नई दिल्ली। राज्यसभा में आज मंगलवार को बताया गया कि पिछले 11 सालों में साल 2008-09 से अब तक बैंकों और चुनिंदा वित्तीय संस्थानों में धोखाधड़ी के 44,016 मामले सामने आए। धोखाधड़ी के इन मामलों में करीब 1,85,624 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है। जानकारी में सामने आया कि साल 2016-17 में ही 25,883.99 करोड़ रुपये के कुल 3,927 मामले सामने आए। बताया गया कि यह आंकड़ा 11 सालों में सबसे अधिक था। यह जानकारी वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर द्वारा राज्यसभा में प्रस्तुत किये गए एक लिखित जवाब से सामने आई है। इसके अगले साल यानी साल 2017-18 में धोखाधड़ी के मामले तो बढ़े, लेकिन धोखाधड़ी की राशि में कमी आई। इस साल धोखाधड़ी के कुल 4,228 मामले सामने आए जिनमें 9,866.23 करोड़ रुपये शामिल थे। इसके बाद साल 2018-19 में धोखाधड़ी के कुल 2,836 मामले सामने आए जिनमें कुल 6,734.60 करोड़ रुपये शामिल थे। वहीं साल 2012-13 में धोखाधड़ी के कुल 4,504 मामले सामने आए जिनमें कुल 24,819.36 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई। बीजेपी नेता आर के सिन्हा द्वारा किये गए एक सवाल के जवाब में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि सरकार द्वारा धोखाधड़ी की घटनाओं को कम करने के लिए व्यापक कदम उठाए गए हैं। ठाकुर ने राज्यसभा में उन कदमों का ब्योरा भी दिया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें