नई दिल्ली। Triple Talaq का एक नया मामला सामने आया है। एक मुस्लिम महिला ने तलाक को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। महिला का आरोप है कि उसके पति ने गैर कानूनी तरीके से उसे तलाक दिया है। महिला ने कोर्ट से तीन तलाक अध्यादेश में कार्रवाई की भी मांग की है। अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले में शुक्रवार को सुनवाई करेगा। 32 वर्षीय महिला ने अपने पति पर उसे प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। महिला ने कोर्ट से गुजारिश की है कि इस तलाक को गैर-कानूनी घोषित किया जाए और तीन तलाक अध्यादेश में कार्रवाई की जाए।इससे पहले भी कई बार ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। बिहार के भागलपुर बीबी जोहरा नाम की एक महिला को उसके पति ने फोन पर ही तलाक दे दिया था। तलाक बोलने के बाद मुजाहिद ने जोहरा को जान से मारने की धमकी दी। इस घटना के बाद समाज के लोगों ने उसका साथ तो दिया नहीं उलटा उसपर दबाव बनाया गया और बच्चों समेत उसे गांव से बाहर करवा दिया।इसके बाद जोहरा ने अपने बच्चों के साथ जगदीशपुर थाने में जाकर पति की करतूतों की लिखित शिकायत देकर न्याय की गुहार लगाई। जब इस पर त्वरित कार्रवाई नहीं की गई तो उसने व्यवहार न्यायालय में जाकर मदद मांगी।
क्या कहता है कानून;-सरकार ने तीन तलाक के संबंध में जो ताजा अध्यादेश लाया गया है उसमें ऐसे तलाक को अवैध माना गया है। अधिवक्ता अजय कुमार सिन्हा की मानें तो फोन पर या वाट्सएप पर दिया गया तलाक गैरकानूनी है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें