कारोबार

कारोबार (1884)

नई दिल्ली। क्‍या आपका किसी बैंक में खाता है तो आपको Covid 19 महामारी के दौरान 2 लाख रुपए तक Bima cover मिल सकता है। दरअसल, Modi Government ने सस्ते प्रीमियम वाली जीवन बीमा स्कीम प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) चला रखी है। PMJJBY में 55 साल तक लाइफ कवर मिलता है. आप इस बीमा का फायदा तभी ले सकते हैं जब बैंक में saving account हो।

कैसे खुलेगा बीमा खाता;-Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana हर Indian के लिए है। इसमें 18 से 50 साल तक के वयस्‍क शामिल हो सकते हैं। Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana दूसरे लाइफ इंश्योरेंस की तरह ही मिलती है। इसमें रजिस्‍ट्रेशन के लिए बैंक और Life insurance कंपनियों के बीच टाई अप होता है।

क्‍या है योजना में खास:-Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana में सालाना प्रीमियम 330 रुपये है। इसमें 2 लाख रुपये का Insurance cover मिलता है। इसका हर साल रिन्युअल होता है. बीमा की मियाद 1 जून से 31 मई के बीच है

बीमा प्रीमियम न भर पाएं तो;-Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana से कोई पॉलिसीहोल्डर अगर प्रीमियम नहीं भर पाता तब भी वह दोबारा सालाना प्रीमियम देकर इसमें वापसी कर सकता है. हालांकि इसके लिए उसे अपनी अच्छी सेहत का सेल्फ डिक्लेरेशन देना होगा.

ध्यान रखें;-Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana में Life cover 55 साल की उम्र तक मिलता है. योजना में अनहोनी पर इंश्योरेंस कवर मिलता है. यहां यह ध्यान रखना है कि कोई भी कस्टमर सिर्फ एक बैंक अकाउंट और एक इंश्योरेंस कंपनी के साथ ही इस स्कीम में शामिल हो सकता है.

नई दिल्ली। रिटायर लोग जल्‍द ही NPS में 70 साल की उम्र तक निवेश कर पाएंगे. दरअसल पेंशन रेगुलेटर PFRDA ने 70 साल की उम्र में भी पेंशन के लिए Eligible होने का प्रस्‍ताव किया है. मोदी सरकार के पास PFRDA ने प्रस्‍ताव भेजा है कि New Pension Scheme (NPS) में निवेश के लिए Senior Citizen को भी मौका दिया जाना चाहिए ताकि वे अपना बुढ़ापा सिक्‍योर कर सकें.

खाता खोलने की उम्र बढ़े:-PFRDA ने सरकार से इसकी इजाजत मांगी है. Pension नियामक के मुताबिक NPS खाता खोलने की अधिकतम उम्र मौजूदा 65 साल से बढ़ाकर 70 साल कर दी जाए तो ऐसा संभव है

60 साल के बाद NPS खाता;-PFRDA ने यह भी प्रस्‍ताव किया है कि अगर कोई व्यक्ति 60 साल के बाद NPS खाता खोलता है, तो उसे 75 साल तक की उम्र में खाता चलाने और रिटर्न मिलने की इजाजत हो. अभी NPS खाते पर अधिकतम 70 साल की उम्र तक ही रिटर्न मिल सकता है. 

15 हजार लोगों ने NPS खाता खुलवाया;-आंकड़ों की मानें तो 3.5 साल में 60 साल से ज्‍यादा उम्र के 15 हजार लोगों ने NPS खाता खुलवाया है. इस कारण योजना में शामिल होने की अधिकतम उम्र सीमा 5 साल और बढ़ाने का प्रस्ताव है.

PFRDA की योजना;-NPS मिनिमम गारंटी प्रोडक्ट लाने की तैयारी भी कर रहा है. PFRDA की पेंशन एडवाजरी कमेटी के सुझाव पर Minimum garranty return का ऑप्शन ग्राहकों को देगा.

मिनिमम फ्लोटिंग गारंटी प्‍लान;-NPS में मिनिमम फ्लोटिंग गारंटी के प्रोडक्ट के ऑफर मिलेंगे. लेकिन सामान्य NPS के मुकाबले मिनिमम गारंटी के लिए उन्हें इसके लिए ज्यादा पैसे चुकाने होंगे. 5 से 10 साल तक पैसे निकालने (Withdrawl) का ऑप्शन नहीं होगा.

क्‍या मिलती है पेंशन;-NPS में 60 साल तक तैयार फंड पर पेंशन तय होती है. वहीं Atal Pension Yojana (APY) में पेंशन 1,000 से 5,000 रुपये के बीच तय होती है. पेंशन कितनी बनेगी यह आपकी हर माह जमा होने वाली रकम पर भी डिपेंड करेगा.

नई दिल्ली। ट्रैवलिंग पॉजिटिव एनर्जी का संचार कर तन-मन को रिफ्रेश कर देती है। कई लोग रेग्युलर ट्रैवल करते हैं तो कई कभी-कभार किसी जरूरी काम से ट्रैवल करते हैं। आप नियमित यात्री हैं, तो किसी यात्रा में होने वाली सम्भावित जोख़िमों से अच्छी तरह वाकिफ़ होंगे। अगर आप इसके आदी नहीं हैं तो यात्रा के दौरान सामने आने वाली सम्भावित जोख़िमों के बारे में जान लेना आपके लिए जरूरी होगा। लगातार ट्रैवलिंग करने वाले अपने साथ एक उपयुक्त ट्रैवल इंश्योरेन्स रखते हैं। इस लिहाज से वो उपलब्ध प्रोडक्ट में से अनुपयुक्त ट्रैवल इंश्योरेन्स पॉलिसी से खुद को किनारे कर लेते हैं। 

क्यों उपयुक्त ट्रैवल प्लान है जरूरी:-एक उपयुक्त ट्रैवल प्लान आपको ट्रांसपोर्टेशन पर जरूरत से ज्यादा खर्च नहीं लगने देता है। इसमें बैकट्रैकिंग के कारण समय बर्बाद होने का खतरा न के बराबर होता है। यात्रा के दौरान अपना सामान खोने की गुंजाइश होने पर उसके भरपाई का भरोसा दिलाते हैं और सेहत खराब होने पर उपचार के लिए जरूरी मेडिकल खर्च को कवर करता है। 

क्या है अनसुटेबल ट्रैवल प्लान;-वैसे ट्रैवल प्लान जो पॉलिसीधारक के यात्रा सम्बन्धी वित्तीय खर्चों और नुकसानों को कवर नहीं करते, अनुपयुक्त ट्रैवल प्लान की सूची में आते हैं। यह प्लान घरेलू और विदेश यात्रा के इच्छुक लोगों को लाभदायक सुरक्षा का एहसास नहीं करा पाते हैं। एक अनुपयुक्त ट्रैवल प्लान के कारण कई नुकसान हो सकते हैं। ट्रांसपोर्टेशन पर अनुमान से ज्यादा खर्च हो जाने के कारण पैसे की किल्लत हो सकती है। एक अनुपयुक्त ट्रैवल प्लान में ट्रिप कैन्सीलेशन, मेडिकल कॉस्ट, पर्सनल इफेक्ट कवरेज, बैगेज कॉस्ट और एक्सीडेंट से होने वाली मौतों जैसी कई कवरेजों में से कोई एक या कुछ शामिल नहीं होते। ऐसे ट्रैवल प्लान की एक बड़ी विशेषता  है कि यह अपने साथ यात्री को धन और समय की बर्बादी का स्ट्रेस देता है। 

उपलब्ध ट्रैवल प्लान्स;-ट्रैवलर्स की यात्रा सम्बन्धी जरूरतों और जोख़िमों की कवरेज रिलायंस जनरल इंश्योरेन्स के कई ट्रैवल प्रोडक्ट करते हैं। इनमें शामिल हैं: 

ओवरसीज ट्रैवल इंश्योरेन्स;-विश्व के भ्रमण से रोमांचकारी अनुभवों की प्राप्ति होती है। यात्रा के लिए कोई कितनी भी प्लानिंग कर ले, चीजें और स्थितियाँ अपने हिसाब से ही चलती हैं। इस ख्याल से उपजी अनसर्टेनिटी को कम करने में रिलायंस ट्रैवल इंश्योरेन्स के ये उत्पाद कारगर हो सकते हैं, क्योंकि ये किसी यात्री के पासपोर्ट और बैगेज के खो जाने, यात्रा में विलम्ब जैसी जोखिमों आदि को कवर करता है।  

शेंगेन ट्रैवल इंश्योरेन्स:-स्विटज़रलैंड, डेनमार्क, स्पेन, इटली, पोर्तुगल जैसी अन्य शेंगेन देशों की यात्रा बिना किसी ट्रैवल इंश्योरेन्स पॉलिसी की नहीं की जा सकती। इन देशों की यात्रा के लिए रिलायंस इंश्योरेन्स बिना किसी पेपरवर्क या मेडिकल चेक-अप के शेंगेन अप्रूव्ड ट्रैवल प्लान्स उपलब्ध कराती है। शेंगेन देशों की वीज़ा के लिए कम से कम 30,000 यूरो का मेडिकल कवरेज अनिवार्य है। यह पॉलिसी यात्रा के दौरान किसी दुर्घटना से पॉलिसीधारक के शरीर को पहुँचे नुकसान, चोटिल दाँतों की एक्युट एनऐस्थेटिक ट्रीटमेंट, मेडिकल इवेक्युएशन में लगने वाले आपातकालीन खर्च आदि जैसी खर्चों को कवर करता है। 

यूएसए और कनाडा ट्रैवल इंश्योरेन्स;-रिलायंस के इस ट्रैवल प्लान की कई विशेषताएं हैं। इनमें शामिल हैं- आकर्षक कीमतों में यूएसए और कनाडा के लिए कस्टमाइज्ड पॉलिसीज़, 70 वर्ष की आयु तक के यात्रियों को मेडिकल चेक-अप्स से छूट, विश्व भर में कैशलेस हॉस्पिटलाइजेशन की सुविधा, पासपोर्ट या सामान खो जाने, फ्लाइट मिस हो जाने, ट्रिप रद्द या उसमें देरी हो जाने की दशा में कवरेज की सुविधा।  

एशिया ट्रैवल इंश्योरेन्स:-यह ट्रैवल प्लान यात्रा के दौरान किसी दुर्घटना से शरीर को पहुँचे नुकसान, चोटिल दाँतों की एक्युट एनऐस्थेटिक ट्रीटमेंट, मेडिकल इवेक्युएशन में लगने वाले आपातकालीन खर्च आदि जैसे खर्चों को कवर करता है। इन सब के अतिरिक्त रिलायंस जनरल इंश्योरेन्स अन्य देशों के लिए आकर्षक कीमतों वाली ट्रैवल प्लान्स भी ऑफर करता है।

स्पेसिफिक इंश्योरेन्स प्लान्स

स्टूडेंट ट्रैवलर्स प्लान:-किसी भी छात्र-छात्रा के लिए विदेश में पढ़ने का अवसर मिलना सपने के सच होने जैसा होता है। लेकिन, उनका मन विदेश में पढ़ाई के दौरान होने वाली खर्चों और अन्य जोख़िमों की अनिश्चितता से भरा होता है। ऐसे छात्र-छात्राओं के लिए रिलायंस, स्टूडेंट ट्रैवल इंश्योरेन्स का विकल्प उपलब्ध कराता है। इसके कवरेज के दायरे में यात्रा के दौरान होने वाली इंज्युरी, मेडिकल इवेक्युएशन में लगने वाली आपातकालीन खर्च, खोए बैगेज और पासपोर्ट की भरपाई, मृत्यु या परमानेंट डिसएबिलिटी का मुआवज़ा, ट्युशन फीस रिइम्बर्समेंट इत्यादि शामिल हैं।  

सीनियर सिटीजन ट्रैवलर्स:-उम्र के दूसरे पड़ाव पर जी रहे माँ-बाप की ज़िन्दगी को अच्छा बनाना काफी हद तक आपके ऊपर निर्भर है। आप रिलायंस ट्रैवल केयर पॉलिसी- फॉर सीनियर सिटिजन्स के जरिये उनकी यात्रा की वित्तीय जरूरतों और अन्य जोख़िमों को कम कर सकते हैं। 

एनुअल मल्टी ट्रिप इंश्योरेन्स;-अगर आप नियमित यात्री या वैसे प्रोफेशनल हैं जो कामकाज के सिलसिले में लगातार विदेशों की यात्रा पर रहते हैं तो, रिलायंस की एनुअल मल्टी ट्रिप इंश्योरेन्स आपके लिए उपयुक्त है। इस पॉलिसी की ख़ासियत है कि इसमें आप निरंतर कवर्ड होते हैं और आपको यात्रा के लिए हर बार नई पॉलिसी नहीं खरीदनी पड़ती। एक साल के दौरान की अपनी सभी ट्रिप्स के लिए आप एक लचीली सुरक्षा का आनन्द उठा सकते हैं। इस पॉलिसी की कवरेज सिंगल ट्रिप ट्रैवल इंश्योरेन्स प्लान के जैसी ही है।जानलेवा संक्रमण युक्त इस कोविड महामारी के दौर में रिलायंस के इंश्योरेन्स-प्रोडक्ट से अपनी और अपने परिवार के सदस्यों की यात्रा को आसानी से सुरक्षित रखा जा सकता है।

नई दिल्ली। एसएंडपी ग्लोबल रेटिंग्स (S&P Global Ratings) ने बुधवार को मौजूदा वित्त वर्ष के लिए भारत के जीडीपी ग्रोथ अनुमान को घटाकर 9.8 फीसद कर दिया है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर अर्थव्यवस्था में रिकवरी को धीमा कर सकती है। इस यूएस बेस्ड रेटिंग एजेंसी ने मार्च में अर्थव्यवस्था के तेजी से खुलने व आर्थिक प्रोत्साहनों को देखते हुए अप्रैल 2021 से मार्च 2022 वित्त वर्ष के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 11 फीसद व्यक्त किया था।एसएंडपी ने इस समय भारत को स्थिर दृष्टिकोण के साथ ''BBB-'' रेटिंग दी हुई है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्थआ में सुस्ती की गहराई भारत की सॉवरेन क्रेडिट प्रोफाइल पर इसके प्रभाव को निर्धारित करेगी।बता दें कि हाल ही में वॉल स्ट्रीट ब्रोकरेज गोल्डमैन सैश (Goldman Sachs) और वैश्विक ब्रोकरेज फर्म बार्कलेज (Barclays) ने भी वित्त वर्ष 2022 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ के अनुमान में कटौती की है। गोल्डमैन ने 31 मार्च, 2022 को समाप्त हो रहे वित्त वर्ष के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि के अपने अनुमान को घटाकर 11.1 फीसद कर दिया है। भारत के कई राज्यों और शहरों में कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए आंशिक व पूर्ण लॉकडाउन के चलते गोल्डमैन ने अपने अनुमान को घटाया है।गोल्डमैन ने कहा, 'हमने वित्त वर्ष 2022 के लिए वास्तविक जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को पहले के 11.7 फीसद से घटाकर 11.1 फीसद कर दिया है। साथ ही हमरा कैलेंडर वर्ष 2021 के लिए वृद्धि का अनुमान  9.7 फीसद है।'वहीं, वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार और कोरोना वायरस की दूसरी लहर में संक्रमण दर व मरने वाले लोगों की तेजी से बढ़ती संख्या से उत्पन्न हुई अनिश्चितता के कारण बार्कलेज ने वित्त वर्ष 2022 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को पहले के 11 फीसद से घटाकर 10 फीसद कर दिया है। ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि अगर मौजूदा स्थानीय लॉकडाउन जून तक चलता है, तो इससे 38.4 बिलियन डॉलर का आर्थिक नुकसान होगा। बार्कलेज ने चेताते हुए कहा कि महामारी के अधिक निराशावादी परिदृश्य में अगर शीघ्र ही नियंत्रण नहीं पाया जा सका और आवाजाही पर अगस्त तक प्रतिबंध जारी रहे, तो ग्रोथ रेट गिरकर 8.8 फीसद तक आ सकती है।

नई दिल्ली। क्‍या आपके परिवार में किसी का खाता Post Office में है तो अच्‍छी खबर है। दरअसल Dakghar ने Post Office savings account की शर्तों में बदलाव किया है। इससे Account maintenance fees पहले से आधी हो गई है। यानि अब खाते में Minimum Balance कम होने पर आधी फीस लगेगी। इसके साथ एक और फायदे की बात है। वह यह कि सरकार की पेंशन, स्‍कॉलरशिप और दूसरी सर्विस का फायदा ले रहे लोगों को zero balance basic savings accounts खोलने का मौका मिलेगा।कम्‍युनिकेशन मिनिस्‍ट्री के ऑर्डर के मुताबिक अगर कोई वयस्‍क सरकारी वेल्‍फेयर स्‍कीम में रजिस्‍टर्ड है तो वह Basic Saving Account खोल सकता है। उसके Gurdian भी अकाउंट खोल सकते हैं, अगर खाताधारक माइनर है।

4 बार के बाद निकासी पर चार्ज:-बता दें कि पहले India Post बैंक ने Post Office Saving Account से महीने में 4 बार Withdrawal के बाद पैसा निकालने पर चार्ज लगाने की बात कही है। वह चार्ज 25 रुपए या निकाली गई रकम का 0.5 फीसद है। हालांकि पैसा जमा करने पर कोई चार्ज नहीं लगाने की बात है। 

 

कौन-कौन सी Scheme शामिल;-P‍ension, बुजुर्ग पेंशन, विधवा पेंशन, scholarship और LPG subsidy जैसी योजनाएं शामिल हैं। इनके पात्रों को जीरो बैलेंस अकाउंट खोलने को मिलेगा।

करंट अकाउंट पर चार्ज;-इसके अलावा करंट अकाउंट (Post Office current account) पर 25 हजार रुपए तक Free निकालने की बात थी। इसके बाद 25 रुपए या रकम का 0.5 फीसद चार्ज लगेगा।

और कहां-कहां चार्ज

- अगर Aadhaar Enabled Payment System से पेमेंट करते हैं तो फिर चार्ज देना पड़ेगा। 

- गैर India Post Payment Banks network से सिर्फ 3 ट्रांजैक्‍शन फ्री हैं। इनमें नकद जमा, कैश विड्राल और मिनी स्‍टेटमेंट शामिल है। 

- AePS से 3 बार ट्रांजैक्‍शन के बाद हर बार चार्ज देना होगा। नकद जमा करने पर 20 रुपए लगेंगे। यही चार्ज पैसा निकालने पर भी लगेगा। 

- Mini Statement के लिए 5 रुपए चार्ज लगेगा। फंड ट्रांसफर पर लिमिट पार होने के बाद ट्रांजैक्‍शन अमाउंट का 1% लगेगा, जो 1 रुपए से लेकर 20 रुपए तक हो सकता है। इस पर GST+Cess अलग से होगा।

मिनिमम बैलेंस 10 गुना:-बता दें कि Dakghar ने बचत खाते का मिनिमम बैलेंस 50 रुपए से बढ़ाकर 500 रुपए (Minimum Account Balance 500 rupee) कर दिया है। इसका गैजेट नोटिफिकेशन आ चुका है। 19 दिसंबर 2019 तक 13 करोड़ बचत खातों (Saving Account in Post Office) में मिनिमम बैलेंस 500 रुपए से कम था।

नई दिल्ली। पीएफआरडीए (PFRDA) ग्राहकों को एक ऐसी सुविधा प्रदान करता है, जिससे ऑनलाइन आधार ई-केवाईसी का उपयोग कर नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) अकाउंट खुलवाना आसान होता है। NSDL–CRA ने अपने e-NPS प्लेटफॉर्म पर ग्राहक पंजीकरण के लिए आधार बेस्ड ऑनलाइन ई-केवाईसी प्रमाणीकरण प्रक्रिया को सक्षम बनाया है। ई-एनपीएस पीएफआरडीए द्वारा नियुक्त सेंट्रल रिकॉर्ड कीपिंग एजेंसीज (CRA) का एक ऑनलाइन एनपीएस ऑन-बोर्डिंग प्लेटफॉर्म है। यहां कोई भी एनपीएस में पंजीकरण करा सकता है और ऑनलाइन योगदान दे सकता है।मौजूदा सब्सक्राइबर इस प्लेटफॉर्म कर अपना टियर-2 खाता एक्टिवेट कर सकते हैं। इससे पहले तक ई-एनपीएस के तहत पंजीकरण आधार ऑफलाइन ई-केवाईसी या व्यक्ति के पैन और बैंक खाते के जरिए होता था। लेकिन अब आधार बेस्ड ऑनलाइन ई-केवाईसी (e-KYC) प्रमाणीकरण प्रक्रिया से एनपीएस खाता खोलने की प्रक्रिया आसान हो गई है। आइए इसका स्टेप बाय स्टेप प्रॉसेस जानते हैं।

यह है प्रॉसेस

स्टेप 1. आपको ई-एनपीएस पोर्टल (https://enps.nsdl.com/eNPS/NationalPensionSystem.html) पर जाना होगा।

स्टेप 2. अब आप “National Pension System” और उसके बाद “Registration” विकल्प पर क्लिक करें।

स्टेप 3. अब "New Registration" में खाते के प्रकार का चयन करें। उसके  बाद भारतीय नागरिक, एआरआई या ओसीआई में से एक विकल्प का चयन करें।

स्टेप 4. अब "Register With" में से  “Aadhaar Online/Offline KYC” विकल्प का चयन करें। अब इसके बाद ‘Tier types’ में से "Tier I only" विकल्प का चयन करें।

स्टेप 5. अब आपको 12 अंकों का आधार या 16 अंकों की वर्चुअल आईडी दर्ज करनी होगी और उसके बाद जनरेट ओटीपी पर क्लिक करना होगा।

स्टेप 6. अब आपको प्राप्त हुई ओटीपी दर्ज करनी होगी।

स्टेप 7. सफल प्रमाणीकरण पर, आपके जनसांख्यिकीय विवरण जैसे नाम, लिंग, जन्म तिथि, पता, फोटो को आधार रिकॉर्ड से प्राप्त किया जाएगा।

स्टेप 8. अब आपको एनपीएस पंजीकरण प्रॉसेस के लिए दूसरे मांगे गए विवरण दर्ज करने होंगे।

स्टेप 9. अब आपको अपना पहला एनपीएस योगदान देना होगा और ओटीपी दर्ज करना होगा। इसके साथ ही आपका एनपीएस खाता खुल जाएगा।

नई दिल्ली। IPO से कमाई के और मौके भी आ रहे हैं। मई की शुरुआत में पावरग्रिड इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट) (powergrid InvIT IPO April 2021) का IPO आया और इसे आखिरी दिन सोमवार तक 4.83 गुना आवेदन मिला। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़े के मुताबिक 7,735 करोड़ रुपये के इश्यू में 42,54,25,000 यूनिट के लिये 2,05,40,48,700 बोलियां मिलीं।इसके अलावा इस फाइनेंशियल ईयर के Q1 में करीब 12 IPO बाजार…
नई दिल्ली। आप सभी इस बात से अवगत होंगे कि इस समय होम लोन पर ब्याज दर पिछले कई वर्षों के सबसे निचले स्तर पर है। विशेषज्ञों के मुताबिक होम लोन पर कम ब्याज दर और कोरोना महामारी की वजह से आवासीय परिसंपत्तियों के दाम में नरमी की वजह से यह वक्त मकान खरीदने के लिए सबसे उपयुक्त है। अगर आप भी होम लोन पर कोई प्रोपर्टी लेने की सोच…
नई दिल्ली। Labor Ministry ने अपने मंत्रालय के साथ-साथ 6 बड़े विभागों में ट्रांसफर/पोस्टिंग रोक दी है। Covid 19 केस बढ़ने के कारण मिनिस्‍ट्री ने यह प्रक्रिया रोकी है। मिनिस्‍ट्री के आदेश की मानें तो ऐसा covid केस की तेजी से बढ़ती संख्‍या की रोकथाम के लिए किया गया है। इन ट्रांसफर/पोस्टिंग में मिनिस्‍ट्री और दूसरे विभागों के हर cadre के अफसर और कर्मचारी शामिल हैं। क्‍या है कारण;-मिनिस्‍ट्री के…
नई दिल्ली। PM Kisan की 2000 रुपए की अगली किस्‍त जल्‍द आने वाली है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सरकार इसे रिलीज करने वाली है। अगर आपको भी इस किस्‍त का इंतजार है तो आप PMkisan.gov.in पर चेक कर सकते हैं। PM Kisan के बेनिफिशियरी को मोदी सरकार सस्‍ती दर पर Loan भी मुहैया कराती है। यह Loan आत्मनिर्भर भारत योजना (Atmanirbhar Bharat Yojana) के तहत बनने वाले किसान क्रेडिट…
Page 4 of 135

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">