कोझीकोड। केरल के कोझीकोड में एक परिवार के 6 सदस्‍यों की मौत मामले में आरोपियों को 6 दिनों के लिए पुलिस की हिरासत में भेज दिया गया है। ज्‍युडिशियल फर्स्‍ट क्‍लास मजिस्‍ट्रेट कोर्ट, थामारास्‍सेरी ने आज यह फैसला सुनाया।
संपत्ति से जुड़ा है मामला:-बता दें कि यह मामला संपत‍ि से जुड़ा हुआ है। मामले में बहू ने अपने पति समेत सास-ससुर व तीन अन्‍य सदस्‍यों की हत्‍या कर दी। हत्‍या के लिए जहर का इस्‍तेमाल किया गया। इस मामले की मुख्‍य आरोपी परिवार की बहू जॉली व उसके दो साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।
खाने में दिया था सायनायड;-पुलिस की मानें तो 14 सालों में जॉली ने खाने के जरिए सायनायड दिया और 6 लोगों की जान ले ली। जॉली ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है। जॉली के दो साथी एमएस मैथ्यू और प्राजी कुमार ने उसे सायनायड सप्‍लाई किया था।
2002 में हुई थी पहली हत्‍या;-परिवार में सबसे पहले वर्ष 2002 में जॉली ने अपनी सास, अनम्मा की हत्‍या की। इसके बाद 2002 में ससुर टॉम थॉमस की। 2011 में पति रॉय थॉमस की, 2014 में चाचा मैथ्यू मंचडी व 2016 में उनके चचेरे भाई शाजू की पत्नी सिली की। वहीं 2016 में उनकी भतीजी अल्पाइन को भी नहीं छोड़ा।
पहले मान रहे थे प्राकृतिक मौत;-इन सभी मौत मामलों को प्राकृतिक घटना माना जा रहा था। लेकिन पुलिस के खुलासे ने सबको हैरानी में डाल दिया। जॉली ने जब पति की मौत के बाद संपत्ति हथियाने की कोशिश की तभी शक की सुईयों ने उसकी ओर इशारा कर दिया था। संदेह होने के बाद दफनाए गए इन शवों को निकाला गया और इनकी जांच की गई। जांच में यह बात सामने आई क‍ि इन सबकी मौत सायनायड के कारण हुई है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें