नई दिल्ली। इथियोपिया हादसे के बाद चार देशों ने यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों के परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया है।इथियोपिया एयरलाइंस के एक विमान के उड़ान भरने के कुछ ही मिनट बाद दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद चीन, इंडोनेशिया, इथियोपिया के बाद अब सिंगापुर के विमानन नियामक ने बोइंग 737 मैक्स 8 के संचालन को अस्थाई रूप से रोक दिया है।विमान हादसे में 157 लोगों की मौत हो गई थी।यात्रियों की सुरक्षा को लेकर उठ रही चिंताओं के बीच भारत के नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने विमानन नियामक डीजीसीए को घरेलू विमानन कंपनियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे बोइंग 737 मैक्स विमानों की सुरक्षा जांच करने के लिए कहा है।जेट एयरवेज और स्पाइसजेट की बेड़े में 737 मैक्स विमान शामिल है।प्रभु ने सोमवार को ट्वीट में कहा कि उन्होंने नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अधिकारियों को घरेलू कंपनियों द्वारा परिचालित बोइंग 737- मैक्स विमानों के " सुरक्षा जांच " का निर्देश दिया है।
क्रैश हुआ बोइंग का शेयर:-चार देशों में बोइंस 737 मैक्स विमानों के परिचलालन पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद कंपनी के शेयर नीचे लुढ़क गए, जिसकी वजह से अमेरिकी शेयर बाजार भी दबाव में आ गया।सोमवार को न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में बोइंग का शेयर 7 फीसद से अधिक तक लुढ़क गया। हालांकि, आखिरी घंटों में कीमतों में थोड़ी रिकवरी आई और यह 5.33 फीसद की गिरावट के साथ 400.1 डॉलर पर बंद हुआ।शुक्रवार को बोइंग का शेयर 422.54 डॉलर की कीमत पर बंद हुआ था। सोमवार की ट्रेडिंग के दौरान स्टॉक 365.55 डॉलर के निचले स्तर तक फिसल गया।इस बीच अमेरिका के संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) ने घोषणा कर कहा है कि अगर बोइंग 737 मैक्स में सुरक्षा संबंधी कोई खामी पाई जाती है तो तत्काल और उचित कार्रवाई की जाएगी।सोमवार को ट्विटर पर जारी एक बयान में प्रशासन ने पुष्टि कर कहा किएफएए और नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ्टी बोर्ड (एनटीएसबी) की एक टीम दुर्घटना के आंकड़े एकत्र करने और नागरिक उड्डयन अधिकारियों के संपर्क में रहने के लिए दुर्घटना स्थल पर मौजूद है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें