नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए बुधवार से पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन शुरू हो गया है। इस दौरान आवश्यक सुविधाओं को छोड़कर सभी औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियों सहित सब कुछ बंद रहेगा। इस लॉकडाउन का असर रियल एस्टेट पर भी बुरी तरह पड़ा है। हाउसिंग सेल्स के लगभग स्थिर हो जाने के कारण रियल एस्टेट सेक्टर बुरी तरह प्रभावित है। इसने बिल्डरों के केश फ्लो को भी प्रभावित किया है। प्रोपर्टी डेवलपर्स एंड कंसल्टेंट्स के अनुसार, इससे वे बैंक का लोन चुकाने में डिफॉल्ट होने की तरफ आगे बढ़ रहे हैं।मार्केट विश्लेषकों को यह भी डर है कि मौजूदा ग्राहक डेवलपर्स को उनकी इंस्टॉलमेंट चुकाने में देरी कर सकते हैं। इससे वे बैंक लोन पर प्रिंसिपल और ब्याज के भुगतान में डिफॉल्ट होने की तरफ आगे बढ़ेंगे। मार्केट एक्सपर्ट्स का कहना है कि सेकेंडरी या री-सेल मार्केट में भी कीमतों गिर सकती हैं। इस नुकसान को कम करने के लिए डेवलपर्स और ब्रोकर्स घर खरीदारों तक पहुंचने के लिए डिजिटल मार्केटिंग को अपना रहे हैं।क्रेडाई के प्रेसिडेंट सतीश मागर ने बताया कि लॉकडाउन के कारण से ब्रिक्री पर बहुत जबरदस्त असर पड़ेगा और नए लॉन्चेज में भी देरी हो जाएगी। उन्होंने कहा, 'ऐसा हो सकता है कि कई ग्राहक इस कठिन आर्थिक स्थिति के चलते अपनी किश्त चुकाने में डिफॉल्ट हो जाएं। इससे उन डेवलपर्स पर नकदी का संकट खड़ा हो जाएगा और वे अपने लोन्स नहीं चुका पाएंगे।'वहीं, NAREDCO के प्रेसिडेंट निरंजन हीरानंदानी ने भी कहा है कि ओवरऑल बिक्री की संख्या गिर गई है। उन्होंने कहा, 'इस लॉकडाउन ने सेल्स और मार्केटिंग गतिविधियों और पेमेंट्स के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म के मौके खोल दिये हैं।'उधर बेंगलुरु बेस्ड Puravankara के एमडी आशिष आर पी ने कहा, 'इस समय किसी भी प्रोपर्टी का रजिस्ट्रेशन नहीं हो रहा है और सारे नए प्रोजेक्ट्स आगे खिसक गए हैं।' उन्होंने कहा कि सभी कंस्ट्रक्शन साइट्स लॉकडाउन के दायरे में हैं।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें