बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ने भले ही 13 दिन पहले इस दुनिया को अलविदा कह दिया हो लेकिन अब भी लोग इस खबर पर यकीन नहीं कर पा रहे हैं। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर ने बॉलीवुड और फैंस का दिल तोड़ दिया है। हर कोई सोशल मीडिया पर केवल सुशांत सिंह राजपूत के बारे में ही बात करते हुए दुख जाहिर कर रहा है। कुछ ऐसा ही हाल बिग बॉस 13 में नजर आ चुकी शहनाज गिल का भी जो सुशांत सिंह राजपूत से जुड़ी इस खबर को सुनकर बहुत निराश हो गई हैं। इस बात का खुलासा खुद शहनाज गिल ने किया है।एक लाइव चैट में बात करते हुए शहनाज गिल ने कहा कि, 'मैं कभी भी सुशांत सिंह राजपूत से नहीं मिली हूं न ही मैंने उनको बहुत करीब से जाना है। मैंने उनकी सभी फिल्मों को भी नहीं देखा है। उसके बाद भी जब मुझे सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या की खबर मिली तो मैं हैरान थी। इस खबर ने मुझे बहुत निराश कर दिया था।'आगे शहनाज गिन ने कहा कि, 'सुशांत सिंह राजपूत को इस तरह से अपनी जंदगी को खत्म नहीं करना चाहिए था। सुशांत सिंह राजपूत बहुत टैलेंटेड एक्टर थे। वह आगे चलकर देश का नाम रोशन कर सकते थे। वो अपनी जिंदगी में बहुत कुछ हासिल कर सकते थे। क्या पता आने वाले समय में वह बॉलीवुड के सुपरस्टार बन जाते।'सुशांत सिंह राजपूत की मौत की बाद उनके दोस्त प्रदीप सिंह ने भी अपनी निराशा जाहिर की थी। बॉलीवुड हंगामा को दिए एक इंटरव्यू में प्रदीप सिंह ने बताया था कि, 'लोग उसकी मौत का तमाशा बना रहे हैं। सुशांत सिंह राजपूत को ये बात जरा भी पसंद नहीं आती। लोग मुझसे सवाल कर रहे हैं कि सुशांत सिंह राजपूत के अंतिम संस्कार में उनको क्यों नहीं बुलाया गया। लोगों की सोच को पता नहीं क्या हो गया है। बिना मतलब के एकता कपूर को सुशांत सिंह राजपूत की मौत का जिम्मेदार बताया जा रहा है।'आगे प्रदीप सिंह ने कहा कि, 'श्रद्धा कपूर, रणदीप हुड्डा ये सभी लोग वहां आकर बारिश में खड़े थे... सब वहां रो रहे थे। सुशांत सिंह राजपूत की मौत से ज्यादा मुझे इस बात का दुख हो रहा है कि लोगों में अब इंसानियत नहीं रही। सोशल मीडिया पर उसके करियर और पर्सनल लाइफ के बारे में तरह तरह की बातें की जा रही हैं। कुछ का तो यह भी मानना है कि उसके पास जीने के लिए रुपए नहीं थे। सब अंदाजा लगा रहे हैं लेकिन कोई यह नहीं सोच रहा कि उसने क्या झेला है। वो एक आउटसाइडर था। बॉलीवुड में कदम जमाने के लिए उसने बहुत मेहनत की थी जिसका फल उसे नहीं मिला।'

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें