कारोबार

कारोबार (490)

नई दिल्ली। देश के विनिर्माण क्षेत्र (मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर) का प्रदर्शन अप्रैल में आठ महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया, क्योंकि नए बिजनेस की ग्रोथ मंद रही, जिस पर चुनावों और एक चुनौतीपूर्ण आर्थिक वातावरण ने दबाव बनाया। यह जानकारी एक मासिक सर्वे में गुरुवार को सामने आई है।निक्केई इंडिया का मैन्युफैक्चरिंग पर्चेजिंग मैनेजर इंडेक्स अप्रैल में गिरकर 51.8 के स्तर पर पहुंच गया जो कि मार्च महीने में 52.6 के स्तर पर रहा था। यह अगस्त 2018 के बाद के व्यावसायिक स्थितियों में सबसे कमजोर सुधार को दर्शाता है। यह लगातार 21वां महीना है जब मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई 50 के स्तर के ऊपर रहा है। पीएमआई के संदर्भ में 50 से ऊपर का स्तर विस्तार और इससे नीचे का स्तर संकुचन की स्थिति को दर्शाता है। अप्रैल का पीएमआई डेटा बताता है कि नए आदेशों में नरम वृद्धि से उत्पादन, रोजगार और व्यापार की भावनाओं को सीमित किया है।आईएचएस मार्किट की प्रमुख अर्थशास्त्री और इस रिपोर्ट की लेखिका पालियामा डि लीमा ने बताया, " हालांकि शेष विस्तार क्षेत्र ने विकास को नरम रखना जारी रखा और यह तथ्य यह है कि रोजगार एक वर्ष से अधिक की अवधि की तुलना में सबसे कम गति से बढ़ा है जो कि बताता है कि निर्माता मुश्किल से ही वापसी को तैयार हैं।" लीमा ने बताया कि जब सर्वे कंपनियों की ओर से उपलब्ध करवाए गए मंदी के कारणों को देखा गया तो पता चला कि चुनाव के कारण आए व्यवधान प्रमुख वजह रहे।

नई दिल्ली। अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में कोई भी बदलाव नहीं किया है, जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मांग की थी कि ब्याज दरों को कम किया जाए ताकि इकोनॉमिक ग्रोथ को बूस्ट मिल सके। फेडरल ओपन मार्केट कमिटी, जो कि फेड की पॉलिसी बनाने वाली कमिटी है ने फेडरल फंड्स के लिए टार्गेट रेंज 2.25 फीसद से 2.5 फीसद पर ही कायम रखने का फैसला किया है। दो दिवसीय पॉलिसी बैठक के बाद बुधवार को केंद्रीय बैंक की ओर से जारी बयान में यह जानकारी सामने आई है।सिन्हुआ न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक फेड ने एक बयान में कहा कि मार्च से ही श्रम बाजार में ‘मजबूती बनी हुई है’, जबकि पहली तिमाही में घरेलू खर्च और व्यापार में निश्चित निवेश में गिरावट दर्ज की गई है। वहीं इस बैठक से ठीक पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को फेड द्वारा ब्याज दरों में वृद्धि करने की फिर से आलोचना की थी और केंद्रीय बैंक से अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरें कम करने का आग्रह किया था। ट्रंप ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा था, "हमारे फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों में इजाफा किया है जबकि मुद्रास्फीति की दर काफी नीचे है।"

नई दिल्ली। गुरुवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने आम आदमी को राहत दी है। आज सभी महानगरों में पेट्रोल 6 से 7 पैसा प्रति लीटर और डीजल 5 से 6 पैसा प्रति लीटर तक सस्ता हुआ है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि सरकारी तेल विपणन कंपनियां ईंधन की कीमतों में रोजाना संशोधन करती हैं।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल 6 पैसे तक सस्ता होकर 73.07 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है, जबकि बुधवार को इसकी कीमत 73.13 रुपये प्रति लीटर रही थी। वहीं राजधानी में डीजल 5 पैसे तक सस्ता होकर 66.66 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है जबकि बीते दिन इसके भाव 66.71 रुपये रहे थे। यहां पर ध्यान दिलाने योग्य बात यह है कि बुधवार को सरकारी तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों को स्थिर रखा था। वहीं सबसे कम कर दरों के चलते दिल्ली में ईंधन की कीमतें अन्य प्रमुख महानगरों के मुकाबले सबसे कम हैं।इंडियन ऑयल कार्पोरेशन की वेबसाइट के मुताबिक कोलकाता में आज पेट्रोल और डीजल क्रमश: 75.08 रुपये और 68.39 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है। ठीक इसी तरह मुंबई में पेट्रोल 6 पैसे सस्ता होकर 78.64 रुपये प्रति लीटर के भाव से और डीजल 6 पैसे सस्ता होकर 69.77 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है। वहीं चेन्नई के लोगों को आज एक लीटर पेट्रोल के लिए 75.84 रुपये और डीजल के लिए 70.39 रुपये चुकाने पड़े।

 

नई दिल्ली। अगर आपने अभी तक अपने आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक नहीं करवाया तो उसे जल्द से जल्द करवा लीजिए। आधार कार्ड से पैन कार्ड लिंक नहीं है तो आईटीआर दाखिल नहीं किया जा सकेगा। पहले आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करवाने की आखिरी तारीख 31 मार्च, 2019 थी, जिसे आयकर विभाग ने बढ़ाकर 30 सितंबर, 2019 कर दिया है। आप आधार कार्ड को पैन कार्ड से दो तरीके से लिंक कर सकते हैं, पहला ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि बिना इंटरनेट के आप आधार को पैन कार्ड से कैसे लिंक करवा सकते हैं।
मोबाइल के जरिए ऐसे कर सकते हैं लिंक:
सिर्फ एक मैसेज भेजकर भी आधार को पैन कार्ड से जोड़ा जा सकता है।
एसएमएस प्रक्रिया के लिए आधार से पंजीकृत मोबाइल नंबर से 567678 या 56161 पर मैसेज भेजना है।
एसएमएस में UIDPAN स्पेस 12 डिजिट का आधार नंबर स्पेस 10 डिजिट पैन नंबर टाइप करना होगा।
आधार से पंजीकृत मोबाइल नंबर से टाइप किए हुए मैसेज को 567678 या 56161 पर भेजना है।
उसके बाद यूजर को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर अनुरोध प्रप्ति का एक मैसेज आएगा।
अनुरोध करने के कुछ दिनों के बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए आधार कार्ड से पैन की लिंकिंग की जानकारी मिलेगी।

ऑनलाइन ऐसे कर सकते हैं आधार से पैन कार्ड की लिंकिंग:
आधार कार्ड को पैन कार्ड से ऑनलाइन लिंक करने के लिए ये प्रक्रिया है।
सबसे पहले इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर लॉग इन करना है।
उसके बाद एक फॉर्म डाउनलोड करके उसमें सभी प्रकार की जरूरी जानकारी दर्ज करनी हैं।
उसके बाद उस फॉर्म को ऑनलाइन ही जमा करना है और आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक करना है।

नई दिल्ली। आधार कार्ड की अहमियत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आज के समय में यह हमारी हर जरूरत का आधार बन चुका है। नया सिम लेना हो, बैंक में अकाउंट खुलवाना हो या फिर आईटीआर फाइल करना, हर जगह अब आधार अनिवार्य हो चुका है। आधार 12 डिजिट का एक नंबर होता है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) की ओर से जारी किया जाता है।हालांकि आधार को पूरी प्रक्रिया को पूरा करने के बाद ही जारी किया जाता है। आधार कार्ड को पाने के लिए कुछ जानकारियां साझा करनी होती है, इसमें मोबाइल नंबर सबसे अहम होता है। यूआईडीएआई के मुताबिक देश में करीब 66.4 करोड़ से अधिक लोग आधार कार्ड में अपना मोबाइल नंबर जोड़ चुके हैं। आधार कार्ड के साथ अपना मोबाइल नंबर जोड़ने के कई फायदे हैं।
आधार कार्ड में मोबाइल नंबर को अपडेट करने का क्या है तरीका, जानिए-
-आप आधार में अपने मोबाइल नंबर को ऑनलाइन माध्यम से अपडेट नहीं कर सकते हैं। इसके लिए आपको आधार केंद्र सेंटर जाना ही होगा।
-आधार केंद्र सेंटर से अपने मोबाइल नंबर को अपडेट करने के लिए आपको किसी भी दस्तावेज को अपने साथ रखने की जरूरत नहीं है।
-आधार केंद्र पर जाकर आधार अपडेशन फॉर्म को भरिए और यहां पर अपने करेंट मोबाइल नंबर को दर्ज कराइए।
-अब यहां पर आपको एक एकनॉलेजमेंट स्लिप दी जाएगी, जिसमें अपडेट रिक्वेस्ट नंबर का जिक्र होगा।
-एक बार मोबाइल नंबर अपडेट हो जाने के बाद आपको नए नंबर पर आधार ओटीपी प्राप्त होगा।
आधार में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के बारे में जानने के लिए फॉलो करें ये स्टेप्स:
-यूआईडीएआई की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाइए और यहां पर वेरिफाई ईमेल/मोबाइल नंबर पर क्लिक कीजिए। यह ऑप्शन आपको आधार सर्विस कैटेगरी के अंतर्गत दिखाई देगा।
-अब पर्सनल डिटेल सेक्शन में जाकर अपने आधार नंबर, ईमेल आईडी, फोन नंबर, सिक्योरिटी कोड (कैप्चा) के साथ जरुरी डिटेल भरें।
-सभी डिटेल भरने के बाद गेट ओटीपी बटन पर क्लिक करें। ऐसा करते ही ओटीपी जेनरेट हो जाएगा
-अब मोबाइल नंबर का वेरिफिकेशन कंप्लीट करने के लिए इस ओटीपी को एंटर करें।

नई दिल्ली। आयकर विभाग में आपकी नुमाइंदगी करने वाला पैन कार्ड आपकी एक खास पहचान होने के साथ ही अब अधिकांश जरूरतों के लिए अनिवार्य हो चुका है। वित्तीय लेन-देन हो या फिर बैंक में अकाउंट खुलवाना, पासपोर्ट का आवेदन हो या फिर आईटीआर फाइलिंग अब तमाम छोटे बड़े कामों के लिए आपको पैन कार्ड उपलब्ध करवाना ही पड़ता है। पर्मानेंट अकाउंट नंबर को आयकर विभाग की ओर से जारी किया जाता है और इसे भारत का कोई भी नागरिक बनवा सकता है।हालांकि आयकर विभाग के नॉर्म्स की मानें तो आयकर अधिनियम 1961 के सेक्शन 272B के मुताबिक एक से अधिक पैन कार्ड रखना जुर्म है। अगर आपके पास एक से अधिक पैन कार्ड पाए जाते हैं तो आप पर 10,000 रुपये का जुर्माना भी लग सकता है। ऐसे में आपके लिए अतिरिक्त पैन कार्ड को सरेंडर करवाना होगा। आप पैन कार्ड के लिए ऑफलाइन और ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। हम अपनी इस खबर के माध्यम से आपको पैन कार्ड बनवाने के लिए ऑफलाइन तरीका बता रहे हैं।
क्या है तरीका?
-सबसे पहले आपको पैन कार्ड ऑफलाइन एप्लीकेशन फॉर्म के लिए पैन फॉर्म 49A को डाउनलोड करना होगा। इस फॉर्म को आप इस लिंक https://www.incometaxindia.gov.in/forms/income-tax%20rules/103120000000007917.pdf के जरिए डाउनलोड कर सकते हैं। डाउनलोड करने के बाद आप इस फॉर्म को भरिए।
-फॉर्म भरने के दौरान ध्यान रखें कि आप काले पेन से सारी जानकारी ब्लॉक लेटर में अंग्रेजी भाषा में ही भरें। इसमें अपनी नवीनतम (3.5 cm X 2.5 cm) साइज वाली फोटो चिपकाएं। सिग्नेचर बॉक्स में अपना साइन करें। अगर आप अंगूठे का निशान लगा रहे हैं तो उसे मजिस्ट्रेट या पब्लिक नोटरी या गैजेटेड ऑफिसर से अटैस्टेड (प्रमाणित) करवाएं।
-इसके अलावा आपको एप्लीकेशन फॉर्म में सही-सही एओ कोड दर्ज कराना होगा। अगर आवेदक डिफेंस क्षेत्र का कर्मचारी (सेना) है तो एओ कोड को स्पेशिफाई करे।
-आयकर अधिनियम 1962 के रुल नंबर 114 (4) के तहत इस फॉर्म के साथ प्रूफ ऑफ आईडेंटिटी, प्रूफ ऑफ डेट ऑफ अर्थ को सबमिट करना न भूलें।
-इसमें आवेदक को पीओआई, पीओए और पीओडीबी देना होगा जिसमें वही नाम लिखा हो जिसे आपने आवेदन फॉर्म में लिखा है।
पैन कार्ड के ऑफलाइन फॉर्म को कहां भेजें?;-आप जब यह फॉर्म पूरी तरह से भर लें तो आप इसे अन्य जरूरी दस्तावेजों और प्रोसेसिंग फीस के साथ अपने नजदीकी नेशनल सिक्योरिटी डिपॉजिटरी लिमिटेड (एनएसडीएल) ऑफिस में जमा करा सकते हैं। एक बार इसका प्रोसेस शुरू हो जाने के बाद अगले 15 कार्यकारी दिवसों में आपके पते पर आपको पैन कार्ड भेज दिया जाएगा।
पैन कार्ड आवेदन की ऑफलाइन फीस?:-जो लोग पैन कार्ड के लिए ऑफलाइन आवेदन कर रहे हैं उन्हें पैन प्राप्त करने के लिए 93 रुपये (जीएसटी हटाकर) का भुगतान करना होगा। यह शुल्क सिर्फ भारतीय संचार पते पर ही लागू है। विदेशी संचार पते पर पैन कार्ड प्राप्त करने के लिए आपको 864 रुपये का भुगतान करना होगा

नई दिल्ली। यूनेस्को की तरफ से जारी अंतरराष्ट्रीय छात्र पहचान पत्र (ISIC) स्टूडेंट्स के लिए पूरी दुनिया में मान्य है, जिसमें लगभग 130 देश शामिल हैं। अगर आप किसी स्कूल, कॉलेज या यूनिवर्सिटी में फुल टाइम स्टूडेंट हैं और आपकी आयु 12 साल या अधिक है, तो आप आईएसआईसी (ISIC) के लिए आवेदन कर सकते हैं।यह एक वर्चुअल और प्लास्टिक दोनों प्रकार का कार्ड है, जिससे दुनिया भर के स्टूडेंट…
नई दिल्ली। मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल लिमिटेड (एमआरपीएल) के अधिग्रहण की हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) की योजना पर नकदी संबंधित गतिरोध खड़ा हो गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि उसकी मूल कंपनी ओएनजीसी शेयरों की अदला-बदली के बजाए नकद राशि में यह सौदा चाहती है। यह जानकारी सूत्रों के हवाले से सामने आई है।ऑयल एंड नेचुरल गैस कार्पोरेशन (ओएनजीसी), जो कि देश की सबसे बड़ी तेल और गैस उत्पादक कंपनी…
नई दिल्ली। भारत ने अमेरिका के साथ अंतर-सरकारी समझौते को अधिसूचित किया है। यह समझौता इसलिए किया गया है ताकि सीमा पार चोरी को रोकने के लिए देश-दर-देश आधार पर (सीबीसी) बहुराष्ट्रीय कंपनियों के आय आवंटन और करों के भुगतान के संबंध में रिपोर्ट्स का आदान-प्रदान किया जा सके।यह समझौता, जिस पर मार्च में केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अध्यक्ष पी सी मोदी और भारत में अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टर…
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बीते 18 वर्षों के दौरान 5 बार इनकम टैक्स रिफंड मिला है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को समान अवधि में 6 बार टैक्स रिफंड हासिल हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी के मामले में आकलन वर्ष 2015-16 और 2012-13 के रिफंड को और राहुल गांधी के मामले में 2011-12 के रिफंड को बकाया मांग के एवज में समायोजित कर लिया गया।एनएसडीएल ई-गवर्नेंस इंफ्रास्ट्रक्चर…
Page 9 of 35

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें