नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही भारत और पाकिस्तान के बीच लगातार तनाव जैसे हालात हैं। पाकिस्तान की ओर से हमले की आशंका भी जताई जा रही है। ऐसे में भारत की पाकिस्तान के हर कदम पर कड़ी नजर है। पाकिस्तान, अपनी नापाक हरकतों के लिए जाना जाता है।भारत-पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच, भारतीय नौसेना के कुछ युद्धपोत और युद्धक विमान अगले कुछ दिनों तक उत्तरी अरब सागर में अग्रिम पंक्ति में तैनात रखे गए हैं।ऐसा इसलिए किया गया है, ताकि भारतीय नौसेना इस खास और रणनीति रूप से महत्वपूर्ण समुद्री इलाके में पाकिस्तान के चल रहे बड़े नौसैनिक अभ्यास पर पैनी नजर रख सके।दरअसल, पाकिस्तान अपनी युद्ध क्षमता का आकलन करने के लिए उत्तरी अरब सागर में युद्धाभ्यास कर रहा है। इस दौरान पाकिस्तान अगले कुछ दिनों तक मिसाइल और रॉकेट फायर करेगा।सूत्रों के मुताबिक,भारतीय नौसेना पाकिस्तानी युद्धाभ्यास पर करीबी नजर रख रही है। पाकिस्तान का यह युद्धाभ्यास सामान्य प्रक्रिया के तहत हो रहा है, लेकिन नापाक पाकिस्तान का इरादा कभी भी बदल सकता है।
ना'पाक' हरकत पर नजर;-भारत की नौसेना उन हालातों के लिए भी तैयार रहना चाहती है। वह पाकिस्तान के ऊपर भरोसा करने की गलती नहीं कर सकती। खास ऐसे हालात में जब जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान की सेना और आतंकवादियों की ओर से हमले का खतरा बढ़ गया है। भारत हर मोर्चे पर तैयार रहना चाहता है और पाकिस्तान पर किसी भी तरह भरोसा नहीं करना चाहता। इसे देखते हुए नौसेना की नजर पाकिस्तान के युद्धाभ्यास पर है।
भारतीय नौसेना है तैयार;-पाकिस्तान इस युद्धाभ्यास को लेकर उत्तरी अरब सागर से गुजरने वाले मालवाहक जहाजों के लिए मेरिटाइम अलर्ट जारी कर रहा है कि वह 25 से 29 सितंबर तक मिसाइल, रॉकेट और बंदूकों की फायरिंग करेगा। सूत्रों के अनुसार, पाकिस्तान के इस युद्धाभ्यास पर नौसेना की पैनी नजर रहेगी। अगर पाकिस्तान, इस दौरान एक भी नापाक हरकत करने की कोशिश करता है तो उसका जवाब देने के लिए नौसेना पूरी तरह तैयार है। नौसेना के साथ ही वायुसेना भी इसके लिए तैयार है।सूत्रों के मुताबिक, नौसेना पाकिस्तानी युद्धाभ्यास वाले इलाके में निगरानी के लिए Poseidon-8I(P-8I) पेट्रोल एयरक्राफ्ट का भी इस्तेमाल कर रही है। सूत्रों ने इस बात की भी जानकारी दी है कि उत्तरी अरब सागर में पाकिस्तान के कम से कम सात से आठ युद्धपोत इस वक्त तैनात हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें