नई दिल्ली। कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के बीच आपसी मतभेद की खबरें सामने आ रही हैं, जबकि कर्नाटक में दोनों पार्टियां मिलकर सरकार चला रहे हैं। अब जेडीएस के प्रदेश अध्यक्ष एच विश्वनाथ ने कहा है कि कांग्रेस नेताओं को गठबंधन सरकार में बिखराव करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा, 'वे (कांग्रेस नेता) 2022 में राजनीति कर सकते हैं, लेकिन अभी सही वक्त नहीं है। हम सिद्धारमैया को कांग्रेस में लाए थे और हमने ऐसी स्थिति पैदा की, जिसने उन्हें सीएम बना दिया। दरअसल, एच विश्वनाथ की ओर से राज्य के पूर्व सीएम सिद्धारमैया पर दिए गए एक बयान के बाद से यह विवाद शुरू हो गया है।इससे पहले विश्वनाथ ने कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के काम-काज पर सवाल उठाया था। इसके बाद विश्वनाथ के बयान के विरोध में खुद सिद्दारमैया ने कमान संभाली और कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की समन्वय समिति की अगली बैठक में इस मामले को उठाने की बात कही। बताया जा रहा है कि यह विवाद उस वक्त से शुरू हुआ है, जब यह अटकलें जाने लगी थीं कि लोकसभा चुनाव के रिजल्ट आने के बाद दोनों पार्टियों के बीच हुआ गठबंधन टूट सकता है। हालांकि किसी भी पार्टी के नेता ने गठबंधन में दरार की बात नहीं की।विश्वनाथ ने कहा था कि सिद्धारमैया के चमचे उन्हें फिर से मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं, लेकिन कुमारस्वामी ही अगले चार साल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा था, 'अगला चुनाव होने में अभी 4 साल बाकी हैं तो हम अभी से भविष्य के बारे में अनुमान क्यों लगाएं? इतना तय है कि यह सरकार अगले 4 साल तक चलेगी। 4 साल बाद सिद्दारमैया मुख्यमंत्री बनते हैं तो यह देखने वाली बात होगी।'
कुमारस्वामी ने भी दिखाए थे तेवर;-हाल ही में जनवरी में खुद मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने भी कहा था कि अगर कांग्रेस अपने विधायकों को उनके काम करने के तरीके की आलोचना करने से नहीं रोक सकती तो वे अपना इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा था, 'कांग्रेस को निश्चित ही अपने विधायकों को नियंत्रित करना चाहिए और मामले को सुलझाना चाहिए। अगर वे खुली बैठकों में मेरे खिलाफ टिप्पणी करते रहेंगे तो मैं इस्तीफा देना चाहूंगा।'वहीं विश्वनाथ सिर्फ सिद्दारमैया ही नहीं, बल्कि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी हमला बोला था। उन्होंने संसद में अविश्वास प्रस्ताव की बहस के दौरान कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी द्वारा पीएम मोदी के गले लगने को बचकानी हरकत बताया। उन्‍होंने कहा इसकी कोई जरूरत नहीं थी, ये एक बचकानी हरकत थी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें