बेंगलुरु। आई मोनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) ज्वेल्स का मालिक लोगों को करोड़ों का चूना लगाने के बाद से फरार है। आईएमए (I Monetary Advisory) कंपनी के प्रबंध निदेशक मुहम्मद मंसूर खान (Mohammed Mansoor Khan) के आत्महत्या कर लेने वाले कथित ऑडियो क्लिप के वायरल होने के बाद से निवेशक परेशान हैं। हालांकि, अब कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने इस मामले को गंभीरता से लेने की बात कही है।कर्नाटक सीएम ने कहा कि आईएमए ज्वेल्स के मुद्दे को गंभीरता से लिया गया है। सरकार, निवेशकों की स्थिति को समझती है। मैंने इस मुद्दे पर गृह मंत्री एमबी पाटिल से भी बात की है और सीसीबी (केंद्रीय अपराध शाखा) को इस मामले की जांच सौंपी गई है। वहीं, उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।इसे लेकर कर्नाटक गृह मंत्री ने बताया, 'यह एक लिमिटेड कंपनी है, जिसमें सभी निवेशक शेयरहोल्डर होते हैं। इसमें सोने में ट्रे़ड होता है। एक भ्रष्टाचार यहां हुआ है। हम इसे गंभीरता से ले रहे हैं'। प्रदर्शन कर रहे एक निवेशक ने बताया कि उसने पिछले साल ही आईएमए (IMA) में 25 लाख रुपये का निवेश किया था। निवेश के 9 महीने के बाद उसे रिटर्न भी मिला। जब चुनाव शुरू हुए तो उन्होंने पैसे की कमी का हवाला देते हुए 2 महीने इंतजार करने का अनुरोध किया, लेकिन 2 दिन पहले कंपनी की तरफ से निवेशकों को एक संदेश मिला है। आडियो संदेश में कंपनी का मालिक कह रहा है कि वह आत्महत्या कर रहा है।कथित आडियो संदेश के बाद गुस्सए निवेशकों ने बेंगलुरू में आईएमए ज्वेल्स के कार्यालय के बाहर हंगामा किया और अपना पैसा लौटाने की मांग की। वहीं, मामले में पुलिस ने भी आडियो संदेश की पुष्टि नहीं की है।दरअसल, कंपनी के कार्यालय के बाहर 5 जून से 9 जून तक रमजान के कारण अवकाश का नोटिस लगा था, लेकिन 10 जून को भी कार्यालय नहीं खुला। इसी दौरान निवेशकों के पास कंपनी के संस्थापक मोहम्मद मंसूर खान का एक संदेश मिला, जिसके बाद निवेशक परेशन हो गए। कथित आडियो संदेश में मोहम्मद मंसूर खान ने भ्रष्ट नेताओं और नौकरशाहों से परेशन होकर आत्महत्या करने की बात कह रहा था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें