श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए पूर्व विधायक और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के वरिष्ठ नेता एजाज मीर के घर से चोरी हुए पुलिसकर्मियों के हथियारों के मामले में मंगलवार को तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही इस मामले में पकड़े गए आरोपितों की संख्या चार हो गई है।इस मामले में मुख्य आरोपित पूर्व स्पेशल पुलिस आफिसर (एसपीओ) आदिल बशीर और उसके साथी यावर और उनके अन्य सहयोगियों की तलाश जारी है। आदिल और यावर दोनों इस समय हिज्ब के सक्रिय आतंकी बन चुके हैं। 28 सितंबर 2018 को श्रीनगर के जवाहर नगर इलाके में स्थित सरकारी निवास जे-11 में तैनात राज्य पुलिस के सुरक्षा दस्ते की सात असॉल्ट राइफलें चोरी हो गई थीं। यह निवास दक्षिण कश्मीर में जिला शोपियां के अंतर्गत वाची विधानसभा क्षेत्र के तत्कालीन विधायक एजाज मीर को आवंटित था।जिस सुरक्षा दस्ते के हथियार चोरी हुए थे, वह एजाज मीर की सुरक्षा के लिए ही तैनात था। एनआइए ने इस मामले की जांच का जिम्मा 18 अक्तूबर 2018 को अपने हाथ में लेते हुए एफआइआर दर्ज की थी।एनआइए के प्रवक्ता ने बताया कि मामले की छानबीन के दौरान पता चला कि हथियार चोरी की वारदात को उनके साथ तैनात पुलिस एसपीओ आदिल बशीर शेख निवासी शोपियां ने अंजाम दिया है। इस वारदात में उसका साथ यावर अहमद डार निवासी शोपियां, रफीक अहमद बट निवासी पुलवामा ने दिया।हथियार लूट की इस वारदात की साजिश को आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडरों ने रचा था। प्रवक्ता ने बताया कि यावर भी इस समय हिज्ब का एक सक्रिय आतंकी है। वह और आदिल बशीर दोनों ही फरार हैं, जबकि रफीक अहमद बट को वारदात के चंद दिन बाद ही पकड़ लिया गया था। उन्होंने बताया कि मामले की छानबीन में पता चला कि परवेज अहमद वानी निवासी शोपियां, जावेद यूसुफ डार निवासी शोपियां और सब्जार अहमद निवासी शोपियां ने आदिल की पूरी मदद की है।इन तीनों के खिलाफ सभी साक्ष्य जमा किए गए और उसके बाद इन्हें राज्य पुलिस की सहायता से इनके ठिकानों पर दबिश दे पकड़ लिया गया। प्रवक्ता ने बताया कि परवेज, सब्जार और जावेद को बुधवार जम्मू स्थित एनआइए की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। अदालत में इनका पूछताछ के लिए रिमांड प्राप्त किया जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें