जम्मू-कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के श्रीनगर स्थित आवास पर सर्वदलीय बैठक चल रही है। इस बैठक में नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) प्रमुख महबूबा मुफ्ती भी उपस्थित हैं। इससे पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती वीरवार को श्रीनगर में नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के घर पर सर्वदलीय बैठक के लिए पहुंचीं। महबूबा की रिहाई के बाद कश्मीर में सियासी गतिविधियां तेज हो गई हैं। बुधवार को महबूबा ने करीब सवा साल बाद वरिष्ठ नेताओं से पहली बैठक की तो वहीं नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला और उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने महबूबा से मुलाकात की। वीरवार को डॉ. फारूक के निवास पर होने वाली अहम बैठक में महबूबा के अलावा वे नेता रहेंगे, जिन्होंने चार अगस्त 2019 को गुपकार घोषणापत्र पर हस्ताक्षर किए थे।गौरतलब है कि पांच अगस्त 2019 की तड़के हिरासत में ली गई महबूबा को बीती रात रिहा किया है। सुबह महबूबा ने गुपकार मार्ग पर सरकारी निवास पर पीडीपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक की। दो घंटे चली बैठक में महबूबा ने कहा कि सभी लंबी लड़ाई के लिए तैयार रहें। कश्मीर के हालात व अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। दोपहर बाद डॉ. फारूक अपने पुत्र उमर संग महबूबा से मिले। 40 मिनट तक पिता-पुत्र ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के खिलाफ मिलकर आगे बढ़ने और गुपकार घोषणा को सियासी एजेंडा बनाने पर विचार-विमर्श किया।उन्होंने घोषणापत्र पर हस्ताक्षर करने वाले सभी दलों के नेताओं के साथ वीरवार शाम होने वाली बैठक के लिए महबूबा को न्योता दिया। महबूबा ने स्वीकार किया है। बातचीत में उमर ने कहा कि महबूबा का कुशलक्षेम जानने गए थे। जम्मू-कश्मीर से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर बातचीत हुई है। उमर ने महबूबा के निवास पर हुई बैठक को लेकर ट्वीट किया। इसके बाद महबूबा ने ट्विटर पर लिखा कि आपका और फारूक सहब का मेरे घर आना अच्छा लगा है। डॉ. फारूक ने मुझे यकीन है कि हम मिलकर हालात को बेहतर बना सकते हैं।

 

सज्जाद ने भी बैठक:-पीपुल्स कांफ्रेंस (पीसी) के वरिष्ठ नेताओं के दल ने सज्जाद गनी लोन से बैठक की। पीसी गुपकार घोषणा की भागीदार है। सज्जाद ने बैठक के बारे में बातचीत से इन्कार किया, लेकिन उनके करीबी ने बताया कि वीरवार को होने वाली बैठक में पार्टी गुपकार घोषणा के एजेंडे को आगे लेने के लिए तैयार है।

जानें, क्या है गुपकार घोषणा;-चार अगस्त 2019 की शाम को डॉ. फारूक अब्दुल्ला के निवास पर महबूबा मुफ्ती, पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जाद गनी लोन, अवामी नेशनल कांफ्रेंस के मुजफ्फर शाह, कांग्रेस नेता जीए मीर व कश्मीर के अन्य छोटे बड़े राजनीतिकि दलों के नेताओं की बैठक हुई थी। इसमें भाजपा शामिल नहीं थी। बैठक में सभी नेताओं ने घोषणापत्र तैयार कर हस्ताक्षर किए। घोषणापत्र में कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे से छेड़छाड़ नहीं होने दी जाएगी। इसी घोषणा को गुपकार घोषणा कहते हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें