कारोबार

कारोबार (3082)

नई दिल्ली। स्टील निर्माता अग्रणी कंपनी टाटा स्टील ने शनिवार को उषा मार्टिन लिमिटेड (यूएमएल) के स्टील कारोबार के अधिग्रहण की घोषणा की है। टाटा स्टील के मुताबिक यह सौदा करीब 4,300-4,700 करोड़ रुपये मूल्य का होगा। इसे फिलहाल कुछ नियामकीय मंजूरियों की दरकार होगी, जिसमें भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआइ) से मिलने वाली मंजूरी सबसे अहम है।कंपनी ने बयान में कहा है कि सौदा लगभग नौ महीनों में पूरा हो जाएगा। शर्तो के मुताबिक सौदा पूरा होने के बाद टाटा स्टील या उसकी कोई भी सहायक शाखा उषा मार्टिन का के स्टील कारोबार का अधिग्रहण कर सकती है। बयान में कहा गया है कि सौदे के तहत लेनदेन और अधिग्रहण की संरचना पर अंतिम फैसला जल्द ले लिया जाएगा।उषा मार्टिन ने शनिवार को शेयर बाजारों को दी जानकारी में बताया कि टाटा स्टील के हाथों स्टील कारोबार बेचने से उसे अपना कर्ज घटाने में उल्लेखनीय मदद मिलेगी। गौरतलब है कि उषा मार्टिन दुनियाभर में वायर रोप निर्माण क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनियों में एक है। देश में यह स्पेशलिटी स्टील उत्पादन क्षेत्र की अग्रणी कंपनी है।उषा मार्टिन के स्टील कारोबार में कई संपत्तियां शामिल हैं। इनमें जमशेदपुर (झारखंड) स्थित स्पेशलाइज्ड एलॉय आधारित 10 लाख टन सालाना क्षमता वाला एक संयंत्र, चालू हालत में एक लौह अयस्क खदान, विकसित हो रहा एक कोयला खदान और कैप्टिव बिजली संयंत्र प्रमुख हैं।टाटा स्टील ने एक बयान में कहा कि कंपनी ने पूरी तरह नकद भुगतान के जरिये उषा मार्टिन का स्टील कारोबार खरीदने संबंधी एक निश्चित करार किया है। पिछले वित्त वर्ष की समाप्ति पर टाटा स्टील सालाना कच्चा स्टील उत्पादन क्षमता पौने तीन करोड़ टन थी।

नई दिल्ली। विदेश घूमने की इच्छा तो सभी की होती है, लेकिन कई बार वीजा की वजह से प्लान खटाई में पड़ जाता है। अलग-अलग देशों में जाने के लिए वीजा का खर्च भी अलग-अलग होता है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय पासपोर्ट इस साल 66वें स्थान पर रहा है। भारतीय पासपोर्ट होल्डर्स को 132 देशों की यात्रा के लिए वीजा की जरूरत है, हालांकि उनको 41 देशों में आगमन के बाद वीजा मिल सकता है। इसके अलावा 25 देश ऐसे हैं जहां बिना वीजा के यात्रा की जा सकती है।अगर आपके पास भी भारतीय पासपोर्ट है तो हम अपनी इस खबर में बता रहे हैं कि दुनिया के कुछ लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में घूमने जाने के लिए आपके वीजा का खर्च कितना आएगा?
थाईलैंड: थाईलैंड भारतीय नागरिकों को अपने देश में आगमन पर 4,452 रुपये में वीजा देता है। इस वीजा की अवधि 15 दिनों तक के लिए ही मान्य होती है। यह एक खूबसूरत देश है।
इंडोनेशिया: भारतीय पासपोर्ट धारक इंडोनेशिया में बिना वीजा के 30 दिनों तक यात्रा कर सकते हैं। इस देश की करेंसी पर भगवान गणेश की फोटो होती है।
ब्रिटेन: भारतीय पासपोर्ट धारकों के लिए यूके में स्टैण्डर्ड विजटर वीजा का खर्च (93 पाउंड) 8,872 रुपये है। इस वीजा से आप ब्रिटेन में 6 महीने तक रह सकते हैं।
फ्रांस: भारतीय पासपोर्ट धारकों को फ्रांस में यात्रा के लिए शेंगेन वीजा मिलता है, जिससे फ्रांस के 26 राज्यों में यात्रा की जा सकती है। कम अवधि के लिए वीजा का खर्च 60 यूरो 5,095 रुपये है।
श्रीलंका: श्रीलंका भारतीय नागरिकों के लिए 1,453 रुपये में ई-वीजा या वीजा देता है। यह सिंगल-एंट्री वीजा 30 दिनों के लिए मान्य है।
स्विट्ज़रलैंड: भारतीय पासपोर्ट धारकों के लिए स्विट्जरलैंड शेंगेन वीजा देता है जिसका खर्च 6,333 रुपये है। (इसमें वीजा शुल्क 5,000 रुपये और 1,333 रुपये वीजा सेवा शुल्क) के रूप में लिए जाते हैं।
मालदीव: मालदीव भारतीय पासपोर्ट धारकों को 30 दिनों की अवधि के लिए वीजा मुक्त यात्रा की सुविधा देता है। यह चारो तरफ पानी से घिरा एक खूबसूरत देश है।

नई दिल्ली। वैसे तो आधार कार्ड नाबालिगों के लिए अनिवार्य नहीं है, लेकिन कई बार आधार के लिए बच्चों का नामांकन कुछ अवसरों पर सफलता दिला सकता है। इसकी उपयोगिता पहचान से लेकर विभिन्न सरकारी योजनाओं में समझ आती है। नाबालिगों के लिए आधार में नामांकन भविष्य में कई परेशानियों से बचा सकता है। हम इस खबर में बता रहे हैं कि आप कैसे अपने बच्चे का आधार नामांकन करा सकते हैं।
अपने बच्चों को आधार के लिए कैसे करें नामांकित:-
5 साल से कम आयु के बच्चों के लिए: अपने आस-पास के आधार नामांकन केंद्र पर जाएं और आधार नामांकन फॉर्म भरें। इसके लिए माता-पिता को अपना स्वयं का आधार कार्ड और बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र साथ ले जाना होगा।5 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए कोई बॉयोमीट्रिक डेटा की आवश्यकता नहीं होगी। हालांकि बच्चे की एक फोटो जरूरी है। 5 साल से कम उम्र के नाबालिगों को जारी आधार कार्ड नीले रंग में होगा।
5 साल से ऊपर के नाबालिगों के लिए: 5 वर्ष से ज्यादा उम्र के बच्चों के आधार नामांकन के लिए माता पिता को खुद का आधार ले जाना होगा। सेंटर पहुंचकर नामांकन फॉर्म भरने के बाद बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र और उनके स्कूल पहचान पत्र को संलग्न करना होगा। आधार नामांकन केंद्र में आपके बच्चे का बॉयोमीट्रिक विवरण और एक तस्वीर ली जाएगी। बच्चा जब 15 वर्ष का हो जाता है तो विवरण फिर से अपडेट करना होगा।

नई दिल्ली। भारतीय डाकघर (पोस्ट ऑफिस) में कई तरह के सेविंग अकाउंट खोलने की सुविधा मिलती है। पोस्ट ऑफिस में करीब 9 तरह की बचत योजनाएं संचालित होती हैं। इंडिया पोस्ट की वेबसाइट, indiapost.gov.in के मुताबिक पोस्ट ऑफिस में सेविंग स्कीम पर 4 फीसद से लेकर 8.3 फीसद के बीच ब्याज दरें मिलती हैं। डाकघर की बचत योजनाओं में आवर्ती जमा, सावधि जमा, डाकघर मासिक आय योजना, वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, 15 वर्षीय सार्वजनिक भविष्य निधि खाता, राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र, किसान विकस पत्र (केवीपी), और सुकन्या समृद्धि खाता शामिल हैं जिनमें 6.6 फीसद से 8.3 फीसद की दर से ब्याज मिलता है।डाकघर सावधि जमा खाता: डाकघर सावधि जमा खाते में चार कार्यकाल में निवेश किया जा सकता है। एक वर्ष, दो वर्ष, तीन वर्ष और पांच वर्ष। एक साल के सावधि जमा पर 6.6 फीसद की दर से ब्याज मिलता है, दो साल की सावधि जमा पर 6.7 फीसद ब्याज मिलता है, तीन वर्षीय डाकघर सावधि जमा पर 6.9 फीसद की ब्याज दी जाती है और पांच साल के तय जमा पर 7.4 फीसद की दर से ब्याज का भुगतान किया जाता है। पांच साल की सावधि जमा पर आयकर (आई-टी) अधिनियम की धारा 80 सी के तहत आयकर से लाभ भी मिलता है।
डाकघर आवर्ती जमा (आरडी): डाकघर आवर्ती जमा में 10 रुपये प्रति माह से निवेश किया जा सकता है। इस खाते में जमा राशि पर 6.9 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। वहीं इस बचत योजना में एक साल के बाद 50 फीसद रकम निकलाने की भी सुविधा उपलब्ध होती है।
डाकघर मासिक बचत आय: इस खाते को कोई भी व्यक्ति खुलवा सकता है। इस खाते में जमा राशि पर 7.3 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। जिसमें एक खाते में अधिकतम 4.5 लाख रुपये और जॉइंट खाते में 9 लाख रुपये की अधिकतम निवेश सीमा है, इस खाते को ट्रांसफर भी करवाया जा सकता है।
किसान विकास पत्र (केवीपी): इस खाते में जमा रूपये को ढाई साल बाद निकाला जा सकता है, इस पर 7.3 फीसद की दर से सालाना ब्याज मिलता है। इसमें निवेश की गई राशि 118 महीने (9 साल और 10 महीने) बाद दोगुनी हो जाती है।
15 वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ): इस खाते को 100 रुपये में खोला जा सकता है। इसमें एक वित्त वर्ष में अधिकतम एक लाख रुपए तक के निवेश पर कर छूट का लाभ मिलता है। इसमें जमा राशि पर 7.6 फीसद का ब्याज मिलता है। खाताधारकों को इस खाते में पूरे वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये एवं अधिकतम 1.50 लाख जमा करवाने होते हैं। खाते का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल का है। इसमें आप ज्वाइंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं।
नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट योजना में सालाना 8.0 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। 100 रुपये और इससे ज्यादा का एनएससी ले सकते हैं। पहले इस योजना में निवेश करने पर सालाना 7.6 ब्याज दर मिलती थी।
सुकन्या समृद्धि खाता: इस खाते में एक वित्त वर्ष के दौरान न्यूनतम 1,000 रुपये और अधिकतम 1,50,000 रुपयों का निवेश करना होता है। इसमें लंप-संप निवेश किया जा सकता है। यह खाता लड़की के पैदा होने के अगले 10 वर्षों के भीतर खुलवाया जा सकता है। इस खाते में 8.5 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। लड़की के 21 साल पूरे होने पर यह खाता बंद हो जाता है।

 

 

नई दिल्ली। तेल की कीमतों में आये दिन इजाफा देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को भी पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि हुई है। बता दें कि शुक्रवार को दिल्ली में पेट्रोल 10 पैसे की बढ़त के साथ 82.32 रुपये और डीजल 73.87 रुपये के स्तर पर रहा है। वहीं मुंबई में पेट्रोल 89.69 रुपये और डीजल 78.42 रुपये रहा है। इसी तरह चेन्नई में पेट्रोल 85.58 रुपये और डीजल 78.10 रुपये रहा है। कोलकता में पेट्रोल 84.16 रुपये और डीजल 75.72 रुपये प्रति लीटर रहा है।वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया के स्थिति के आधार पर ही सरकारी तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में संशोधन करती हैं। आईओसी, भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (बीपीसीएल) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (एचपीसीएल) देश की तीन प्रमुख सरकारी तेल विपणन कंपनियां हैं।इस खबर में कुछ ऐसे देशों के बारे में बताएंगे जहां पेट्रोल की कीमतें भारत की तुलना में काफी कम है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पेट्रोल के इन दामों को ग्लोबल पेट्रोल प्राइस डॉट कॉम से लिए गए हैं।
जानिए किन देशों में सस्ता है पेट्रोल:
बहरीन- बहरीन पेट्रोल की कीमतें काफी कम हैं। इस देश में कीमत 37.88 रुपये प्रति लीटर है।
कजाकिस्तान- इस देश में पेट्रोल 34 रुपये 86 पैसे प्रति लीटर के भाव से मिल रहा है।
मिस्र- अपने खूबसूरत पिरामिड्स के लिए दुनियाभर में मशहूर एजिप्ट में पेट्रोल 30.91 रुपये प्रति लीटर है।
कुवैत- तेल के अकूत भंडार का जिक्र छिड़ता है तो कुवैत का नाम भी सामने आता है। यहां पर पेट्रोल की कीमत 24.76 रुपये प्रति लीटर है।
इक्वाडोर- इक्वाडोर में पेट्रोल की कीमत 24.47 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है।
ईरान- ईरान में पेट्रोल की कीमत 20.36 रुपये प्रति लीटर है।
नाइजीरिया- ये देश भले ही गरीबी से जूझ रही है लेकिन बावजूद इसके यहां पेट्रोल पर भारी भरकम टैक्स नहीं वसूला जाता है। बता दें कि यहां पेट्रोल की कीमत 29.41 रुपये प्रति लीटर है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था वर्ष 2022 तक दोगुनी होकर 5,000 अरब डॉलर की हो जाएगी। पीएम मोदी इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्स्पो सेंटर के शिलान्यास के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा 'भारत की योजना 2022 तक अपनी जीडीपी बढ़ाकर पांच ट्रिलियन डॉलर (5,000 अरब डॉलर) करने की है जिसमें विनिर्माण और कृषि का योगदान एक-एक ट्रिलियन डॉलर (1,000 डॉलर) होगा।'प्रधानमंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा जारी है। पीएम ने कहा सरकार का प्रयास है कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में निर्यात का हिस्सा बढ़ाकर 40 फीसद किया जाए।इस दौरान मोदी ने सरकारी क्षेत्र के तीन बैंकों- देना बैंक, विजया बैंक तथा बैंक ऑफ बड़ौदा के विलय की घोषणा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 8 फीसद से अधिक दर से वृद्धि कर रही है। नौकरी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और खुदरा (रिटेल) क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं। उन्होंने (जीएसटी) के क्रियान्वयन के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदम का भी जिक्र किया।पीएम ने कहा कि सरकार के मेक इन इंडिया लाने के बाद से 80 फीसद मोबाइल फोन देश में बन रहे हैं। इससे विदेशी मुद्रा खर्च में तीन लाख करोड़ रुपये की बचत करने में मदद मिली है।

नई दिल्ली। अपने भविष्य को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के लिये लोग बचत और निवेश करते हैं। आमतौर पर लोग ऐसी स्कीम और प्लान का चयन करते हैं जो कम समय में निवेशित राशि पर ज्यादा रिटर्न दे सके। लेकिन आपको बता दें कि स्कीम और प्लान के अलावा भी आपकी ओर से की जाने वाली बचत आपकी आदतों पर भी निर्भर करती हैं।बता दें कि रोजमर्रा की कुछ…
नई दिल्ली। निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज अब 25 सितंबर से इकोनॉमी क्लास वाले यात्रियों को अपनी घरेलू उड़ानों के दौरान मुफ्त में खाना नहीं देगी। हालांकि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में इकोनॉमी क्लास के यात्रियों को पहले की ही तरह मुफ्त खाना मिलता रहेगा। कंपनी की ओर से यह नया बदलाव 25 सितंबर से खरीदे जाने वाले और 28 सितंबर के बाद की यात्रा तारीखों वाले टिकटों पर लागू होगा।जानकारी के…
नई दिल्ली। हिंदी भाषा में ट्वीट करना भारत में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। भारत एवं अमेरिका के शोधकर्ताओं की ओर से किए गए एक अध्ययन के मुताबिक यह जानकारी सामने आई है।मिशिगन विश्वविद्यालय के जॉयजीत पाल और लिज बोजार्थ की ओर से किए गए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि भारत में सोशल मीडिया लैंडस्केप 2014 से विकसित होना शुरु हुआ जब ट्विटर पर अधिकांश ट्वीट्स…
नई दिल्ली। जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) काउंसिल की 30वीं बैठक 28 सितंबर को होनी है। इस बैठक में कुछ वस्तुओं पर टैक्स की दरों को कम करने का प्रस्ताव रखा जा सकता है। इस बैठक में जीएसटी काउंसिल सीमेंट पर, एयर कंडीशनर पर और बड़े स्क्रीन वाले टीवी पर कर की दरों में बदलाव कर सकता है।जीएसटी काउंसिल अपनी जुलाई की बैठक में 100 से अधिक उत्पादों पर कर…
Page 6 of 221

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें