कारोबार

कारोबार (3133)


नई दिल्ली - रिलायंस इंडस्ट्री का शेयर आज (शुक्रवार) को 2 फीसद तक उछल गया। इस वजह से तेल से लेकर टेलिकॉम सेक्टर में काम करने वाली कंपनी ने मार्केट कैपिटलाइजेशन के मामले में टीसीएस को पछाड़कर नंबर वन का तमगा हासिल कर लिया।
शुक्रवार दोपहर बीएसई पर आरआईएल का मार्केट कैपिटलाइजेशन 7,14,573.46 करोड़ रुपए था, जबकि इसी वक्त दिग्गज आईटी फर्म टीसीएस का मार्केट कैप कम होकर 7,03,891,09 पर आ गया। यानी इन दोनों के मार्केट कैप में 11,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का अंतर आ गया।
आज दिन के कारोबार में आरआईएल का शेयर 1,096.10 पर खुला। इसके बाद इसने उछाल मारा और इसने 2.88 फीसद के उछाल के साथ 1,128.50 का इंट्रा डे हाई स्तर छू लिया। कंपनी का स्टॉक दिन के 3 बजकर 6 मिनट पर 2.74 फीसद की तेजी के साथ 1,127 के स्तर कारोबार करता देखा गया।
वहीं टीसीएस का स्टॉक आज 1,899.90 के स्तर के साथ खुला और इसने इंट्रा डे का हाई स्तर खुला। इसके बाद फिर इसने 1,898.55 और 1,868 का स्तर छू लिया। दिन के डेढ़ बजे कंपनी का शेयर 0.6 फीसद के उछाल (पिछली क्लोजिंग से) 1,876.75 पर कारोबार कर रहा था। दोपहर तीन बजकर 9 मिनट पर 0.66 फीसद की तेजी के साथ 1877 पर कारोबार कर रहा था।
गौरतलब है कि इसी वर्ष 31 अगस्त को टीसीएस ने देश की सबसे मूल्यवान कंपनी का तमगा हासिल किया था। इसने आरआईएल को पछाड़ते हुए यह रुतबा फिर से कायम किया था।


नई दिल्ली - फ्लिपकार्ट ग्रुप की फैशन यूनिट मिंत्रा-जबोंग के प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि वो इस यूनिट में संचालन का नेतृत्व जारी रखेंगे। गौरतलब है कि इससे पहले बिन्नी बंसल की विदाई के बाद कंपनी में रैकिंग में काफी बदलाव हुए हैं।
मिंत्रा-जबोंग के सीईओ अनंत नारायणन ने बताया, "मैं मिंत्रा को लेकर बहुत उत्साहित हूं।" इससे पहले मीडिया में इस तरह की रिपोर्ट्स सामने आ रही थी कि वो अपने पद से इस्तीफा दे सकते हैं क्योंकि बिन्नी बंसल के इस्तीफे के बाद नारायणन की रिपोर्टिंग कल्याण कृष्णमूर्ति के पास चली गई है, जो कि फ्लिपकार्ट के सीईओ और तात्कालिक रुप से नए ग्रुप हैड बन गए हैं।
इससे पहले फ्लिपकार्ट ग्रुप के प्रमुख बिन्नी बंसल ने दुर्व्यवहार के आरोपों में चल रही जांच के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इस पर वॉलमार्ट का कहना था कि उन पर गंभीर किस्म के निजी दुर्व्यवहार का मामला चल रहा है। इससे पहले दो सूत्रों के जरिए यह जानकारी सामने आई थी कि दुर्व्यहार के ये आरोप यौन उत्पीड़न के आरोप थे।
गौरतलब है कि वॉलमार्ट से हुई 16 बिलियन डॉलर की डील के बाद से ही बिन्नी बंसल कंपनी के ग्रुप सीईओ के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे। वही सचिन बंसल जो कि कंपनी के सह संस्थापक थे वो डील के तहत वॉलमार्ट को अपनी पूरी 5.5 फीसद की हिस्सेदारी बेच चुके थे।


नई दिल्ली - प्राइवेट सेक्टर के येस बैंक के गैर-कार्यकारी चेयरमैन अशोक चावला ने तत्काल प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। यह जानकारी खुद बैंक ने दी है। सूत्रों के मुताबिक, चावला ने खुद पद छोड़ने की पेशकश की क्योंकि निदेशक मंडल में उनके बने रहने पर लगातार विवाद उत्पन्न हो रहा था क्योंकि एयरसेल-मैक्सिस मामले में सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) की चार्जशीट में उनका नाम सामने आया था।
बैंक ने अपनी नियामकीय फाइलिंग में बताया, "येस बैंक यह घोषणा करता है कि अशोक चावला जो कि नॉन एग्जीक्यूटिव इंडिपेंडेंट पार्ट टाइम चेयरमैन हैं ने बैंक बोर्ड के समक्ष तत्काल प्रभाव से अपने इस्तीफे की इच्छा जताई थी। उन्होंने यह उल्लेख किया था कि बैंक को एक ऐसे चेयरमैन की जरूरत है जो कि ज्यादा समय और ध्यान दे सके।"
बैंक ने बताया कि वो रिजर्व बैंक की मंजूरी के बाद नए चेयरमैन की नियुक्ति की घोषणा करेगा। सूत्रों के मुताबिक, जुलाई में प्रमुख जांच एजेंसी सीबीआई की ओर से एयरसेल-मैक्सिस मामले में दायर आरोपपत्र में नामित होने के बाद येस बैंक के बोर्ड से शेयरहोल्डर्स, स्टेकहोल्डर्स और नियामक सेबी की ओर से चावला के येस बैंक के बोर्ड में बने रहने को लेकर लगातार सवाल पूछे जा रहे थे।
गौरतलब है कि पूर्व वित्त सचिव चावला भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग के चेयरमैन के तौर पर भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वहीं चावला के अलावा एक अन्य स्वतंत्र निदेशक वसंत गुजराती ने अपनी निजी कारणों से अपना इस्तीफा दे दिया है।

 


नई दिल्ली - घाटे में चल रही राष्ट्रीय विमानवाहक कंपनी एयर इंडिया ने देशभर में फैंली अपनी 70 से अधिक आवासीय और वाणिज्यिक संपत्तियों की बिक्री कर 700 से 800 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई है। यह जानकारी एयरलाइन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने गुरुवार को दी है।
जानकारी के लिए आपको बता दें कि यह ताजा बोली वर्ष 2012 में तत्कालीन यूपीए सरकार की ओर से अनुमोदित एयरलाइन की रियल एस्टेट संपत्ति मुद्रीकरण योजना का हिस्सा है। योजना के मुताबिक एयर इंडिया को अप्रैल 2014 और मार्च 2021 के बीच 5000 करोड़ रुपये का फंड इकट्ठा करना है जिसमें वित्त वर्ष 2013 से 500 करोड़ रुपये का सालाना लक्ष्य रखा गया है। एयर इंडिया की जो संपत्ति अखिल भारतीय स्तर पर 16 शहरों में फैली है उसे सरकारी कंपनी एमएसटीसी की मदद से ई-नीलामी के जरिए बेचा जाएगा।
अधिकारी ने बताया, "हमें इन 70 से अधिक संपत्तियों की ई-नीलामी के जरिए 700 से 800 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है, जिनमें स्थानीय और वाणिज्यिक दोनों संपत्तियां शामिल हैं। इनमें से कुछ संपत्तियां ऐसी भी हैं जिन्हें पहले भी नीलामी में रखा जा चुका है लेकिन उन्हें उस वक्त कोई अच्छा खरीदार नहीं मिला था।" एयर इंडिया ने पिछले महीने मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरू,पुणे और अमृतसर में स्थित अपनी 14 संपत्तियों को बिक्री के लिए रखा था।
गौरतलब है कि भारी संचित घाटे के साथ साथ एयर इंडिया पर फिलहाल 55,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसके ऑडिटेड अकाउंट के मुताबिक वित्त वर्ष 2016-17 तक एयरलाइन्स का कुल घाटा 47,145.62 करोड़ रुपये रहा था।


नई दिल्ली - भारतीय रिजर्व बैंक के निदेशक मंडल की 19 नवंबर की बैठक प्रस्तावित है। लेकिन इससे पहले ही सरकार और केंद्रीय बैंक कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों पर सहमति बनाने का प्रयास कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक यह प्रयास दोनों ओर से हो रहे हैं।
सूत्रों ने बताया कि कमजोर बैंकों पर लागू त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) के अंकुशों में ढील देने और सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्योगों (एमएसएमई) क्षेत्र के लिए कर्ज के नियमों को सरल बनाने के बारे में सहमति से कोई रास्ता खोजने के प्रयास हो रहे हैं। उन्होंने कहा, बोर्ड की इस बैठक में न सही पीसीए रूपरेखा पर कोई सहमति अगले कुछ सप्ताह में जरूर बन जाएगी। वित्त मंत्रालय लगातार इसके लिए दबाव बना रहा है। यदि पीसीए नियमों को उदार कर दिया जाता है, तो कई बैंक इस वित्त वर्ष के अंत तक पीसीए के अंकुश से बाहर आ जाएंगे।
सूत्रों ने कहा कि रिजर्व बैंक एमएसएमई क्षेत्र के लिए ऋण के नियमों को उदार करने पर सहमत हो सकता है। इसमें सख्त रेटिंग मानदंड भी शामिल है, जिससे इस क्षेत्र को ऋण का प्रवाह बढ़ सके। उम्मीद है कि केंद्रीय बैंक एमएसएमई तथा गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) के लिए विशेष व्यवस्था पर भी विचार कर सकता है। ये क्षेत्र नकदी संकट से जूझ रहे हैं।
सरकार का मानना है कि 12 करोड़ लोगों को रोजगार देने वाला एमएसएमई क्षेत्र अर्थव्यवस्था के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यह क्षेत्र नोटबंदी तथा माल एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के बाद काफी प्रभावित हुआ है और इसे समर्थन की जरूरत है। हालांकि, केंद्रीय बैंक एमएसएमई तथा एनबीएफसी क्षेत्रों के लिए विशेष व्यवस्था के पक्ष में नहीं है, क्योंकि वह इन्हें संवेदनशील क्षेत्र मानता है।
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पिछले सप्ताह कहा था कि एनपीए को कम से कम करने की जरूरत है। ताकि बैंकिंग प्रणाली की मजबूती को कायम रखा जा सके जिससे यह अर्थव्यवस्था की वृद्धि में मदद दे सके।
पीसीए के शिकंजे में 11 बैंक
सार्वजनिक क्षेत्र के 21 बैंकों में से 11 पर आरबीआई ने पीसीए का शिकंजा कस रखा है। इसके तहत उन्हें कर्ज स्वीकृत करने पर कई तरह की रोक लगी हुई है। ये बैंक हैं इलाहाबाद बैंक, यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, कॉरपोरेशन बैंक, आईडीबीआई बैंक, यूको बैंक, बैंक आफ इंडिया, सेंट्रल बैंक आफ इंडिया, इंडियन ओवरसीज बैंक, ओरियंटल बैंक आफ कॉमर्स, देना बैंक और बैंक आफ महाराष्ट्र।
पीसीए की जरूरत क्यों पड़ी
पीसीए व्यवस्था तब लागू होती है, जब वाणिज्य बैंक आरबीआई द्वारा सुरक्षित बैंकिंग कारोबार के बारे में तय तीन प्रमुख कसौटियों में से किसी एक भर भी विफल हो जाते हैं। ये तीन नियामकीय व्यवस्थाएं हैं, पूंजी से जोखिम भारांश संपत्ति अनुपात, शुद्ध गैर निष्पादित आस्तियां, संपत्तियों पर प्रतिफल (आरओए)।

 


नई दिल्ली - अब बीएमडब्ल्यू की कार खरीदना और भी आसान हो गया है। बीएमडब्ल्यू ने भारत में अपने ऑनलाइन सेल्स चैनल को शुरू किया है, जो आपको घर बैठे कार कम्पेयर, कस्टमाइज़ व खरीदने की सुविधा देता है। ग्राहक अपनी पसंदीदा बीएमडब्ल्यू कार का स्टॉक देखने और डीलरशिप का चयन करने में भी इस ऑनलाइन प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा टेस्ट ड्राइव बुकिंग भी ऑनलाइन कर सकते हैं। वहीं जरूरत पड़ने पर प्रोडक्ट, कीमत और लोन विकल्पों से जुड़ी जानकारी चैट या मैसेजिंग के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।
cardekho.com के मुताबिक, बीएमडब्ल्यू द्वारा शुरू किए इस ऑनलाइन सेल्स पोर्टल में कई फायनेंस और ईएमआई के विकल्प मौजूद हैं। इच्छुक ग्राहक अपनी पसंद की बीएमडब्ल्यू कार को 2 लाख रुपए के टोकन अमाउंट के साथ बुक करवा सकते हैं। बाकी राशि का भुगतान ग्राहक डिलीवरी के समय ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी माध्यम से कर सकता है।
आइये जानें बीएमडब्ल्यू कार को ऑनलाइन बुक करने की प्रक्रिया
Shop.bmw.in वेबसाइट पर लोग-इन करें
- पसंदीदा कार का स्टॉक देखें और वेरिएंट का चयन करें
- डीलर का चयन करें और ऑनलाइन चैट के जरिये कार और फाइनेंस/ईएमआई से जुडी जानकारी हासिल करें
- 2 लाख रुपए के टोकन अमाउंट का ऑनलाइन भुगतान कर अपनी पसंदीदा कार बुक करें
रियल-टाइम स्टेटस जांचे
- बाकी राशि का भुगतान कार की डिलीवरी के वक्त ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी माध्यम से करें
- अन्य औपचारिकताओं के संबंध में डीलर से संपर्क करें

नई दिल्ली - फ्लिपकार्ट समूह के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) बिन्नी बंसल ने मंगलवार को गंभीर व्यक्तिगत कदाचार के आरोपों के चलते अपने पद से इस्तीफा दे दिया। फ्लिपकार्ट की नई पैतृक कंपनी वॉलमार्ट ने यह जानकारी दी। वॉलमार्ट ने बयान में कहा कि बंसल ने हालांकि कड़े शब्दों में इन आरोपों का खंडन किया है। उल्लेखनीय है कि बिन्नी बंसल और सचिन बंसल ने संयुक्त रूप से देश की…
नई दिल्ली - सार्वजनिक क्षेत्र के आईडीबीआई बैंक को वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में 3602 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। बैड लोन में अचानक तेजी आने के चलते बैंक को सितंबर तिमाही (2018-19) के दौरान इस घाटे का सामना करना पड़ा है। बैंक की बीते वर्ष की समान समीक्षाधीन अवधि के दौरान 197.84 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।वहीं समीक्षाधीन तिमाही में बैंक की कुल आय भी…
नई दिल्ली - निजी क्षेत्र के इंडसइंड बैंक ने मंगलवार को जानकारी दी कि उसने आईएलएंडएफएस सिक्योरिटीज सर्विसेज लिमिटेड के अधिग्रहण अनुबंध को अनुबंध शर्तों को पूरा न किए जाने के कारण रद्द कर दिया है। गौरतलब है कि इस साल ही जून के महीने में इंडसइंड बैंक ने इस अधिग्रहण के लिये आईएलएंडएफएस के साथ करार किया था। गौरतलब है कि निजी क्षेत्र के इंडसइंड बैंक का आईएलऐंडएफएस समूह…
नई दिल्ली - देश के प्रमुख सरकारी बैंकों में शुमार इलाहाबाद बैंक को वित्त वर्ष 2019 की दूसरी तिमाही में घाटा हुआ है। सितंबर तिमाही के दौरान बैंक को 1,822.71 करोड़ (लगभग 1823 करोड़ रुपये) रुपये का घाटा हुआ है। बैड लोन पर उच्च प्रावधानों के चलते बैंक को यह घाटा सहन करना पड़ा है। गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में इलाहाबाद बैंक को 70.2 करोड़…
Page 1 of 224

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें