नई दिल्ली। कहते हैं इतिहास खुद को दोहराता है। फैशन को तो आपने बार-बार दोहराते हुए देखा होगा। कई घटनाएं भी ऐसी होती हैं, जो याद दिलाती हैं कि इतिहास में भी बिल्कुल ऐसा ही हो चुका है। इसी तरह कैलेंडर भी खुद को दोहराता है।जी हां, ऊपर की पंक्तियों में आपने बिल्कुल सही पढ़ा... कैलेंडर भी खुद को दोहराता है। वैसे तो हर हफ्ते सोमवार से रविवार तक दिन, हर महीने एक से 31 तक तारीखें और हर साल जनवरी से दिसंबर तक महीने दोहराते ही हैं। अगर किन्हीं दो वर्षों के कैलेंडर में दिन, तारीख और महीने बिल्कुल एक जैसे दिखें तो इसे क्या कहेंगे। जुडवां कैलेंडर या डुप्लीकेट कैलेंडर...साल 2019 ऐसा ही एक साल है। इसे जुडवां कहें या डुप्लीकेट, लेकिन 2019 के कलेंडर 1895 के कैलेंडर में आप चाहकर भी कोई अंतर नहीं ढूंढ़ पाएंगे। दोनों साल के कलेंडर में मंगलवार से शुरू हुए साल का अंत भी मंगलवार को ही होता है। साल 2019 के साथ इतनी समानता के चलते साल 1895 का यह कैलेंडर WhatsApp पर खूब शेयर हो रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें