बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मृत्यु मामले में हर रोज बड़े-बड़े खुलासे हो रहे हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु शुरूआत में जितनी साधारण लग रही थी, इन खुलासों की वजह से अब लोगों को शक हो चला है कि दाल में कुछ तो काला है। अगर सुशांत सिंह राजपूत मृत्यु मामले से जुड़ी ताजा रिपोर्ट की मानें तो केके सिंह ने साल 2019 में रिया चक्रवर्ती और श्रुति को मैसेज भेजकर अपने बेटे का हाल जानने की कोशिश की थी लेकिन उन्हें इस मैसेजेज का कभी जवाब नहीं मिला।टाइम्स नाउ के अपनी एक रिपोर्ट में इन स्क्रीनशॉट्स को शेयर किया है। केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती को भेजे मैसेज में लिखा था, 'जब तुम जान गई कि मैं सुशांत का पापा हूं तो बात क्यों नहीं की ? आखिर बात क्या है ? फ्रेंड बनकर उसका इलाज और देखभाल कर रही हो तो मेरा भी कोई फर्ज बनता है कि सुशांत के बारे में सारी जानकारी मुझे भी रहे। कॉल करके मुझे सारी जानकारी दो।'श्रुति को भेजे मैसेज में केके सिंह ने लिखा था, 'मैं जानता हूं कि सुशांत के सारे खर्च और उसे भी तुम देखती हो। वो अभी किस स्थिति में है, इसके लिए बात करना चाह रहे थे। कल सुशांत से बात हुई तो वो कह रहा था कि बहुत परेशान हूं। अब तुम सोचो कि एक पिता के लिए कितनी चिंता होगी उसके लिए। इसलिए तुमसे बात करना चाह रहा था। अब तुम बात नहीं कर रही हो तो मैं मुंबई जाना चाहता हूं, फ्लाइट का टिकिट भेज दो।'सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह के इन मैसेज से साफ नजर आता है कि उन्हें पता था कि उनके बेटे के साथ कुछ गलत हो रहा है, जिसकी जानकारी उन्हें नहीं मिल पा रही है। सुशांत के फैंस उम्मीद जता रहे हैं कि केके सिंह को अपने सभी सवालों के जवाब जल्द ही मिल जाएंगे।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें