नई दिल्ली। कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणापत्र में जीएसटी को पहले के मुकाबले ज्यादा आसान बनाने का वादा किया है। कांग्रेस का कहना है कि जीएसटी की एक तर्कसंगत दर होगी। हालांकि, यह दर क्या होगी इस पर पार्टी ने कोई स्पष्टता नहीं दी है। कांग्रेस ने यह वादा भी किया है कि पंचायतों और नगरपालिकाओं को भी जीएसटी राजस्व का एक हिस्सा दिया जाएगा।जानकारी के लिए आपको बता दें कि वर्तमान में जीएसटी की 5 दरें 0 फीसद, 5 फीसद, 12 फीसद, 18 फीसद और 28 फीसद हैं। सरकार जीएसटी काउंसिल की तमाम बैठकों के दौरान वस्तुओं एवं सेवाओं पर जीएसटी की दरों को तर्कसंगत बना चुकी है। सरकार जीएसटी कलेक्शन को 1 लाख करोड़ रुपये के पार रखने के लगातार प्रयास कर रही है।मार्च में एक लाख के पार हुआ जीएसटी कलेक्शन: मार्च महीने के दौरान जीएसटी कलेक्शन का आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपये के स्तर को पार कर गया। मार्च महीने में जीएसटी कलेक्शन 1.06 लाख करोड़ रुपये रहा है, जबकि पिछले महीने में यह आंकड़ा 97,247 करोड़ रुपये रहा था।मार्च में प्राप्त हुआ कुल जीएसटी रेवेन्यू 1,06,577 करोड़ रुपये रहा, जिसमें से सेंट्रल जीएसटी (सीजीएसटी) 20,353 करोड़ रुपये, स्टेट जीएसटी (एसजीएसटी) 27,520 करोड़ रुपये और इंटीग्रेटेड जीएसटी (आईजीएसटी) 50,418 करोड़ रुपये कहा। वहीं 8,286 करोड़ रुपये सेस के रुप में प्राप्त हुए हैं।गौरतलब है कि एक देश एक कर की अवधारणा पर 1 जुलाई 2017 में देशभर में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को लागू कर दिया गया था। जीएसटी के लागू होने के बाद तमाम स्थानीय और राज्य स्तर के करों को खत्म कर दिया गया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें