नवजोत सिंह सिद्धू को पुलवामा आतंकी हमले पर बयान देना कुछ ज्यादा ही भारी पड़ गया है। हर कोई उनकी आलोचना कर रहा है और खरी-खोटी सुना रहा है। बात तो यहां तक पहुंच चुकी है कि सोशल मीडिया पर नवजोत के खिलाफ आ रहे रिएक्शन्स के कारण सोनी टीवी को उन्हें कपिल शर्मा के शो से बाहर का रास्ता दिखाना पड़ा है।सोनी टीवी और कपिल शर्मा अभी तक इस मुद्दे पर अपनी जुबान बंद किए हुए थे और कुछ भी नहीं कर रहे थे। हालांकि अब कपिल शर्मा ने इस पूरे विवाद पर अपनी जुबान खोली है और कहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू को शो से बाहर नहीं निकाला गया है।कपिल शर्मा ने जी न्यूज से बात करते हुए बताया है कि, ‘नवजोत सिंह सिद्धू अपने राजनीतिक काम के चलते बिजी थे, जिस कारण उनकी जगह अर्चना पूरन सिंह को लिया गया था। वैसे भी ये बहुत बड़ी बात नहीं है। हो सकता है कि कुछ लोग सोशल मीडिया पर प्रोपेगेंडा चला रहे हों। मुझे ऐसा लगता है कि नवजोत सिंह सिद्धू को शो से बाहर कर देना कोई उपाय नहीं है। दोनों देश जिस समस्या से जूझ रहे हैं, उसका एक स्थाई समाधान निकालना होगा।’कपिल शर्मा ने पुलवामा मामले पर भी बात की और कहा, ‘हम लोग इस मामले पर सरकार के साथ हैं लेकिन अभी हमें स्थाई सामाधान निकालना है। पुलवामा में हमारे जवानों पर जिस तरह का कायरतापूर्ण हमला हुआ है, उसके बाद हमें असली दोषी को छोड़ना नहीं चाहिए।’आपको बता दें पुलवामा आतंकी हमले पर दिए बयान के कारण लोगों ने सोशल मीडिया पर ये कहना शुरू कर दिया था कि अगर 'द कपिल शर्मा शो' में नवजोत सिंह सिद्धू रहते हैं तो हम उसे नहीं देखेंगे। इसके तुरंत बाद ही अर्चना पूरन सिंह का प्रोमो रिलीज हो गया, जिसके बाद माना जाने लगा कि निर्माताओं ने टीआरपी में गिरावट के चलते नवजोत सिंह सिद्धू को शो से बाहर कर दिया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें