कारोबार

कारोबार (490)

नई दिल्ली। बजट विमान वाहक गोएयर घरेलू रुट्स पर सस्ते हवाई सफर की पेशकश कर रही है। टिकट की शुरुआती कीमत 1,375 रुपये होगी। इस ऑफर का लाभ उठाने के लिए आपको 16 मई तक टिकट बुक करानी होगी। इस अवधि के दौरान बुक कराए गए टिकिटों पर आप 6 अक्टूबर 2019 तक यात्रा कर सकते हैं। गोएयर में सबसे सस्ता किराया (1375 रुपये) बगडोगरा से गुवाहाटी रुट के लिए है।हवाई सफर करने वाले अहमदाबाद से बेंगलुरू के लिए 2,599 रुपये में (15 से 18 जुलाई 2019 तक का ट्रैवलिंग पीरियड), अहमदाबाद से चेन्नई के लिए 3,348 रुपये में (ट्रैवल पीरियड जून 2019 तक), अहमदाबाद से मुंबई तक 1,899 रुपये में (ट्रैवल पीरियड 1 जुलाई से 31 जुलाई तक), बेंगलुरु से अहमदाबाद तक 3,938 रुपये (ट्रैवलिंग पीरियड जून 2019 तक), बेंगलुरू से पटना तक 3,779 रुपये (12 अगस्त से 31 अगस्त 2019 तक) में अपनी टिकट बुक करा सकते हैं।वहीं चेन्नई से अहमदाबाद तक के लिए आपको 3,750 रुपये (ट्रैवल पीरियड जून 2019 तक), गुवाहाटी से बगडोगरा तक के लिए 1,649 रुपये (ट्रैवल पीरियड जून 2019 तक), गुवाहाटी से दिल्ली तक 4,377 रुपये (ट्रैवल पीरियड जून 2019 तक) में अपनी टिकट बुक करवा सकते हैं। वहीं एक अन्य ऑफर में गोएयर कंपनी की मोबाइल एप के जरिए टिकट बुक कराने पर डिस्काउंट की भी पेशकश कर रहा है। ग्राहक मोबाइल एप के जरिए टिकट बुक कराने पर 10 फीसद की छूट का लाभ भी उठा सकते हैं।

नई दिल्ली। हाउसिंग लोन देने वाली कंपनी एचडीएफसी ने सोमवार को चौथी तिमाही के नतीजे जारी कर दिए। जनवरी से मार्च तिमाही में कंपनी ने अपने स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ में 26.8 फीसद की वृद्धि दर्ज की है। यह नेट प्रॉफिट इस बढ़त के साथ चौथी तिमाही में 2,862 करोड़ रुपये रहा है। कंपनी ने इसके पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 2,257 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया था।जनवरी मार्च तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय बढ़कर 11,586.58 करोड़ रुपये हो गई, जो कि बीते वर्ष की समान अवधि के दौरान 9,322.36 करोड़ रुपये रही थी। एचडीएफसी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि वहीं इस तिमाही के दौरान कंपनी की कुल ब्याज आय सुधरकर 3,161 करोड़ रुपये रही, जबकि पिछले वर्ष की समान अवधि के दौरान 2,650 करोड़ रुपये रही थी। यह आंकड़ा 19 फीसद की ग्रोथ दिखाता है। इसमें कहा गया कि बोर्ड ने 17.50 रुपये प्रति शेयर का अंतिम लाभांश प्रस्तावित किया है और प्रस्तावित अंतिम लाभांश 6 मार्च 2019 को निदेशक मंडल द्वारा घोषित 3.50 रुपये प्रति शेयर के अंतरिम लाभांश के अलावा है।पिछले वर्ष के लिए 20 रुपये प्रति शेयर के मुकाबले वर्ष के लिए इस वर्ष कुल लाभांश 21 रुपये प्रति शेयर है। इसके अलावा बोर्ड ने रिडीमेबल गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर जारी करने को भी मंजूरी दी है। इसके अलावा कंपनी ने 21 जुलाई, 2019 से दो वर्षों के लिए स्वतंत्र निदेशक के रूप में नासिर मुनजी और जे जे ईरानी की फिर से नियुक्ति को भी मंजूरी दी है।

नई दिल्ली। आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर सोमवार को एक कथित बैंक ऋण धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश हुईं। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक कोचर प्रवर्तन निदेशालय के खान मार्केट में स्थित कार्यालय में निर्धारित समय सुबह 11 बजे से पहले पहुंच गईं।सूत्रों के मुताबिक कोचर के लिए जांच अधिकारियों की सहायता करना जरूरी है ताकि इस मामले की जांच को आगे बढ़ाया जा सके और उनके बयान को धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत दर्ज किया जाएगा। चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को भी इसी मामले में तलब किया गया है, यहां तक कि दीपक के भाई राजीव कोचर से भी ईडी ने कुछ दिन पहले पूछताछ की थी। एक मार्च को केंद्रीय एजेंसी ने इस मामले में छापेमारी की थी और उसके बाद मुंबई में एजेंसी कार्यालय में भी इन लोगों से अतीत में पूछताछ की जा चुकी है।मुंबई और औरंगाबाद में वीडियोकॉन ग्रुप की चंदा कोचर, उसके परिवार और वेणुगोपाल धूत के ठिकानों पर तलाशी ली गई थी। ईडी ने इस साल की शुरुआत में चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर, धूत और अन्य के खिलाफ आईसीआईसीआई द्वारा वीडियोकान समूह को 1,875 करोड़ रुपये के कर्ज को मंजूरी देने के मामले में कथित अनियमितताओं और भ्रष्टाचार की जांच के लिए पीएमएलए के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया था। ईडी की यह कार्रवाई सीबीआई की प्राथमिकी (एफआईआर) पर आधारित थी।

नई दिल्ली। अमेरिकी नियामकों ने शुक्रवार को एक नए स्टॉक एक्सचेंज को मंजूरी दे दी है। यह आइडिया सिलिकॉन वैली के ही एक उद्यमी का है। इस कदम से हायर ग्रोथ वाली प्रौद्योगिकी कंपनियों को पारंपरिक न्यूयॉर्क स्टॉसक एक्सचेंजों के बाहर अपने शेयरों को सूचीबद्ध करने के लिए विकल्प प्रदान करेगा।अमेरिकी प्रतिभूति और विनिमय आयोग (SEC) ने लॉन्ग-टर्म स्टॉक एक्सचेंज, या LTSE को मंजूरी दे दी है। LTSE सिलिकॉन वैली में होगा। इससे गवर्नेंस और वोटिंग के अधिकार के नजरिए से अनूठा नजरिया है। इसके अलावा, LTSE के अस्तित्वे में आने से पब्लिक कंपनियों पर अल्पलकालिक दबाव भी कम होगा।LTSE देश के टेक कैपिटल में एक स्टॉक एक्सचेंज बनाने का प्रयास है जो स्टार्टअप्स को आकर्षित करेगा। खास तौर से उन स्टार्टअप्स के लिए जो अपने पैसे गंवा रहे हैं लेकिन लॉन्ग टर्म इनोवेशन पर फोकस कर रहे हैं।एसईसी को नवंबर में प्रौद्योगिकी उद्यमी, लेखक और स्टार्टअप सलाहकार एरिक रीस द्वारा स्टॉक एक्सचेंज का प्रस्ताव दिया गया था, जो कि वर्षों से इस विचार पर काम कर रहे हैं। उन्होंने अपनी परियोजना को धरातल पर उतारने के लिए उद्यम पूंजीपतियों से 19 मिलियन डॉलर जुटाए, लेकिन एक्सचेंज को लॉन्च करने के लिए अमेरिकी नियामकों से अनुमोदन आवश्यक था।

 

नई दिल्ली। आज के समय में आधार कार्ड (Aadhar) भारतीय नागरिकों के लिए बहुत जरूरी हो गया है तो इससे जुड़ी सभी जानकारियों से अवगत रहना भी आवश्यक है। अगर आपको आधार संबंधित किसी भी तरह की जानकारी चाहिए तो आप भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के सर्विस पोर्टल पर जाकर हासिल कर सकते हैं। यूआईडीएआई की तरफ से जारी 12-अंकों का आइडेंटिफिकेशन नंबर ही आधार नंबर है। आज हम आपको 5 उन सर्विस के बारे में बता रहे हैं, जिनका लाभ आप ऑनलाइन उठा सकते हैं।
एड्रेस ऑनलाइन कर सकते हैं अपडेट: अगर आपने एक जगह से दूसरी जगह शिफ्ट किया है तो आपका एड्रेस बदल गया होगा। ऐसे में आप सीधे वैध दस्तावेजों के साथ या पते के सत्यापन पत्र के साथ ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं। UIDAI की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर, वहां 'माई आधार' टैब के तहत 'अपडेट योर एड्रेस ऑनलाइन' का चयन करें। अपने 12 अंकों वाले आधार नंबर या 16 अंकों की वर्चुअल आईडी के साथ पेज पर वेरिफिकेशन के लिए कैप्चा दर्ज करें और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करें।
चेक आधार स्टेट्स: आपने आधार के लिए आवेदन किया हुआ है और अब तक आपको यह प्राप्त नहीं हुआ है तो आप ऑनलाइन इसका स्टेटस चेक कर सकते हैं। UIDAI की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर 'माई आधार' टैब से 'अपडेट योर आधार' का चयन करें। आधार जेनरेट हुआ है या नहीं इसके लिए एनरोलमेंट आईडी और सिक्योरिटी कोड दर्ज करें और स्टेट्स चेक करें।
आधार रीप्रिंट के लिए रिक्वेस्ट: आधार रीप्रिंट के लिए 'माई आधार' टैब के तहत 'ऑर्डर आधार रीप्रिंट' का चयन करें। आधार नंबर और जरूरी जानकारी दर्ज करने के बाद वर्तमान मोबाइल नंबर को वेरिफाई करें। अब पेमेंट करने के बाद एसआरएन मिलेगा। इसके बाद आधार लेटर मेंबर के रजिस्टर्ड पते पर पहुंचा दिया जाएगा।
लॉक आधार बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन: वेबसाइट पर जाकर 'माई आधार' टैब के तहत 'लॉक / अनलॉक बायोमेट्रिक्स' का चयन करें। सिक्योरिटी कोड के साथ अपना आधार यूआईडी / वीआईडी दर्ज करें और 'सेंड ओटीपी' पर क्लिक कीजिए। ओटीपी रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। ओटीपी दर्ज कीजिए और 'सबमिट' पर क्लिक कीजिए। जरूरी जानकारी दर्ज करें और बायोमेट्रिक लॉक को एक्टिवेट करने के लिए 'इनेबल' पर क्लिक करें।
बायोमेट्रिक को अनलॉक करें: UIDAI की वेबसाइट पर लॉग इन करें और 'अनलॉक' पर क्लिक करें। जरूरी जानकारी दर्ज करें और आगे बढ़ने के लिए 'डिसेबल' पर क्लिक करें। इसके बाद यूआईडीएआई से मैसेज आएगा कि 'योर बायोमेट्रिक लॉक इस डिसेबल्ड'।

नई दिल्ली। नागरिक विमानन मंत्रालय ने सरकारी कंपनी एयर इंडिया को निर्देश दिया है कि वह अपनी और सहायक कंपनियों का बीते वित्त वर्ष (2018-19) का वित्तीय लेखाजोखा अगले महीने के आखिर तक तैयार कर ले। इसकी वजह यह है कि प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एयर इंडिया की तीन सहायक शाखाओं के विनिवेश को गति देने का फैसला किया है।सरकार ने पिछले वर्ष एयर इंडिया के विनिवेश का एक प्रयास किया था जो विफल रहा। उसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाले एक पैनल ने पिछले वर्ष जून में कंपनी के विनिवेश की योजना टाल दी थी। पैनल ने कंपनी में और रकम का निवेश करने और संसाधन जुटाकर कर्ज घटाने का फैसला किया था। वर्तमान में एयर इंडिया पर करीब 55,000 करोड़ रुपये का कर्ज है।नागरिक विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने एयर इंडिया के चेयरमैन अश्वनी लोहानी को छह मई को लिखे पत्र में कहा कि पहली अप्रैल को प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव की अध्यक्षता में एक बैठक हुई थी। इसमें एयर इंडिया एयर ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (एआइएटीएसएल), एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड (एआइईएसएल) तथा एयरलाइन अलाइड सर्विसेज लिमिटेड (एएएसएल) की विनिवेश प्रक्रिया को गति देने का फैसला किया गया।ये तीनों कंपनियां एयर इंडिया की सहायक कंपनियां हैं। खरोला ने कहा कि विनिवेश प्रक्रिया पर आगे बढ़ने के लिए इन कंपनियों के वित्तीय नतीजों की दरकार होगी। खरोला ने लोहानी को यह भी कहा कि तीनों कंपनियों की संपत्तियों का भौतिक सत्यापन भी कराया जाए, ताकि वित्तीय नतीजों में दिखाए गए मूल्य और वास्तविक मूल्य में अंतर नहीं हो।

इस वक्त ज्यादातर निवेशक इसी सोच में पड़े हुए हैं कि चुनाव नतीजे आने के बाद शेयर बाजार का ऊंट किस करवट बैठने वाला है। इसका जवाब यह है कि छोटी अवधि में बाजार की चाल भले ही निवेशकों की भावनाओं पर तय होती हों, लेकिन लंबी अवधि में इसका निर्धारण सिर्फ और सिर्फ देश की अर्थव्यवस्था की मजबूती से होता है। ऐसे में इस वक्त यह महत्वपूर्ण नहीं कि…
नई दिल्ली। आज के समय में हेल्थ इंश्योरेंस की भूमिका बहुत अहम हो गई है। जिस प्रकार चिकित्सा की लागत दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है उसको देखते हुए यह कहा जा सकता है कि भविष्य में इस खर्च में इजाफा होगा और अगर कभी किसी भी व्यक्ति या उसके परिवार को गंभीर बीमारी हो जाती है तो ऐसे में हेल्थ इंश्योरेंस ही काम आएगा।अब भारत में ग्रुप हेल्थ इंश्योरेंस…
नई दिल्ली। अगर किसी होम बायर्स ने पिछले वित्त वर्ष में बुक कराए गए फ्लैट को कैंसल कराया है तो बिल्डर को उस फ्लैट पर लिए गए जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) भुगतान का रिफंड करना होगा। बिल्डर्स को ऐसे रिफंड के बदले में क्रेडिट समायोजन की सुविधा मिलेगी। आयकर विभाग ने यह स्पष्टीकरण दिया है। गौरतलब है कि केन्द्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) की ओर से…
नई दिल्ली। दुनिया की दिग्गज कंपनियां भारत के होनहारों का लोहा मानती हैं। भारतीय मूल के तमाम ऐसे लोग हैं जिन्होंने दुनिया की बड़ी-बड़ी कंपनियों में सीईओ पद संभालकर न सिर्फ कंपनियों के मुनाफे को नई ऊंचाई पर पहुंचाया, बल्कि उनका मार्केट कैप भी बढ़ाकर उनका रुतबा बढ़ाया है। भारतीय हुनर का परचम किस कदर दुनिया में फहरा रहा है, इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि…
Page 7 of 35

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें