कारोबार

कारोबार (492)

नई दिल्ली। भारतीय डाक (पोस्ट ऑफिस) विभिन्न प्रकार की डाक सेवाओं के साथ कई तरह की बैंकिंग सर्विस भी मुहैया करवाता है। पोस्ट ऑफिस में सावधि जमा, पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट सेविंग स्कीम समेत 9 प्रकार की स्मॉल सेविंग स्कीम की पेशकश की जाती है जो कि सरकारी की तरफ से प्रायोजित निवेश स्कीम हैं। भारतीय डाक के देश भर में 1.5 लाख से अधिक पोस्ट ऑफिस मौजूद हैं, जहां इस प्रकार की इन्वेस्टमेंट स्कीम उपलब्ध हैं। पोस्‍ट ऑफिस की सीनियर सिटिजन सेविंग्‍स स्‍कीम पर अभी 8.7 फीसद का ब्‍याज मिल रहा है। आज हम आपको डाकघर की विभिन्न प्रकार की इन्वेस्टमेंट स्कीम के बारे में बता रहे हैं।
अकाउंट का प्रकार ब्याज दर न्यूनतम अमाउंट अधिकतम अमाउंट
पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट 4% 20
IPPB रेगुलर सेविंग अकाउंट 4% कोई नहीं 1 लाख
IPPB डिजिटल सेविंग अकाउंट 4% कोई नहीं 1 लाख
IPPB बेसिक सेविंग अकाउंट 4% कोई नहीं 1 लाख
IPPB करंट अकाउंट NA कोई नहीं 1 लाख
स्मॉल सेविंग स्कीम ब्याज दर
पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम 4%
नेशनल सेविंग रिक्रिंग डिपॉजिट अकाउंट 7.3%
नेशनल सेविंग टाइम डिपॉजिट अकाउंट 7-7.8%
नेशनल सेविंग मंथली इनकम अकाउंट 7.3%
सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम 8.7%
पब्लिक प्रोविडेंट फंड 8%
नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट 8%
किसान विकास पत्र 7.7%
सुकन्या समृद्धि 8.5%
सेविंग स्कीम मैच्योरिटी पीरियड इंवेस्टमेंट लिमिट
पोस्ट ऑफिस सेविंग स्कीम न्यूनतम 20 रुपये
नेशनल सेविंग रैकरिंग डिपॉजिट अकाउंट 5 वर्ष न्यूनतम 10 प्रति माह, कोई अधिकतम सीमा नहीं
नेशनल सेविंग टाइम डिपॉजिट अकाउंट 1/2/3/5 वर्ष न्यूनतम 200, अधिकतम सीमा नहीं
नेशनल सेविंग मंथली इनकम अकाउंट 5 वर्ष 1,500-4.5 लाख सिंगल अकाउंट, ज्वाइंट अकाउंट के लिए 9 लाख
सीनियर सिजिटन सेविंग अकाउंट 5 वर्ष 1,000-15 लाख
पब्लिक प्रोविडेंट फंड 15 वर्ष 500-1.5 लाख प्रति वित्त वर्ष
नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट 5 वर्ष न्यूनतम 100, अधिकतम कोई सीमा नहीं
किसान विकास पत्र 2.5 वर्ष न्यूनतम 1,000, कोई अधिकतम सीमा नहीं
सुकन्या समृद्धि योजना NA 1,000-1.5 लाख प्रति वित्त वर्ष

नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) के पेरोल डेटा के अनुसार इस साल मार्च महीने में 8.14 लाख नौकरियों का सृजन हुआ है। यह आंकड़ा इसी साल फरवरी में 7.88 लाख नौकरियों के सृजन के मुकाबले कहीं अधिक है। ईपीएफओ के आंकड़ों के अनुसार वित्‍त वर्ष 2018-19 में लगभग 67.59 लाख नौकरियों का सृजन हुआ था। नौकरियों का यह आंकड़ा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की योजनाओं में शामिल होने वाले सदस्यों की संख्या पर आधारित है।ईपीएफओ के अनुसार सितंबर 2017 से मार्च 2018 तक सात महीने की अवधि के दौरान कुल 15.52 नए नामांकन हुए थे। सेवानिवृत्ति फंड निकाय अप्रैल 2018 से पेरोल डेटा जारी कर रहा है, जो सितंबर 2017 के बाद की अवधि का है।ईपीएफओ के आंकड़ो के अनुसार, मार्च 2019 में 22 से 25 साल के आयु वर्ग में सबसे अधिक 2.25 लाख नौकरियां सृजित की गईं हैं। इसके बाद 18 से 21 साल के आयु वर्ग में 2.14 लाख नई नौकरियों का सृजन हुआ है। जनवरी 2019 में 8.31 लाख नए रोजगारों का सृजन हुआ था जिसके बाद पिछले महीने 8.94 लाख नए रोजगार सृजित होने का अनुमान है।वहीं अप्रैल 2019 में जारी पेरोल डेटा की मार्च 2018 के डेटा से तुलना करें तो एक बड़ा बदलाव देखने को मिंला है। इसके अनुसार 55,934 ईपीएफओ सदस्यों ने ईपीएफओ की सदस्यता छोड़ी है। इस पर ईपीएफओ ने कहा, ‘मार्च 2018 के आंकड़े मार्च के महीने में बड़ी संख्या में सदस्यों के बाहर निकलने के कारण नकारात्मक हैं, यह वित्त वर्ष के अंतिम महीने के कारण हो सकता है।‘

फ्रैंकफर्ट। अब जर्मनी की कंपनी भारत में लोगों को PAN कार्ड जारी होने में मददगार साबित होगी। जर्मन पेमेंट्स कंपनी वायरकार्ड (Wirecard) ने बुधवार को कहा कि वह भारत के साथ टैक्‍स आइडेंटिटी कार्ड्स (पैन कार्ड) जारी करने की प्रक्रिया को और सरल बनाने के लिए काम करेगी। आपको बता दें कि बैंक अकाउंट खोलने, मनी ट्रांसफर या बिजनेस लेनदेन को पूरा करने के लिए PAN कार्ड जरूरी है। सरकारी कंपनी यूटीआई इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर टेक्‍नोलॉजी एंड सर्विसेज (UTIITSL) के साथ हुए वायरकार्ड की डील का उद्देश्‍य पैन कार्ड की वितरण व्‍यवस्‍था का विस्‍तार करना है।आपको बताते चलें के लगभग 130 करोड़ की आबादी वाले भारत में ज्‍यादातर लोग अनौपचारिक अर्थव्‍यवस्‍था में जीते और काम करते हैं। वायरकार्ड, जिसकी मौजूदगी पहले से ही भारत में है, ने कहा है कि 350 शहरों में उसके 1,500 रिटेल एजेंट का नेटवर्क है। यह कंपनी पैन कार्ड के लिए लोगों से जरूरी दस्‍तावेज स्‍वीकार करेगी और स्‍कैन करेगी। ऐसा अनुमान जताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार एक बार फिर से केंद्र में बनेगी। कल लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित होंगे। प्रधानमंत्री मोदी वित्‍तीय समावेशन (फाइनेंशियल इन्‍क्‍लूजन) का व्‍यापक तौर पर विस्‍तार करना चाहते हैं और वह पहले ही यूनिवर्सल बायोमेट्रिक आइडेंटिटी कार्ड स्‍कीम लॉन्‍च कर चुके हैं।म्‍यूनिख की कंपनी वायरकार्ड की स्‍थापना 1999 में हुई थी। यह एक डिजिटल पेमेंट्स प्‍लैटफॉर्म संचालित करती है जो मर्चेंट्स के लिए पेमेंट की देखरेख करती है और उपभोक्‍ताओं को वास्‍तविक और वर्चुअल पेमेंट्स कार्ड जारी करती है।

नई दिल्‍ली। जेट एयरवेज के शेयरों में उछाल देखने को मिला है। जेट एयरवेज के शेयरों में यह उछाल हिंदुजा ग्रुप द्वारा जेट में इन्वेस्टमेंट करने की सहमति देने के बाद आया है। बुधवार को खबर लिखे जाते समय जेट एयरवेज के शेयर में करीब 7 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिल रही थी। खबर लिखी जाने तक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर एयरलाइन का शेयर 7.16 फीसदी की बढ़त पाकर 161.55 रुपये हो गया था। वहीं एनएसई (NSE) पर जेट एयरवेज का स्टॉक 6.96 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 161.35 रु पर चल रहा था।मंगलवार को ग्रुप द्वारा एक बयान में कहा गया था कि, हिंदुजा ग्रुप जेट एयरवेज में अवसरों का मूल्यांकन कर रहा है। गौरतलब है कि जेट एयरवेज का परिचालन बीते 17 अप्रैल को बंद हो गया था। उसके बाद से ही ऋणदाता एसबीआई (SBI) के नेतृत्व में निवेशकों से इस एयरलाइन को पुनर्जीवित करने की मिन्नतें कर रहे हैं। बता दें कि जेट पर 8,000 करोड़ से अधिक के कर्ज का बोझ है।अब हिंदुजा ग्रुप से आई उम्मीद की किरण के बाद जेट एयरवेज के शेयरों में उछाल आ रहा है। जेट के शेयरों में लगातार तीसरे सत्र में तेजी देखी गई है। मंगलवार को शेयर 14.73 फीसदी की बढ़त के साथ 150.75 रुपये पर बंद हुआ था जबकि सोमवार को यह बीएसई पर 5.88 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 131.40 रुपये पर बंद हुआ था।

नई दिल्‍ली। भारत में बनी पायलट रहित रेलगाड़ी ‘ट्रेन 18’ (Train 18) अब दूसरे देशों को भी बेची जाएगी। भारतीय रेलवे इसकी योजना बना रहा है। जब भारत में ‘ट्रेन 18’ की बोगियों की मांग पूरी हो जाएगी, उसके बाद इस ट्रेन की बोगियों को दूसरे देशों को बेचा जाएगा। रेलवे बोर्ड के सदस्य ने पीटीआई को बताया कि, ‘ट्रेन 18’ को दक्षिण अमेरिकी और दक्षिण एशियाई देशों को बेचे जाने की योजना है। रेलवे बोर्ड के सदस्य राजेश अग्रवाल ने बताया कि, इंटीग्रल कोच फैक्ट्री में 60 हजार बोगियों का निर्माण किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि, आईसीएफ द्वारा निकट भविष्य में 40 ‘ट्रेन 18’ तैयार कर ली जाएंगी।बोर्ड के सदस्य राजेश अग्रवाल ने अपने बयान में कहा, "कुछ दक्षिण एशियाई और कुछ दक्षिण अमेरिकी देशों ने ‘ट्रेन 18’ की बोगियां खरीदने में दिलचस्पी दिखाई है। भारतीय रेलवे घरेलू जरूरतें पूरी होने के बाद उनकी मांग पर विचार करेगा।"बता दें कि, ‘ट्रेन 18’ भारत की पहली स्वचालित ट्रेन है। इस ट्रेन को पिछले साल शुरू किया गया था। अभी यह ट्रेन नई दिल्ली से वाराणसी के बीच चल रही है। उपयोग में आने से पहले ‘ट्रेन 18’ का नाम वंदे भारत एक्सप्रेस कर दिया गया था।बोर्ड मेंबर अग्रवाल ने बताया कि आईसीएफ ने पिछले साल 2018-19 में 3,262 कोच तैयार किये थे और इसके साथ ही आईसीएफ दुनिया की सबसे बड़ी कोच निर्माता बन गई थी, जो कि हमारे लिए गर्व की बात है। साथ ही उन्होंने बताया कि, आईसीएफ अगले साल करीब 4,000 कोचों का निर्माण कर अपना खुद का ही रिकॉर्ड तोड़ना चाहती है।Train 18 का स्‍लीपर वर्जन होगा Train 19: अग्रवाल ने यह भी बताया कि आईसीएफ अपनी फैक्ट्री में ‘ट्रेन 18’ के स्लीपर वर्जन ‘ट्रेन 19’ का डिजाइन, डेवलपमेंट और निर्माण भी कर रही है जो कि, इसी साल पूरा कर लिया जाएगा।रेलवे बोर्ड के सदस्य के अनुसार, भारतीय रेलवे द्वारा कोच निर्माण इकाईयों के इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए करीब 2,500 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर काम करने की योजना बनाई जा रही है

 

नई दिल्ली। सोमवार 20 मई को देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई राहत नहीं मिली और दोनों की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है। देश भर में पेट्रोल की कीमतों में 8-10 पैसे तक, वहीं डीजल के कीमतों में 15-16 पैसों तक का इजाफा हुआ है।सरकारी तेल विपणन कंपनियां लगातार कई दिनों से पेट्रोल-डीजल के दामों को कम कर रही थीं, अब कई दिनों बाद कीमतों में उछाल देखने को मिला है। देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल और डीजल की कीमतें टैक्स कम होने की वजह से सभी महानगरों और राज्यों की राजधानियों के मुकाबले काफी कम हैं।इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल 9 पैसे महंगा होकर 71.12 रुपये प्रति लीटर, वहीं डीजल 15 पैसा महंगा होकर 66.11 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, बीते दिन के मुकाबले कीमतों में बदलाव हुआ है।चेन्नई की बात की जाए तो यहां पेट्रोल 10 पैसे महंगा 73.82 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, वहीं डीजल 16 पैसे बढ़कर 69.88 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, रविवार के मुकाबले पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बदलाव हुआ है।मुंबई की बात की जाए तो यहां पेट्रोल 9 पैसे मंहगा होकर 76.73 रुपये प्रति लीटर, वहीं डीजल 16 पैसे महंगा होकर 69.27 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, बीते दिन के मुकाबले कीमतें बढ़ी हैं।सोमवार को कोलकाता में पेट्रोल 8 पैसे महंगा होकर 73.19 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, वहीं डीजल 15 पैसे महंगा होकर 67.86 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, रविवार के मुकाबले पेट्रोल-डीजल महंगा हुआ हैइसी प्रकार दिल्ली से सटे गुरुग्राम और नोएडा और नोएडा की बात की जाए तो यहां पेट्रोल-डीजल के दाम इस प्रकार हैं। नोएडा में पेट्रोल 70.86 रुपये प्रति लीटर, वहीं डीजल 65.26 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। गुरुग्राम में पेट्रोल 71.38 रुपये प्रति लीटर, वहीं डीजल 65.34 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

नई दिल्ली। गर्मियों के मौसम में पहाड़ों का नजारा ही कुछ अलग होता है, ऐसे में यहां एडवेंचर एक्टिविटी करने से भागदौड़ भरी जिंदगी की टेंशन बिल्कुल दूर हो जाती है। मेघालय में जाकर आप एक अलग प्राकृतिक एहसास ले सकते हैं। बादलों से घिरे मेघालय में एडवेंचर एक्टिविटी के लिए बहुत कुछ मौजूद है। भारतीय रेलवे का उपक्रम आईआरसीटीसी दिल्ली से गुवाहाटी होते हुए मेघालय का एक एडवेंचर टूर…
नई दिल्‍ली। भारत सरकार की प्रमुख हेलीकॉप्टर सेवा प्रदाता कंपनी पवन हंस को उबारने के लिए सरकार एक बार फिर नए सिरे से बोली मंगवा सकती है। संबंधित सूत्रों ने जानकारी दी कि इस महीने के अंत तक में सरकार द्वारा बोली मंगाने के लिए दस्तावेज जारी किये जा सकते हैं। इससे पहले कंपनी को बेचने की सरकार की मंशा सफल नहीं हो पायी थी। गौरतलब है कि, पवन हंस…
नई दिल्‍ली। Exit Poll में भाजपा के नेतृत्‍व वाली सरकार की वापसी की प्रबल संभावना से अदानी ग्रुप के शेयरों में सोमवार को जबरदस्‍त खरीदारी देखने को मिली है। रविवार को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के बाद Exit Poll के नतीजे आए जिसमें यह संभावना जताई गई कि एक बार फिर नरेंद्र मोदी ही प्रधानमंत्री बनेंगे। हालांकि, शेयर बाजार के कारोबारियों और निवेशकों की निगाहें 23 मई…
नई दिल्ली। आधार कार्ड आज के समय में भारतीय नागरिकों के लिए जरूरी बन गया है। अगर आप अपने आधार कार्ड में एड्रेस बदलवाना चाहते हैं और आपके पास कोई एड्रेस प्रूफ डॉक्यूमेंट नहीं है तो टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। अब भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने आधार कार्ड में एड्रेस बदलने की प्रक्रिया को ऑनलाइन आसान कर दिया है। एड्रेस को ऑनलाइन अपडेट करने की एक नई…
Page 6 of 36

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें