर्विलांस सिस्टम स्थापित करने के प्रस्ताव को भी अपनी मंजूरी प्रदान की। ध्यान रहे 16 दिसंबर, 2012 के जघन्य दिल्ली दुष्कर्म कांड के बाद केंद्र सरकार ने 2013 में निर्भया फंड की स्थापना की। इस फंड का इस्तेमाल महिला सुरक्षा से जुड़े कार्यो के लिए किया जाता है।
राष्ट्रीय महिला आयोग में तीन सदस्य मनोनीत
राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) में तीन नए सदस्यों को मनोनीत किया गया है। महिला एवं बाल विकास (डब्ल्यूसीडी) मंत्रालय ने चंद्रमुखी देवी, सोसो शैजा और कमलेश गौतम को आयोग का सदस्य नियुक्त किया है। मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में यह जानकारी दी गई है।
बयान के मुताबिक, 'राष्ट्रीय महिला आयोग अधिनियम 1990 की धारा तीन का इस्तेमाल करते हुए बिहार की चंद्रमुखी देवी, मणिपुर की सोसो शैजा और उत्तर प्रदेश में कानपुर की कमलेश गौतम को आयोग का सदस्य मनोनीत किया गया है।' सभी मनोनीत सदस्यों का कार्यकाल कार्यभार संभालने की तिथि से तीन वर्षो की अवधि या 65 वर्ष की आयु तक या अगले आदेश तक रहेगा।


नई दिल्ली - राजस्थान विधानसभा चुनाव में इस बार बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही अपनी जीत के लिए जोड़ लगा दिया है। कांग्रेस ने चुनावी मैदान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ मानवेन्द्र सिंह को झालरापाटन विधानसभा सीट पर उतारकर मुकाबले और दिलचस्प बना दिया है। टिकट मिलने के बाद जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह ने कहा कि राहुल गांधी जी और कांग्रेस मुझे जो मौका दिया है उसको लेकर मैं काफी उत्साहित हूं। मानवेंद्र ने आगे कहा कि मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ चुनावी कैंपेन को आगे बढ़ाउंगा।
कांग्रेस ने जारी की सूची
इससे पहले कांग्रेस ने राजस्थान विधानसभा चुनावों के लिए 32 उम्मीदवारों की दूसरी सूची आज जारी कर दी जिसमें मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के खिलाफ हाल ही में भारतीय जनता पाटीर् छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए मानवेन्द्र सिंह को उम्मीदवार घोषित किया गया। इस लिस्ट में तमाम दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के नाम शामिल हैं। राजस्थान विपक्ष के नेता सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भी उम्मीदवार बनाया गया है। कांग्रेस महासचिव मुकुल वासनिक ने यहां यह सूची जारी की। पाटीर् ने राजस्थान के लिए पहली सूची 15 नवंबर को जारी की थी जिसमें 152 उम्मीदवार घोषित किए गये। राजस्थान में सात दिसंबर को मतदान होगा और मतगणना 11 दिसंबर को होगी।
वसुंधरा ने झालरापाटन से नामांकन पत्र भरा
वहीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सात दिसम्बर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए झालावाड़ जिले के झालरापाटन विधानसभा क्षेत्र से आज अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। राजे ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार के रुप में अपना नामांकन पर्चा भरने से पहले रोड शो किया और इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन तथा अन्य कई नेता और कार्यकतार् मौजूद थे। वह अपना नामांकन दाखिल करने के लिए उन्होंने सुबह दस बजे विशेष विमान से झालावाड़ की कोलाना हवाई पट्टी पहुंची जहां उनके पुत्र सांसद दुष्यंत सिंह एवं भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वह प्राचीन धार्मिक स्थल राडी के बालाजी मंदिर पहुंची और वहां पूजा अर्चना कर अपनी जीत तथा प्रदेश में भाजपा सरकार बनने की कामना की। इसके पश्चात उन्होंने रोड शो कर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।
इस बार उनका चुनावी मुकाबला भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आये विधायक मानवेन्द्र सिंह से होगा।


सूरत - गुजरात के सूरत में लाजपुर सेंट्रल जेल में दुष्कर्म और भ्रष्टाचार के आरोपों में बंद विवादित संत आसाराम बापू के बेटे नारायण साई को शनिवार को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। जेल के एक अधिकारी ने बताया कि उन्हें जांच और इलाज के लिए नये सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
ज्ञातव्य है कि अपने पिता की तरह की स्वंभू धमोर्पदेशक साई सितंबर 2013 से यहां जेल में बंद हैं। उन पर यहां की ही उन दो बहनों में से एक से दुष्कर्म का आरोप है जिनमें से बड़ी बहन ने उनके पिता पर दुष्कर्म का आरोप लगा रखा है। उन पर पुलिस तथा न्यायिक अधिकारियों को रिश्वत देने का षडयंत्र रचने संबंधी भ्रष्टाचार का मामला भी दर्ज है।
इससे पहले, नारायण साईं को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट से २५ अक्टूबर को हत्या के प्रयास मामले में नियमित जमानत मिल गई थी। हालांकि रेप के अन्य मामले में वह सूरत (गुजरात) की जेल में कैद है। पानीपत पुलिस ने नारायण साईं के खिलाफ रेप केस में गवाह महेंद्र चावला पर मई 2015 को हुए हमले के बाद हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया था।
चावला 1996 में आसाराम की शरण में गया था और अहमदाबाद व सूरत के आश्रम में रहा था। बाद में आसाराम और उसके बेटे नारायण साईं पर रेप के आरोप लगने के बाद चावला नारायण साईं के खिलाफ दर्ज रेप केस में गवाह बना था। नारायण साईं के वकील ने हाईकोर्ट को बताया था कि नारायण साईं 2 साल से कस्टडी में है। मामले में घायल चावला के रेप केस में बयान दर्ज हो चुके हैं। ऐसे में नारायण साईं की कस्टडी की कोई जरूरत नहीं है। हाईकोर्ट ने याची पक्ष की दलीलों से सहमति दिखाते हुए जमानत दी थी।


नई दिल्ली - नेशनल हेराल्ड मामले में दिल्ली में पटियाला हाउस स्थित विशेष अदालत में शनिवार को सुनवाई टल गई। कोर्ट ने मामले को 8 जनवरी, 2019 तक के लिए स्थगित कर दिया है। शनिवार को होने वाली सुनवाई में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी कोर्ट के सामने सबूत पेश करने थे, लेकिन कोर्ट ने क्रॉस चेक करने के लिए इस मामले की तारीख आगे बढ़ा दी है।
वहीं, सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कांग्रेस नेता मोतीलाल वोहरा की उस अर्जी को भी खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने स्वामी द्वारा इस केस को लेकर किए जा रहे कथित अपमानजनक ट्वीट पर रोक की मांग की थी।
बता दें कि भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी ने 50 लाख रुपये की धोखाधड़ी की थी। इस मामले में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मोतीलाल वोरा, ऑस्कर फर्नाडिस, सुमन दुबे, सैम पित्रोदा और यंग इंडिया कंपनी पर आरोप लगे हैं।
इससे पहले कोर्ट ने शिकायतकर्ता भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी से सबूत मांगे थे। इस पर पिछली सुनवाई में सुब्रमण्यम स्वामी ने सुनवाई टालने के लिए अर्जी दी थी। अर्जी में कहा गया कि केस की सुनवाई के लिए अगली तारीख तय की जाए, क्योंकि शिकायतकर्ता को किसी कार्यक्रम के सिलसिले में मालदीव जाना है। अदालत ने अर्जी को मंजूर करते हुए सुनवाई 17 नवंबर यानी शनिवार के लिए तय कर दी थी, लेकिन अब इसकी सुनवाई 8 जनवरी, 2019 में होगी।
गौरतलब है कि भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने पटियाला हाउस कोर्ट में नेशनल हेराल्ड मामले में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल, सोनिया गांधी और अन्य पर आरोप लगाया था कि उन्होंने साजिश के तहत महज 50 लाख रुपये का भुगतान कर धोखाधड़ी की। जिसके जरिये यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने 90.25 करोड़ रुपये की वह रकम वसूलने का अधिकार हासिल कर लिया, जिसे एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड को कांग्रेस को देना था।
इस मामले में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मोतीलाल वोरा, ऑस्कर फर्नाडिस, सुमन दुबे, सैम पित्रोदा और यंग इंडिया कंपनी आरोपित हैं। फिलहाल सभी आरोपित जमानत पर हैं। इस मामले में शिकायतकर्ता के बयान दर्ज हो चुके हैं।
नेशनल हेराल्ड बिल्डिंग की लीज खत्म करने के फैसले को चुनौती
केंद्र की ओर से नेशनल हेराल्ड बिल्डिंग की लीज समाप्त करने के केंद्र सरकार के फैसले को एसोसिएट जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) ने सोमवार को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती दी। शहरी विकास मंत्रालय की ओर से 30 अक्टूबर को लीज खत्म करते हुए जारी किए गए आदेश में 15 नवंबर तक आइटीओ स्थिति प्रेस एन्क्लेव परिसर से जगह खाली करने को कहा गया था।
बता दें कि इससे पहले हुई सुनवाई के दौरान मोतीलाल वोरा की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ वकील आर एस चीमा ने अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल को बताया कि सुब्रमण्यम स्वामी ट्वीट करके आरोपियों का चरित्रहनन कर रहे हैं। आर एस चीमा ने यह भी कहा कि शिकायतकर्ता (सुब्रमण्य स्वामी) आरोपियों की तरफ से पेश हुए वकीलों का भी अपमान कर रहे हैं और केस के गुण-दोष पर टिप्पणी करके मौजूदा जांच को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं।
वहीं, भाजपा नेता स्वामी ने एक निजी आपराधिक शिकायत में यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य पर धोखाधड़ी और रकम में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्होंने यंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के जरिए महज 50 लाख रुपये की रकम देकर एसोसिएट जर्नल्स से कांग्रेस के जरिए वसूले जाने वाली 90.25 करोड़ रुपये की रकम का अधिकार हासिल कर लिया।

 


मुंबई - प्रवर्तन निदेशालय मुंबई की अदालत में पीएनबी घोटाले के मुख्‍य आरोपी मेहुल चोकसी को 'भगोड़ा आर्थिक अपराधी' घोषित करने की याचिका लेकर पहुंची। लेकिन वकील ने कोर्ट को बताया कि चोकसी अभी भारत नहीं लौट पाएंगे। अगर ईडी को उनका बयान दर्ज करना है, तो एंटीगुआ जा सकते हैं। मेहुल की तबीयत उन्‍हें सफर करने की इजाजत नहीं दे रही है।
पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्‍य आरोपी मेहुल चोकसी को 'भगोड़ा आर्थिक अपराधी' घोषित करने के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आवेदन की सुनवाई के दौरान चोकसी के वकील ने मुंबई अदालत को बताया कि अभी वह यात्रा करने के लिए मेडिकली फिट नहीं है। इसलिए मेहुल का बयान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग या ईडी अधिकारियों के माध्यम(एंटीगुआ) से दर्ज किया जा सकता है। इसके अलावा तीन महीने तक उनकी तबीयत सुधरने का इंतजार किया जा सकता है, तब वह अपने बयान को रिकॉर्ड करने के लिए वापस आ जाएंगे।
बता दें कि 13,400 करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में मेहुल चोकसी और नीरव मोदी के खिलाफ ईडी और सीबीआइ ने मामला दर्ज कर रखा है। समन के बावजूद ईडी के समक्ष पेश नहीं होने पर जहां उसको भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया गया वहीं उसकी कई संपत्ति भी जब्त कर ली गई।


नई दिल्ली - चारा घोटाले की सजा काट रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही है। रांची के रिम्स में भर्ती लालू यादव कि़डनी सही ढंग से काम नहीं कर रही है। उनका किडनी सीरम क्रिएटिनिन का 1.85 के स्तर तक जा पहुंचा है। इसके अलावा जीएफआर में भी बढ़ोतरी हो रही है। अगर उनकी हालत में सुधार नहीं हुआ तो माना जा रहा है कि लालू सीकेडी फोर स्टेज में जा सकते हैं। लालू यादव की हाल पूछने रिम्स में एनसीपी के नेता डीपी त्रिपाठी और मसौढी से विधायक रही रेखा देवी भी पहुंची।
स्वास्थय को लेकर चिंता
लालू प्रसाद यादव से मिलने पहुंची मसौढ़ी से विधायक रेखा देवी ने लालू की स्वास्थ्य को लेकर चिंता जाहिर की। रेखा देवी ने बताया फिलहाल लालू की तबीयत ठीक नहीं है। लालू के पैर में जख्म हो गया है जिस वजह से लालू चलने में असमर्थ है। उनका शूगर लेवल भी बढ़ा हुआ है। रेखा देवी ने लालू प्रसाद यादव को बेहतर इलाज के लिए रांची से बाहर ले जाने की बात भी कही।
बेहतर विकल्प पर विचार
रिम्स में लालू यादव का इलाज कर रहे मेडिसिन विभाग के प्रो. डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि इन्फेक्शन रोकने के लिए दो एंटीबायोटिक दवाएं शुरू की गयी हैं। इंसुलिन के साथ साथ अन्य जरूरी दवाएं पहले से ही चल रही है। फिलहाल उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा गया है। एक दो दिन देखने के बाद भी यदि उनकी तबीयत नहीं सुधरी तो बेहतर विकल्प के लिए सोचा जाएगा। आपको बता दें कि गुरुवार की रात को लालू यादव का शुगर लेवल 190 पहुंच गया है। डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि टोटल काउंट का बढ़ना संकेत है कि शरीर में इन्फेक्शन का स्तर काफी बढ़ा हुआ है।
स्टेज फोर में जा सकता है किडनी
डॉ उमेश प्रसाद ने बताया कि उनका क्रिएटनिन लेवल बढ़कर 1.85 पहुंच चुका है। इसके कारण जीएफआर बढ़ा हुआ है। इससे किडनी का कार्य भी प्रभावित हुआ है। वह पहले से क्रोनिक किडनी डिजीज (सीकेडी) स्टेज थ्री की मरीज हैं। ऐसे में यदि जल्द उनकी सेहत नहीं सुधरती है तो स्टेज फोर में जाने में समय नहीं लगेगा।

Page 1 of 3360

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें