नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले रुपये पर निवेशकों का दांव और अधिक मजबूत हुआ है। रॉयटर्स के पोल के मुताबिक भारतीय करेंसी को लेकर निवेशकों का रुख बुलिश बना हुआ है।वहीं अर्थव्यवस्था में आ रही सुस्ती और अमेरिका-चीन के बीच जारी व्यापार वार्ता को लेकर अनिश्चितता की वजह से युआन को लेकर निवेशकों के भरोसे में कमजोरी आई है।पोल के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दुबारा सत्ता में वापसी की उम्मीद ने रुपये को मजबूती दी है, जिसकी वजह से इस साल अब तक शेयर बाजार में 5.99 अरब डॉलर की विदेशी पूंजी आ चुकी है।भारत में लोकसभा चुनाव सात चरणों में होगा, जिसकी शुरुआत 11 अप्रैल से होगी।12 प्रतिभागियों को लेकर हुए इस पोल के मुताबिक निवेशक लॉन्ग टर्म में रुपये पर बड़ा दांव लगा रहे हैं।निवेशकों ने इसके अलावा इंडोनेशियाई रुपिया पर भी अपने रुख को नरम किया है। वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी के संकेत और अमेरिकी फेडरल रिजर्व की तरफ से ब्याज दरों में इजाफा नहीं किए जाने का संकेत दिए जाने के बाद एशियाई देशों में ब्याज दरों में कटौती की संभावना बढ़ गई है।पिछले हफ्ते फिलीपीन सेंट्रल बैंक ने भी लगातार तीसरी बैठक में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया।निवेशकों ने रुपये के अलावा थाई भट और सिंगापुर डॉलर पर भी बुलिश रुख किया है, वहीं दक्षिण कोरियाई करेंसी और ताईवान डॉल पर बीयरिश नजरिया अख्तियार किया है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें