दूरदर्शन पर प्रसारित हो रही रामायण में रावण दहन और भगवान राम के राजतिलक के बाद अब उत्तर रामायण का प्रसारण किया जाने वाला है। लव-कुश की कहानी को बताने के लिए प्रसारित होने वाली उत्तर रामायण (Uttar Ramayan)आज रात यानि 19 अप्रैल से 9 बजे से दूरदर्शन (doordarshan) पर टेलीकास्ट होगी। रामायण का आखिरी एपिसोड खत्म हो जाने के बाद दूरर्शन अब उत्तर रामायण का री-टेलीकास्ट करने जा रहा है। यहां मजेदार बात यह है कि इस बार उत्तर रामायण केवल एक ही समय पर दिखाया जाएगा। फैंस राज 9 बजे इस माइथोलॉजिकल शो का मजा ले पाएंगे। वहीं सुबह 9 बजे उत्तर रामायण का रिपीट टेलीकास्ट किया जाएगा। इस बात का खुलासा दूरदर्शन ने सोशल मीडिया पर किया है। इसके अलावा प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी है।प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने इस बात की तरफ भी इशारा किया कि जल्द ही दूरदर्शन पर एक और माइथोलॉजिकल शो 'श्रीकृष्णा' को री-टेलीकास्ट किया जाएगा। 90 के दशक में इस सीरियल को दर्शकों ने खूब पसंद किया था। दोबारा टीवी पर दस्तक देने के बाद भी इन शोज की लोकप्रियता में किसी तरह की कमी नहीं आई है। फैंस के इस उत्साह के दम पर ही रामायण और महाभारत जैसे शोज टीआरपी की लिस्ट में टॉप नजर आ रहे हैं।
कुछ ऐसी होगी उत्तर रामायण की कहानी
उत्तर रामायण में राम सीता के वनवास के आगे की कहानी दिखाई जाएगी। उत्तर रामायण की कहानी राम सीता के बच्चों लव और कुश के इर्द गिर्द घूमेगी। इस शो के जरिए दर्शकों को पता चलेगा कि किस तरह से राम और सीता की जोड़ी अलग हो गई थी औ राम राज्य की महारानी होने के बाद भी सीता आखिर क्यों धरती की गोद में समा गई थी।
रामायण ने तोड़े थे टीआरपी रिकॉर्ड्स
रामायण को पहले दिन से ही दर्शकों का भरपूर प्यार मिल रहा है। यही वजह है कि रामायण ने टीआरपी के मामले में सभी शोज को पछाड़ दिया है। ऐसे में दूरदर्शन की टीआरपी को बरकरार रखने के लिए चैनल उत्तर रामायण और छोटा भीम जैसे शोज को लेकर आ रहा है।
ये टीवी शोज भी हो रहे हैं री-टेलीकास्ट
कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते सभी सीरियल्स की शूटिंग ठप्प हो गई है। यही वजह है कि सभी चैनल एक के बाद एक अपने पुराने शोज री-टेलीकास्ट कर रहे हैं। ऐसे में दूरदर्शन भी रामायण, महाभारत, व्योमकेश बख्शी, सर्कस और शक्तिमान जैसे शोज का वापसी करवा चुका है। मजे की बात ये है कि चैनल्स के इस फैसले का दर्शक भी जबरदस्त स्वागत कर रहे हैं और पुराने टीवी शोज इन दिनों छाए हुए है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें