नई दिल्‍ली। कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन (EPFO) के पेरोल डेटा के अनुसार इस साल मार्च महीने में 8.14 लाख नौकरियों का सृजन हुआ है। यह आंकड़ा इसी साल फरवरी में 7.88 लाख नौकरियों के सृजन के मुकाबले कहीं अधिक है। ईपीएफओ के आंकड़ों के अनुसार वित्‍त वर्ष 2018-19 में लगभग 67.59 लाख नौकरियों का सृजन हुआ था। नौकरियों का यह आंकड़ा कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की योजनाओं में शामिल होने वाले सदस्यों की संख्या पर आधारित है।ईपीएफओ के अनुसार सितंबर 2017 से मार्च 2018 तक सात महीने की अवधि के दौरान कुल 15.52 नए नामांकन हुए थे। सेवानिवृत्ति फंड निकाय अप्रैल 2018 से पेरोल डेटा जारी कर रहा है, जो सितंबर 2017 के बाद की अवधि का है।ईपीएफओ के आंकड़ो के अनुसार, मार्च 2019 में 22 से 25 साल के आयु वर्ग में सबसे अधिक 2.25 लाख नौकरियां सृजित की गईं हैं। इसके बाद 18 से 21 साल के आयु वर्ग में 2.14 लाख नई नौकरियों का सृजन हुआ है। जनवरी 2019 में 8.31 लाख नए रोजगारों का सृजन हुआ था जिसके बाद पिछले महीने 8.94 लाख नए रोजगार सृजित होने का अनुमान है।वहीं अप्रैल 2019 में जारी पेरोल डेटा की मार्च 2018 के डेटा से तुलना करें तो एक बड़ा बदलाव देखने को मिंला है। इसके अनुसार 55,934 ईपीएफओ सदस्यों ने ईपीएफओ की सदस्यता छोड़ी है। इस पर ईपीएफओ ने कहा, ‘मार्च 2018 के आंकड़े मार्च के महीने में बड़ी संख्या में सदस्यों के बाहर निकलने के कारण नकारात्मक हैं, यह वित्त वर्ष के अंतिम महीने के कारण हो सकता है।‘

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें