नई दिल्ली। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने शुक्रवार को अपना पहली तिमाही (FY21 Q1) का परिणाम जारी किया है। बैंक के शुद्ध लाभ में 30 जून को पूरी हुई तिमाही में सालाना आधार पर 81 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है। बैंक का इस तिमही में शुद्ध लाभ 4,189.4 करोड़ रुपये रहा है। बैंक ने पिछले साल समान तिमाही में 2312.20 करोड़ रुपये शुद्ध लाभ दर्ज किया था।बैंक की एसेट क्वालिटी में भी जून तिमाही में सुधार हुआ है। बैंक का कुल एनपीए इस तिमाही में घटकर 1,29,660.69 करोड़ रुपये पर आ गया है। यह इससे पिछली तिमाही में 1,49,091.85 करोड़ रुपये था। एसबीआई का शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर शुक्रवार दोपहर 2 बजकर 28 मिनट पर 4.34 फीसद या 8.10 रुपये की बढ़त के साथ 194.65 पर कारोबार कर रहा था।जून तिमाही के आखिर में बैंक की कुल लोन बुक का 9.5 फीसद मारैटोरियम था, जबकि मार्च तिमाही में यह 23 फीसद था। एसबीआई ने इस साल जून में एसबाई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी में 2.1 फीसद इक्विटी हिस्सेदारी की बिक्री की थी। इसके जरिए एसबीआई ने 1,539.73 करोड़ रुपये जुटाए। इस रकम ने एसबीआई के शुद्ध लाभ को आगे बढ़ाने में मदद की है।जून तिमाही में एसबीआई की कुल ब्याज आय या कमाए गए ब्याज और खर्च किये गए ब्याज का अंतर 16 फीसद बढ़कर 26,641.56 करोड़ रुपये रहा है। पिछले साल की समान तिमाही मे यह 22,938.79 करोड़ रुपये रहा था।एसबीआई का ऑपरेटिंग प्रोफिट जून तिमाही में बढ़कर 18,061 करोड़ रुपये रहा। यह पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 13,246 करोड़ रुपये रहा था। इस तरह इसमें सालाना आधार पर 36.35 फीसद की वृद्धि हुई है। वहीं, बैंक का घरेलू शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) जून तिमाही में सुधार के साथ 3.24 फीसद रहा है। इसमें सालाना आधार पर 0.23 फीसद की बढ़ोत्तरी हुई है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें