नई दिल्ली। भारत सरकार ने एक जुलाई, 2020 से फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड्स 2020 (टैक्सेबल) स्कीम लाने की घोषणा की है। इस स्कीम को संक्षेप में FRSB 2020 (T) नाम दिया गया है। सरकार ने 7.75 परसेंट टैक्सेबल सेविंग बॉन्ड्स की जगह पर इस स्कीम को पेश किया है, जिसे 28 मई को वापस ले लिया गया था। अब सरकार ने सात साल की अवधि के बॉन्ड की पेशकश की है, जो एक जुलाई को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगा। इस बॉन्ड में कोई भी भारतीय नागरिक एवं अविभाजित हिन्दू परिवार निवेश कर सकता है। इस स्कीम में कोई भी व्यक्ति न्यूनतम 1,000 रुपये का निवेश कर सकता है। इस स्कीम में इंवेस्टमेंट के लिए कोई अधिकतम सीमा सरकार की ओर से तय नहीं की गई है।
इस स्कीम में कैसे कर सकते हैं निवेश;-इस स्कीम में केवल भारतीय नागरिक एवं हिन्दू अविभाजित परिवार ही निवेश कर सकते हैं। इस स्कीम के बॉन्ड स्कीम को सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और एक्सिस बैंक, आईडीबीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और आईसीआईसीआई बैंक जैसे प्राइवेट सेक्टर बैंकों से खरीदा जा सकता है।
कितना मिलेगा ब्याज:-टैक्स और इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट बलवंत जैन ने बताया कि सरकार ने इस योजना की ब्याज दर को नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट + 0.35 फीसद से लिंक किया है। इस स्कीम के तहत ब्याज का निर्धारण हर छह माह पर होगा। इस तरह हर साल एक जनवरी और एक जुलाई को इस बॉन्ड पर मिलने वाली ब्याज दर का निर्धारण होगा। अप्रैल-जून तिमाही के लिए सरकार ने एनएससी पर ब्याज की दर 6.80 फीसद तय की है तो इसका मतलब है कि एक जुलाई, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 के बीच बॉन्ड स्कीम में निवेश करने पर आपको 7.15 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। इस स्कीम के तहत सरकार छह माह पर आपको ब्याज का भुगतान करेगी।Transcend Consulting के डायरेक्टर (वेल्थ मैनेजमेंट) कार्तिक झावेरी ने इस स्कीम को काफी अच्छा और आकर्षक स्कीम करार दिया। उन्होंने कहा कि इस स्कीम से लोगों के सामने निवेश का एक नया विकल्प उभर कर आया है। उन्होंने कहा कि यह सरकार की ओर से जारी बॉन्ड है, तो इसका मतलब है कि आपके द्वारा किए जाने वाला निवेश बिल्कुल सुरक्षित है। दूसरी सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें निवेश की कोई सीमा तय नहीं की गई है तो आप बड़ी राशि के निवेश के साथ अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। जैन ने भी कुछ इसी तरह की बात कही। उन्होंने कहा कि पीपीएफ जैसी योजना में हर साल 1.5 लाख रुपये से अधिक की राशि का निवेश नहीं किया जा सकता है। विभिन्न अन्य सेविंग स्कीम्स में भी निवेश की सीमा तय है। दूसरी तरफ एफडी पर ब्याज दर काफी नीचे आए हैं, ऐसे में सरकार का यह फ्लोटिंग बॉन्ड स्कीम निवेश के लिहाज से काफी आकर्षक नजर आ रहा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें