नई दिल्ली। अगर किसी के पास पैन कार्ड उपलब्ध नहीं हो, तो वह बैंक में आधार कार्ड का उपयोग कर 50 हजार रुपये से अधिक नकद का लेनदेन कर सकता है। राजस्व सचिव अजय भूषण पांडे ने शनिवार को कहा कि बैंक अपने सिस्टम को इस तरह अपग्रेड कर लें, कि जहां कहीं भी पैन कार्ड का उपयोग अनिवार्य हो वहां ग्राहक आधार कार्ड का उपयोग कर काम चला सकता है। वर्तमान में बैंक से 50 हजार रुपये से अधिक की नकद निकासी या जमा के लिए ग्राहक के पास पैन कार्ड होना जरूरी है।वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को बजट पेश करते हुए कहा था कि ग्राहक कई नियमों का आसानी से अनुपालन कर सकें, इसके लिए पैन कार्ड की जगह आधार कार्ड के उपयोग को भी स्वीकृति दी जाएगी। ऐसे में हर उस स्थान पर आधार कार्ड को विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा, जहां पैन कार्ड का उपयोग अनिवार्य है।पांडे ने कहा कि वर्तमान में 22 करोड़ पैन कार्ड ही आधार से जुड़े हैं, जबकि 120 करोड़ से ज्यादा लोगों के पास आधार कार्ड है। मान लीजिए कि किसी के पास पैन कार्ड नहीं है, लेकिन आधार कार्ड है। तो वह आधार कार्ड के जरिये ही पैन कार्ड बनवाएगा और फिर उसका उपयोग करेगा। ऐसे में पैन कार्ड की जगह सीधे आधार कार्ड का ही उपयोग करना ज्यादा सुविधाजनक है।यह पूछे जाने पर कि क्या पैन कार्ड धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा, पांडे का कहना था कि ऐसा नहीं होगा। इसकी वजह यह है कि बहुत से लोग कई जगहों पर आधार के बदले पैन कार्ड का उपयोग पसंद करते हैं, लेकिन बैंकों के सिस्टम को हम ऐसी जगह लाना चाहते हैं, जहां हर पैन कार्ड के बदले आधार कार्ड का विकल्प उपलब्ध हो।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें