नई दिल्ली। कर विभाग ने शुक्रवार को बताया कि उसने 16.84 लाख करदाताओं को अप्रैल से अब तक 26,242 करोड़ रुपये का आयकर रिफंड जारी कर दिया है। कोरोना वायरस संकट के बीच लोगों और फर्मों को तत्काल लिक्विडिटी उपलब्ध कराने के लिए रिफंड की प्रक्रिया में तेजी लाकर कर विभाग ने कम समय में यह रिफंड जारी किया है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने बताया कि एक अप्रैल से 21 मई के बीच 16,84,298 करदाताओं को आयकर रिफंड मिला है।सीबीडीटी ने एक बयान जारी कर कहा, '14,632 करोड़ रुपये का आयकर रिफंड 15,81,906 करदाताओं को और 11,610 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट टैक्स रिफंड 1,02,392 निर्धारितों को मिला है।' वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पिछले सप्ताह आत्मनिर्भर भारत पैकेज के अंतर्गत की गई घोषणाओं के बाद से रिफंड की प्रक्रिया को और तेज किया गया है।वित्त मंत्री ने कहा था, 'हम रिफंड में देरी नहीं कर रहे हैं। हम इसे लेकर बैठे नहीं हैं। इसे हम आपको तत्काल देंगे, क्योंकि लिक्विडिटी की अभी जरूरत है।' सीबीडीटी ने बताया कि उसने 16 मई को पूरे हुए पिछले सप्ताह में 37,531 निर्धारितियों को कुल 2,050.61 करोड़ रुपये की राशि जारी की थी। साथ ही 867.62 करोड़ रुपये की राशि 2,878 कॉरपोरेट टैक्स निर्धारितियों को जारी की है।सीबीडीटी ने कहा, '21 मई को पूरे हुए सप्ताह में अर्थात 17 से 21 मई के बीच अन्य 1,22,764 निर्धारितियों को 2,672.97 करोड़ रुपये का रिफंड किया गया है। इसके साथ ही ट्रस्ट, एमएसएमई, स्वामित्व, भागीदारी सहित 33,774 कॉरपोरेट निर्धारितियों को रिफंड के रूप में 6714.34 करोड़ रुपये जारी किये गए हैं। इस तरह कुल 9387.31 करोड़ रुपये 1,56,538 टैक्स निर्धारितियों को रिफंड के रूप में जारी किये गए हैं।'

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें