नई दिल्ली। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) ने विभिन्न अवधि लिए के एमसीएलआर में 0.10 फीसद तक की कटौती की है। यह आज यानी मंगलवार से प्रभावी होगा। बैंक ने एक रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा, 'यह सूचना दी जाती है कि बैंक ने 11 जून से अलग-अलग अवधि के लिए एमसीएलआर में बदलाव किया है।' ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स के ग्राहकों के लिए यह अच्‍छी खबर है। बैंक के इस कदम से उनके होम लोन और ऑटो लोन की ईएमआई का बोझ कम हो जाएगा।एक महीने के कर्ज के लिए एमसीएलआर जो पहले 8.45 फीसद था उसमें 0.10 फीसद की कटौती करके 8.35 फीसद कर दिया गया है। वहीं छह महीने का एमसीएलआर जो पहले 8.70 फीसद था उसे 8.60 फीसद कर दिया गया है। इसी तरह एक साल की अवधि के लिए एमसीएलआर को 8.75 फीसद से कम करके 8.70 फीसद कर दिया गया है।बैंक ने ओवरनाईट एमसीएलआर और 3 महीने के एमसीएलआर में कोई बदलाव नहीं किया है। यह पहले की तरह क्रमशः 8.30 फीसद और 8.50 फीसद पर बरकरार है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की ये घोषणा भारतीय रिज़र्व बैंक की ओर से रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट की कटौती के बाद आया है। बता दें कि बैंक हर महीने एमसीएलआर का समीक्षा करता है।आपको बता दें कि रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में कटोती के बाद देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने भी एक नई पहल की है जिसका सीधा लाभ उसके होम लोन लेने वाले ग्राहकों को मिलेगा। 1 जुलाई से भारतीय स्‍टेट बैंक अपने होम लोन की ब्‍याज दरों को रेपो रेट से जोड़ेगा। इसका सीधा सा मतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक जब रेपो रेट में कोई परिवर्तन करेगा तो उसका सीधा लाभ एसबीआई के होम लोन ग्राहकों को मिलेगा। बैंक इस होम लोन प्रोडक्‍ट की पेशकश अलग से करेगा। SBI अपने शॉर्ट टर्म लोन और बड़ी जमा राशि की ब्‍याज दरों को पहले ही रेपो रेट से जोड़ चुका है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें