नई दिल्ली। दिल्ली का निर्भया कांड हो या यूपी का आरुषी मर्डर केस या हरियाणा में कांग्रेस नेता की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या का मामला, जब-जब देश के किसी कोने में बड़ा अपराध होता है, अंगुलियां सबसे पहले पुलिस पर ही उठती हैं। खस्ताहाल कानून व्यवस्था, वीवीआईपी सुरक्षा, यातायात संचालन, तफ्तीश में देरी से लेकर, आतंकवाद और नक्सलवाद की नाकामी तक का बोझ ढोने वाली हमारी पुलिस खुद कितनी…
नई दिल्ली। प्लास्टिक प्रदूषण की समस्या पूरे विश्व के लिए एक बड़ी पर्यावरणीय चिंता बनकर उभर रही है। पर्यावरण में घुले प्लास्टिक के सूक्ष्म कण मनुष्य के शरीर के भीतर पहुंचकर उन्हें नुकसान पहुंचा रहे हैं। दुनिया भर में हर साल 400 मिलियन (लगभग 4 करोड़) टन से अधिक प्लास्टिक का उत्पादन होता है। सौंदर्य प्रसाधन, खाद्य पैकेजिंग, बर्तन आदि जैसे उद्योगों के जरिए भी प्लास्टिक हमारे शरीर में पहुंच…
नई दिल्‍ली। सिर्फ पानी, बिजली और हवा से खाद्य पदार्थ बनाने की बात सुनने में कुछ अजीब लगती है। पेड़-पौधे यह काम कुदरती तौर पर करते हैं, लेकिन इसे कृत्रिम रूप से करना एक बड़ी तकनीकी चुनौती है। फिनलैंड की एक कंपनी का दावा है कि उसने पानी, हवा और बिजली से एक ऐसा प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ बनाया है जिसका स्वाद गेहूं के आटे जैसा है। कंपनी दो साल…
नागाओं (असम)। किंग कोबरा जिसका नाम सुनते ही अच्छे से अच्छे निडर लोग डर जाते है यदि वो आपके सामने ही आ जाए तो और वो भी तीन चार फीट का नहीं बल्कि पूरे 14 फीट का ऐसा सोचना भर से ही रूह कांप उठती है। असम के नागाओं में ऐसे ही एक किंग कोबरा से लोगों का सामना हुआ है। यहां के एक चाय बागान में यह सांप पकड़ा…
नई दिल्‍ली। कुछ साल पहले फिक्की के सर्वे के अनुसार देश की 60 फीसद कंपनियों का मानना है कि जल संकट ने उनके कारोबार को प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया है। इस सर्वे को हाल ही में चेन्नई की कंपनियों द्वारा उनके कर्मचारियों को दिए गए दिशानिर्देश से जोड़कर देखने की जरूरत है। कंपनियों की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि सभी कर्मचारी अपने घर से ही…
इम्फाल। भारतीय सेना ने मणिपुर के केकरु नागा गांव में उग्रवादी संगठन एनएससीएन (आईएम) के ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। सेना ने मणिपुर में एनएससीएन (आईएम) के एक अज्ञात ठिकाने को तबाह कर दिया है। उसके साथ ही एक कैडर को इस दौरान गिरफ्तार भी किया गया है।भारतीय सेना की पूर्वी कमान ने एक ट्वीट में कहा, 'विद्रोही समूहों को एक बड़ा झटका देते हुए, भारतीय सेना के जवानों ने…
पहले समय में जहां पानी होता था, लोगवहीं बसते थे। लेकिन अब इसके विपरीत जहां हम बसते हैं, वहां पानी ले जाना चाहते हैं। बहुमंजिली इमारतें इसका बड़ा उदाहरण हैं। प्रकृति व पानी ने सबकी व्यवस्था की थी चाहे वो पहाड़ी हो या मैदानी इलाका। पहाड़ों में धारे गांवों को तर रखते थे तो तालाब मैदानों को। राजस्थान, जहां पानी तलहटी में था, वहां और इस तरह की परिस्थितियों में…
अपने दूसरे कार्यकाल में मोदी सरकार ने भारत में जल संकट की गंभीरता को देखते हुए जल शक्ति मंत्रालय का गठन कर दिया है, जो सभी जल संबंधी मुद्दों की व्यापक रूप से निगरानी करेगा। मौजूदा जल संसाधन मंत्रालय को पेयजल और स्वच्छता मंत्रालय के साथ विलय करके और नदी संरक्षण निदेशालय को नए मंत्रालय में स्थानांतरित करके मजबूत किया गया है। देश में बढ़ते जल संकट को ध्यान में…
Page 9 of 174

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें