नई दिल्ली - उत्तर प्रदेश, गुजरात के बाद अब महाराष्ट्र में एक शहर और जिले का नाम बदलने की मांग की जा रही है। शहरों के नाम बदलने की शुरुआत यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की। उन्होंने सबसे पहले इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया और उसके बाद फैजाबाद का नाम अयोध्या करने की घोषणा की है। इसके बाद गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन भाई पटेल और सीएम विजय रूपाणी भी कह चुके हैं कि वह अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने पर विचार कर रह हैं। वहीं अब शिवसेना ने महाराष्ट्र में एक शहर और एक जिले का नाम बदलने की मांग की है।
शिवसेना की नेता मनीषा कयांदे ने मांग कि है औरंगाबाद शहर का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का धाराशिव किया जाए। उन्होंने कहा कि यह शिवसेना की कोई नई मांग नहीं है बल्कि काफी समय से कर रही है। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को शिवसेना काफी समय से उठाती रही है लेकिन कांग्रेस और एनसीपी मुस्लिम वोटर्स को खुश करने के लिए इस विरोध करती रही है।
गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन भाई पटेल ने कहा था कि पिछले काफी समय से अहमदाबाद का नाम बदलने की मांग की जा रही है। अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की मांग हो रही है। उन्होंने कहा कि कानूनी कार्रवाई को पूरा करने में हमें लोगों का सहयोग मिला तो हम नाम बदलने को तैयार हैं। उन्होंने कहा था कि लोग अहमदाबाद का नाम कर्णावती करने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब सही समय आएगा तो इसे बदल दिया जाएगा।
वहीं गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा है कि हम अहमदाबाद के नाम को कर्णावती में बदलने पर विचार कर रहे हैं, जिस पर बातचीत लंबे समय से चल रही है। कानूनी और अन्य सभी बातों को देखने के बाद ठोस कदम उठाए जाएंगे। आने वाले समय में हम इसके बारे में सोचेंगे।
ऐसे बदलता है शहर का नाम
- किसी शहर के स्थानीय लोग या जनप्रतिनिधि नाम बदलने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजे
- राज्य मंत्रिमंडल प्रस्ताव पर विचार करती है और मंजूरी देने के बाद राज्यपाल की सहमति को भेजती है
- राज्यपाल प्रस्ताव पर अनुंशसा देने के साथ अंतिम मंजूरी के लिए केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजता है
- गृहमंत्रालय से हरी झंडी मिलने के बाद राज्य सरकार नाम बदलने की अधिसूचना जारी करती है

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें