नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले जारी घोषणापत्र में राहुल गांधी ने शिक्षा को अहम मुद्दा बनाते हुए इस पर किए जाने वाले खर्च को दोगुना करने का वादा किया है। राहुल गांधी ने कहा कि अगर कांग्रेस सत्ता में आती है, वह 2023-24 तक शिक्षा क्षेत्र पर जीडीपी का 6 फीसद रकम खर्च करेंगे।भारत में अभी तक शिक्षा को मिलने वाले बजट को देखा जाए, तो राहुल गांधी ने सीधे-सीधे दोगुने आवंटन का वादा किया है और ऐसा करने वाले दुनिया के गिने चुने देश हैं, जो मानव विकास सूचकांक में शीर्ष पर मौजूद है।आर्थिक तरक्की के लिए सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर पर किया जाने वाला खर्च बेहद अहम होता है, जिसमें शिक्षा और स्वास्थ्य सबसे अहम क्षेत्र माने जाते हैं। समाजविज्ञानी भारत जैसे युवाओं की बड़ी आबादी वाले देश में शिक्षा पर किए जाने वाले खर्च को बढ़ाने की मांग दुहराते रहे हैं, जिसे राहुल गांधी ने अपनी पार्टी के घोषणापत्र में जगह दी है।
जीडीपी के मुकाबले शिक्षा पर खर्च: आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में राज्य और केंद्र सरकारें शिक्षा व्यवस्था पर जीडीपी का 3 फीसद भी खर्च नहीं करती हैं। 2012-13 में सरकार ने शिक्षा पर जीडीपी के मुकाबले 3.1 फीसद खर्च किया, जो बाद में वर्षों में बढ़ने की बजाए घटता ही चला गया।2013-14 में सरकार ने जीडीपी के मुकाबले 3.1 फीसद खर्च किया, जो 2014-15 में घटकर 2.8 फीसद हो गया। इसके बाद 2015-16 में यह और कम होकर 2.4 फीसद हो गया। हालांकि, इसके बाद शिक्षा आवंटन में इजाफे की शुरुआत हुई और 2016-17 के बजट में इसे बढ़ाकर 2.6 फीसद कर दिया गया। 2017-18 में (संशोधित अनुमान) यह 2.7 फीसद रहा है।पिछले तीन वित्त वर्षों में हुए लगातार इजाफे के बाद भी यह तीन फीसद से नीचे के स्तर पर बना हुआ है।
अंतरिम बजट 2019-20: वित्त वर्ष 2019-20 के लिए अंतरिम बजट को पेश करते हुए सरकार ने शिक्षा बजट में 10 फीसद का इजाफा किया है। केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष के लिए शिक्षा के मद में 93,847.64 करोड़ का आवंटन किया है। इस रकम में 37,461.01 करोड़ रुपये का आवंटन जहां ऊच्च शिक्षा के लिए किया गया है, वहीं स्कूली शिक्षा के लिए 56,386.63 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।
किन देशों में होता है 6% खर्च: यूनेस्को की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में वैसे देशों की संख्या बेहद कम है, जो शिक्षा पर अपनी कुल जीडीपी का 6 फीसद या उससे अधिक खर्च करते हैं।2017 में भारत के पड़ोसी देश भूटान में शिक्षा पर जीडीपी का 7.05 फीसद खर्च किया गया। किर्गिस्तान में भी 2017 में शिक्षा पर जीडीपी का 7.21 फीसद हिस्सा खर्च किया गया। 2017 में दक्षिण अफ्रीका ने अपनी कुल जीडीपी का 6.13 फीसद हिस्सा खर्च किया।दुनिया के विकसित देशों की बात करें तो 2016 में ब्रिटेन ने शिक्षा पर अपनी जीडीपी पर 5 फीसद से अधिक हिस्सा खर्च किया। वहीं, मानव विकास सूचकांक में अग्रणी रहने वाले देश नॉर्वे ने (2015 के आंकड़ों के मुताबिक) शिक्षा पर अपनी जीडीपी का 7.15 फीसद हिस्सा खर्च किया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें