कारोबार

कारोबार (3008)

नई दिल्ली। तेल की कीमतों में आये दिन इजाफा देखने को मिल रहा है। शुक्रवार को भी पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि हुई है। बता दें कि शुक्रवार को दिल्ली में पेट्रोल 10 पैसे की बढ़त के साथ 82.32 रुपये और डीजल 73.87 रुपये के स्तर पर रहा है। वहीं मुंबई में पेट्रोल 89.69 रुपये और डीजल 78.42 रुपये रहा है। इसी तरह चेन्नई में पेट्रोल 85.58 रुपये और डीजल 78.10 रुपये रहा है। कोलकता में पेट्रोल 84.16 रुपये और डीजल 75.72 रुपये प्रति लीटर रहा है।वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें और अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया के स्थिति के आधार पर ही सरकारी तेल विपणन कंपनियां पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में संशोधन करती हैं। आईओसी, भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (बीपीसीएल) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (एचपीसीएल) देश की तीन प्रमुख सरकारी तेल विपणन कंपनियां हैं।इस खबर में कुछ ऐसे देशों के बारे में बताएंगे जहां पेट्रोल की कीमतें भारत की तुलना में काफी कम है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पेट्रोल के इन दामों को ग्लोबल पेट्रोल प्राइस डॉट कॉम से लिए गए हैं।
जानिए किन देशों में सस्ता है पेट्रोल:
बहरीन- बहरीन पेट्रोल की कीमतें काफी कम हैं। इस देश में कीमत 37.88 रुपये प्रति लीटर है।
कजाकिस्तान- इस देश में पेट्रोल 34 रुपये 86 पैसे प्रति लीटर के भाव से मिल रहा है।
मिस्र- अपने खूबसूरत पिरामिड्स के लिए दुनियाभर में मशहूर एजिप्ट में पेट्रोल 30.91 रुपये प्रति लीटर है।
कुवैत- तेल के अकूत भंडार का जिक्र छिड़ता है तो कुवैत का नाम भी सामने आता है। यहां पर पेट्रोल की कीमत 24.76 रुपये प्रति लीटर है।
इक्वाडोर- इक्वाडोर में पेट्रोल की कीमत 24.47 रुपये प्रति लीटर के भाव से बिक रहा है।
ईरान- ईरान में पेट्रोल की कीमत 20.36 रुपये प्रति लीटर है।
नाइजीरिया- ये देश भले ही गरीबी से जूझ रही है लेकिन बावजूद इसके यहां पेट्रोल पर भारी भरकम टैक्स नहीं वसूला जाता है। बता दें कि यहां पेट्रोल की कीमत 29.41 रुपये प्रति लीटर है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था वर्ष 2022 तक दोगुनी होकर 5,000 अरब डॉलर की हो जाएगी। पीएम मोदी इंडिया इंटरनेशनल कन्वेंशन एंड एक्स्पो सेंटर के शिलान्यास के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा 'भारत की योजना 2022 तक अपनी जीडीपी बढ़ाकर पांच ट्रिलियन डॉलर (5,000 अरब डॉलर) करने की है जिसमें विनिर्माण और कृषि का योगदान एक-एक ट्रिलियन डॉलर (1,000 डॉलर) होगा।'प्रधानमंत्री ने कहा कि इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए राज्यों के बीच प्रतिस्पर्धा जारी है। पीएम ने कहा सरकार का प्रयास है कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में निर्यात का हिस्सा बढ़ाकर 40 फीसद किया जाए।इस दौरान मोदी ने सरकारी क्षेत्र के तीन बैंकों- देना बैंक, विजया बैंक तथा बैंक ऑफ बड़ौदा के विलय की घोषणा का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था 8 फीसद से अधिक दर से वृद्धि कर रही है। नौकरी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और खुदरा (रिटेल) क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर सृजित हो रहे हैं। उन्होंने (जीएसटी) के क्रियान्वयन के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदम का भी जिक्र किया।पीएम ने कहा कि सरकार के मेक इन इंडिया लाने के बाद से 80 फीसद मोबाइल फोन देश में बन रहे हैं। इससे विदेशी मुद्रा खर्च में तीन लाख करोड़ रुपये की बचत करने में मदद मिली है।

नई दिल्ली। अपने भविष्य को आर्थिक रूप से सुरक्षित करने के लिये लोग बचत और निवेश करते हैं। आमतौर पर लोग ऐसी स्कीम और प्लान का चयन करते हैं जो कम समय में निवेशित राशि पर ज्यादा रिटर्न दे सके। लेकिन आपको बता दें कि स्कीम और प्लान के अलावा भी आपकी ओर से की जाने वाली बचत आपकी आदतों पर भी निर्भर करती हैं।बता दें कि रोजमर्रा की कुछ आदतों में में सुधार करने से आप एक निश्चित समय में एक करोड़ रुपये तक की राशि जुटा सकते हैं। इसके लिए आपको अनुशासित रणनीति अपनानी होगी।बड़े शहरों में लोग वीकेंड पर अपने परिवार या दोस्तों के साथ फिल्म देखने या फिर घूमने-फिरने जाते हैं। अगर हफ्ते के 4 रविवार में से वो एक में ऐसा करने से बचें तो वो 20 वर्षों की अवधि में इस राशि को जमा कर सकते हैं।छोटी बचत से इतनी राशि को जुटाने के लिए आप इक्विटी म्युचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं। यहां पर चक्रवृद्धि ब्याज अहम भूमिका निभाता है। यहां पर इक्विटी म्युचुअल फंड्स में नियमित निवेश कर लंबी अवधि में अपने लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर 15 फीसद के रिटर्न और 20 वर्ष की अवधि में आप ऐसा कर सकते हैं। हालांकि म्युचुअल फंड से मिलने वाला रिटर्न बाजार के उतार चढ़ाव पर निर्भर करता है, लेकिन लंबी अवधि में एसआईपी के जरिए किया गया निवेश अच्छा रहता है।
जानिए ऐसे ही पांच तरीके जिनके जरिए आप एक करोड़ का कॉर्पस जमा कर सकते हैं-
महीने के एक रविवार अपनी गाड़ी का न करें इस्तेमाल-अगर महीने के एक रविवार आप घर पर रहते हैं तो शरीर को आराम देने के साथ साथ आप बचत भी कर सकते हैं। जैसे मान लीजिए किसी एक रविवार को घूमने पर आप 1000 रुपये तक खर्च कर देते हैं। इस राशि को एसआईपी के जरिए म्युचुअल फंड में निवेश करने से आप 20 वर्षों में 15 लाख रुपये जमा कर सकते हैं।
किसी एक दिन अपनी गाड़ी ऑफिस ले जाने से बचें-किसी एक दिन पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करने की कोशिश करें। गाड़ी के पेट्रोल पर लगने वाली राशि को एसआईपी के जरिए इक्विटी म्युचुअल फंड्स में निवेश कर सकते हैं। यह लंबी अवधि में आपको कॉर्पस जमा करने में मददगार साबित होगा।
महीने में एक दिन बाहर फिल्म देखने से बचें-आप जैसे फिल्में देखते हैं उसी तरह देखते रहें, लेकिन उसकी आवृत्ति को महीने में एक बार कम कर दें। चार सदस्यों का परिवार किसी एक फिल्म पर करीब 1500 रुपये खर्च कर देता है। अगर आप इस राशि को इक्विटी फंड्स में निवेश करते हैं तो 20 वर्ष में 22 लाख रुपये जमा कर सकते हैं।
महीने में एक बार बाहर का खाना खाने से बचें-एक मध्य वर्गीय परिवार लंच या डिनर पर करीब 1500 रुपये तक खर्च कर देता है। यहां पर भी अगर आप एक बार बाहर का खाना खाने से बचेंगे और इस राशि को निवेश करेंगे तो वही 20 वर्षों में 22 लाख रुपये जमा कर सकते हैं।
बेवजह की खरीदारी से बचें-ऑनलाइन खरीदारी बेशक सस्ती होती है लेकिन मोबाइल पर घर बैठे खरीदारी के विकल्प से लोग बेवजह की चीजें भी खरीद लेते हैं। आकर्षक डिस्काउंट ऑफर्स के चक्कर में लोग एकदम से खरीद लेते हैं। वहीं, क्रेडिट कार्ड के चलते लोगों पैसों की परवाह नहीं करते हैं। अगर आप इस तरह की खरीदारी से बचते हैं तो महीने में 2000 रुपये तक की बचत कर सकते हैं। इस राशि के निवेश से 20 वर्षों में आप 30 लाख रुपये जमा कर सकते हैं।

नई दिल्ली। निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज अब 25 सितंबर से इकोनॉमी क्लास वाले यात्रियों को अपनी घरेलू उड़ानों के दौरान मुफ्त में खाना नहीं देगी। हालांकि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में इकोनॉमी क्लास के यात्रियों को पहले की ही तरह मुफ्त खाना मिलता रहेगा। कंपनी की ओर से यह नया बदलाव 25 सितंबर से खरीदे जाने वाले और 28 सितंबर के बाद की यात्रा तारीखों वाले टिकटों पर लागू होगा।जानकारी के मुताबिक भारी आर्थिक नुकसान से गुजर रही जेट एयरवेज अपनी लागत घटाने और राजस्व बढ़ाने में लगी है। कंपनी का यह कदम भी इससे प्रेरित बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार दो तिमाहियों में जेट एयरवेज को 2300 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है।एयरलाइन ने कहा है कि घरेलू सेक्टर के 'इकोनॉमी लाइट' और 'इकोनॉमी डील' कैटेगरी में यह व्यवस्था लागू की जाएगी। हालांकि, यात्रा के दौरान चाय और कॉफी समेत मुफ्त पेय पदार्थ मिलते रहेंगे। जेट एयरवेज ने दो साल पहले 'फेयर चॉयस' सर्विस शुरू की थी, जिसके जरिए कस्टमर्स अपनी यात्रा की जरूरतों के मुताबिक फेयर स्कीम चुन सकते हैं।जेट एयरवेज के वरिष्ठ उपाध्यक्ष राज शिवकुमार ने नए बदलावों पर कहा कि भारत की प्रमुख अंतरराष्ट्रीय एयरलाइन होने के नाते हम इन बदलावों को लेकर अनुकूल रवैया रखते हैं और अपनी सेवाओं को इस तरह की जरूरतों के अनुसार पेश कर रहे हैं।दूसरी ओर जेट एयरवेज के मुफ्त खाना नहीं देने के कदम को विस्तारा एयरलाइंस से प्रेरित बताया जा रहा है। दरअसल विस्तारा ने एक महीने पहले इकोनॉमी क्लास के यात्रियों को यात्रा के दौरान खाना खरीदने की बात कही थी।

नई दिल्ली। हिंदी भाषा में ट्वीट करना भारत में तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। भारत एवं अमेरिका के शोधकर्ताओं की ओर से किए गए एक अध्ययन के मुताबिक यह जानकारी सामने आई है।मिशिगन विश्वविद्यालय के जॉयजीत पाल और लिज बोजार्थ की ओर से किए गए अध्ययन में यह बात सामने आई है कि भारत में सोशल मीडिया लैंडस्केप 2014 से विकसित होना शुरु हुआ जब ट्विटर पर अधिकांश ट्वीट्स अंग्रेजी भाषी शहरी आबादी से किए जाते थे। इस अध्ययन में पाया गया है कि हिंदी भाषा में किए जाने वाले ट्वीट तेजी से शेयर किए जाते हैं और भारत में ज्यादा लोकप्रिय हैं।इस पूरे रुझान में आए बदलाव का प्रमुख कारक यह है कि औसत रुप से भारतीय राजनेताओं की ओर से बीते साल किए हर 15 ट्वीट में से 11 हिंदी भाषा के रहे हैं। इस अध्ययन में यह भी कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सोशल मीडिया फॉलोइंग के पैमाने पर सबसे आगे है।यू-एम स्कूल ऑफ इन्फोर्मेशन के एक सहायक प्रोफेसर और अध्ययन के मुख्य लेखक पाल ने बताया, "सोशल मीडिया फॉलोइंग के पैमाने पर सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी सबसे आगे चल रही है क्योंकि उसकी केंद्र पर पकड़ है, वहीं राजनीतिक लाभ के लिए अन्य पार्टियां भी सोशल मीडिया की भूमिका को समझ रही हैं।" इस लेख में यह भी कहा गया कि ऑनलाइन फॉलोइंग के पैमाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबसे आगे हैं।

नई दिल्ली। जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) काउंसिल की 30वीं बैठक 28 सितंबर को होनी है। इस बैठक में कुछ वस्तुओं पर टैक्स की दरों को कम करने का प्रस्ताव रखा जा सकता है। इस बैठक में जीएसटी काउंसिल सीमेंट पर, एयर कंडीशनर पर और बड़े स्क्रीन वाले टीवी पर कर की दरों में बदलाव कर सकता है।जीएसटी काउंसिल अपनी जुलाई की बैठक में 100 से अधिक उत्पादों पर कर की दरों में संशोधन कर चुकी है जिसमें रेफ्रिजरेटर, छोटी स्क्रीन वाले कलर टीवी और वाशिंग मशीन पर कर की दरों में संशोधन कर चुका है। जबकि इस बैठक में एयर कंडीशनर और बड़ी स्क्रीन वाले टीवी को 28 फीसद के टैक्स ब्रैकेट में रखा गया था। सरकार ने उस वक्त कहा था कि जल्द ही सिर्फ सिन गुड्स को ही 28 फीसद की टैक्स ब्रैकेट में रखा जाएगा। हालांकि दरों को तर्कसंगत किया जाना काफी हद तक राजस्व पर निर्भर करेगा।यह संभावना भी तेज है कि केरल के वित्त मंत्री थॉमस इसाक केरल बाढ़ के बाद राहत उपायों को वित्त पोषित करने के लिए सेस लगाने के अपने विचार को रखें। 23 अगस्त को, थॉमस इसाक ने कहा था कि वह राहत प्रयासों के वित्तपोषण के लिए जीएसटी काउंसिल से सेस लगाए जाने के लिए संपर्क करेंगे।गौरतलब है कि यह बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली जो कि अपने ऑपरेशन के बाद पहली बार काउंसिल की बैठक में हिस्सा लेंगे। इसके पहले वो ऑपरेशन के बाद छुट्टी पर थे और उन्होंने अगस्त महीने में ही ऑफिस ज्वाइन किया था

नई दिल्ली। देश के दूर-दराज के इलाकों में रहने वाले ग्राहकों से जुड़ने के लिए एमेजॉन इंडिया ने 'अपनी दुकान' नाम से एक कैंपेन शुरू किया है, जिसके बाद कंपनी कॉपीराइट के मुद्दों पर घिर गई है। पुणे स्थित एक कारोबारी रवि जैन का कहना है कि 'अपनी दुकान' थीम उनकी थी जिसे एमेजॉन ने चुराया है। जैन का कहना है कि 2007 में उन्होंने apnidukaan.com नाम से डोमेन पंजीकृत…
नई दिल्ली। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और नोमुरा होल्डिंग्स इंक की मानें तो भारत के पास रुपये की स्थिति को संभालने के लिए पर्याप्त मात्रा में विदेशी मुद्रा भंडार है। सरकार के तमाम प्रयासों से बावजूद बीते दिन रुपये ने 72.99 का रिकॉर्ड लो स्तर छू लिया। दिन के 4 बजे रुपया डॉलर के मुकाबले 72.53 पर कारोबार करता देखा गया।एसबीआई ने अनुमान लगाया है कि रुपये को थामने के…
नई दिल्ली। बैंक ऑफ बड़ौदा, विजया बैंक और देना बैंक के विलय से बनाने वाले नये बैंक का संचालन एक अप्रैल 2019 से शुरू कर दिया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट में यह बात कही गई है।जानकारी के मुताबिक, अभी तीनों बैंक विलय प्रक्रिया को निपटाएंगे और नये वित्त वर्ष से काम करना शुरू कर देंगे। इस महीने बैंकों के निदेशक मंडलों की बैठक होने वाली है जिसमें एकीकरण की योजना बनाई…
नई दिल्ली। विमानन कंपनी विस्तारा ने टिकटों की फ्लैश बिक्री शुरू कर दी है। एयरलाइन ने इसका नाम 'फ्लाई विद द बेस्ट’ सेल दिया है। टिकटों की बिक्री बुधवार दोपहर 1 बजे से रात 11 बजकर 59 मिनट तक चलेगी। कंपनी की ओर से टिकटों पर मिलने वाली छूट 75 फीसद तक की है। ऑफर के तहत यात्रा 27 सितंबर, 2018 से 10 अप्रैल, 2019 के बीच की जा सकती…
Page 1 of 215

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें