बागपत। 27 नवंबर की बात है। कुश्ती, नामी पहलवानों और बड़े दंगलों के लिए मशहूर उत्तर प्रदेश का बागपत, जहां बड़ौत में एक दंगल चल रहा था। लंगोट कसे पहलवान, नियम-कायदे समझाते खलीफा और मल्लों के कस-बल देखने को उतावले कुश्ती के शौकीन, जैसा कि आम दंगलों में होता है। पर यहां मौजूद 15 साल की एक लड़की ने इस दंगल को खास बना दिया।महिला पहलवान अंशिका खोखर ने अखाड़े में उतर खलीफा से कुछ कहा। इस पर खलीफा ने एलान किया- अंडर15 में है कोई लड़का, जो अंशिका की चुनौती स्वीकार सके? फिर क्या था, चारों तरफ सन्नाटा पसर गया। तमाम पहलवानों की अचरज भरी निगाह एक-दूसरे पर टिक गईं। कुछ देर बाद बड़ौत का पहलवान हर्ष अखाड़े में पहुंचा। उसने जैसे ही अंशिका की चुनौती स्वीकार की, अखाड़ा तालियों से गूंज उठा। महिला और पुरुष पहलवान के बीच होने वाली इस कुश्ती को देखने के लिए हर कोई उत्सुक था। अंशिका के मुकाबला जीतते ही यह घटना समाचार-पत्रों और मीडिया की सुर्खियों में शुमार हो गई...।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें